Cerca

Vatican News
निर्धनों को समर्पित दिवस हेतु ऑर्डर ऑफ माल्टा की सेवा निर्धनों को समर्पित दिवस पर ऑर्डर ऑफ माल्टा की सेवा 

निर्धनों को समर्पित दिवस पर सन्त पापा के साथ ऑर्डर ऑफ माल्टा

निर्धनों को समर्पित विश्व दिवस मनाने के लिये ऑर्डर ऑफ माल्टा कल्याणकारी संगठन ने विश्व के सब लोगों को आमंत्रित किया है। सन्त पापा फ्रांसिस द्वारा घोषित निर्धनों को समर्पित विश्व दिवस रविवार 19 नवम्बर को मनाया जा रहा है जिसकी स्थापना सन्त पापा फ्राँसिस ने 2016 में करुणा को समर्पित वर्ष के उपलक्ष्य में की थी।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 16 नवम्बर 2018 (रेई, वाटिकन रेडियो): सन्त पापा फ्रांसिस द्वारा घोषित निर्धनों को समर्पित विश्व दिवस मनाने के लिये ऑर्डर ऑफ माल्टा कल्याणकारी संगठन ने विश्व के सब लोगों को आमंत्रित किया है. सन्त पापा फ्रांसिस द्वारा घोषित निर्धनों को समर्पित विश्व दिवस रविवार 19 नवम्बर को मनाया जा रहा है जिसकी स्थापना सन्त पापा फ्राँसिस ने 2016 में करुणा को समर्पित वर्ष के उपलक्ष्य में की थी.

इस दिवस का स्मरण दिलाते हुए विगत रविवार को देवदूत प्रार्थना के अवसर पर सन्त पापा ने बताया था कि इस अवसर 19 नवम्बर को सन्त पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में एक “प्राथमिक चिकित्सा स्टेशन” भी लगाया जायेगा ताकि ज़रूरतमन्द लोगों का चिकित्सीय उपचार सम्भव हो सके.

ऑर्डर ऑफ माल्टा का योगदान

अनेकानेक संगठन निर्धनों को समर्पित दिवस मनाने के लिये 19 नवम्बर को सन्त पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में एकत्र हो रहे हैं. इनमें ऑर्डर ऑफ माल्टा प्रमुख है जिसका मिशन मानव प्रतिष्ठा को बरकरार रखना तथा ज़रूरतमन्दों की सेवा करना है. आर्डर ऑफ माल्टा के प्रिंस दोमनिक दे ला रॉकफोकोल मोन्टबेल ने कहा, “हममें से प्रत्येक निर्धनों, रोगियो एवं हाशिये पर जीवन यापन करने वालों की मदद कर निर्धनों को समर्पित विश्व का समारोह मना सकते हैं.”

ग़ौरतलब है कि आर्डर ऑफ लाल्टा संगठन विगत 900 वर्षों से ज़रूरतमन्दों के पक्ष में काम करता आया है. ऑर्डर ऑफ माल्टा के प्रिंस दोमनिक दे ला रॉकफोकोल मोन्टबेल ने कहा, "विश्व के निर्धनों तक पहुँचना हमारा मिशन है."

उन्होंने कहा, “आत्म-केंद्रित और स्वार्थ से भरे विश्व में जहाँ निर्धन प्रायः उपेक्षित हैं तथा जिन्हें बेकार मान लिया जाता है हम सद्भावना से परिपूर्ण समस्त पुरुषों और महिलाओं को आमंत्रित करते हैं कि वे निर्धनों को समर्पित द्वितीय विश्व दिवस हेतु प्रकाशित सन्त पापा फ्राँसिस के सन्देश को पढ़ें जिसमें सन्त पापा निर्धनों में येसु को पहचानें, उनका सम्मान करने तथा अन्यों से पहले उनकी ेवा का आह्वान करते हैं. "

येसु के सुसमाचार का वरण करें

प्रिंस दोमनिक ने बताया कि आर्डर ऑफ माल्टा ने 19 नवम्बर के लिये सम्पूर्ण विश्व में अनेकानेक पहलों एवं समारोहों का आयोजन किया है जिससे निर्धनों एवं ज़रूरतमन्दों के प्रति हमारा ध्यान आकर्षित हो सके. उन्होंने कहा प्रभु येसु के उस सन्देश को याद करना ज़रूरी है जिसमें प्रभु कहते हैं, “मैं भूखा था और तुमने मुझे खिलाया, मैं प्यासा था और तुमने मेरी प्यास बुझायी, मैं अजनबी था और मने मेरा स्वागत किया, मैं नंगा था और तुमने मुझे कपड़े पहनाये, मैं रोगी था और तुम मेरी भेंट करने आये, मैं क़ैदी था और तुम मुझसे मिलने आये. "

16 November 2018, 11:41