बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
युवाओं के साथ संत पापा युवाओं के साथ संत पापा  (AFP or licensors)

धर्माध्यक्षीय धर्मसभा द्वारा युवाओं को नया संदेश

29 वर्षीय भिन्सेंट पौल ननेजी सिनॉड में भाग ले रहे हैं जो नाइजीरिया काथलिक युवा संगठन के प्रतिनिधि हैं। उन्होंने बतलाया कि उन्हें क्या नया संदेश मिला है और नाइजीरिया के युवा कलीसिया को क्या देना चाहते हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 13 अक्तूबर 2018 (रेई)˸ नाइजीरिया के भिन्सेंट पौल ननेजी एक ऑडिटर हैं जो इन दिनों सिनॉड में भाग ले रहे हैं। इससे पहले भी वे मार्च महीने में सिनॉड की तैयारी हेतु सभा में भाग ले चुके हैं। उन्होंने वाटिकन न्यूज के पत्रकार डेविन वातकिन्स को बतलाया कि उन्हें सिनॉड में नया संदेश मिला है तथा नाइजीरिया के युवा कलीसिया को क्या योगदान दे सकते हैं। 

भिन्सेन्ट ने कहा कि उन्होंने जो नया संदेश पाया है वह है "सुनने की क्रिया"। नाइजीरिया के युवाओं को बोलना और सुना जाना है क्योंकि बुजूर्ग झूठ नहीं बोलते हैं। उन्होंने कहा कि धर्माध्यक्षों ने स्वीकार किया है कि नहीं सुनने के द्वारा उन्होंने गलती की है। अब वे सुनने के लिए तैयार हैं जो नाईजीरिया के लिए यह बड़ा संदेश है। इसका अर्थ यह है कि हम अपने विचारों को रख सकते हैं।

नाइजीरिया को नेताओं की आवश्यकता

भिन्सेंट का कहना है कि नाईजीरिया में कमजोर राजनीतिक एवं सामाजिक नेतृत्व के कारण युवा, कलीसिया की ओर ताक रहे हैं ताकि वे अपने अंदर के खालीपन को भर सकें। उन्होंने कहा, "यह एक पुकार है जिसको सुनने में पीढ़ी दर पीढ़ी विलम्ब किया गया है और हम विश्व तथा नाइजीरिया से इन चीजों की आशा करते हुए थक चुके हैं अतः हम कलीसिया से आस लगाये हुए हैं कि वह अपना कदम आगे बढ़ाये और कम के कम शिक्षा एवं सुरक्षा जैसी मौलिक चीजें हमें प्रदान करे, जिसकी हमें अति आवश्यकता है।  

युवा कलीसिया को क्या दे सकता है

भिन्सेंट ने कहा कि वे तथा उनके युवा साथी, सहयोग करने की तत्परता बढ़ाने तथा कलीसिया के लिए दृढ़ विश्वास उत्पन्न करने के द्वारा कलीसिया को योगदान दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि उनके कई मित्र आतंकी हमलों में मार डाले गये। जिन्हें उन्होंने मरते देखा किन्तु कुछ नहीं कर सके। उन्होंने कहा कि वे अपने साथ उत्साह, जोश तथा दुर्बलों एवं गरीबों की आवाजों को लेकर जा रहे हैं। वे उन लोगों के लिए आशा लेकर जा रहे हैं जो अब भी कलीसिया पर विश्वास करते तथा एक बेहतर समाज की आशा करते हैं।

युवाओं के लिए चुनौती

भिन्सेंट ने विश्वभर के युवा मित्रों को चुनौती देते हुए कहा, "हमारे स्थान का दौरा करके देखिए, यह जीने के लिए कम अच्छा नहीं है। यह परम्पराओं एवं रंगीन संस्कृतियों से भरा है जिसको सीखा जा सकता है और उसे अपने लिए भी अपनाया जा सकता है। हम नाइजीरिया में आतिथि सत्कार करते हैं। हम मिलनसार एवं प्रेमी हैं।"

13 October 2018, 14:53