Cerca

Vatican News
प्रधान मंत्री कॉन्ते सन्त इजिदियो समुदाय के सदस्यों के साथ प्रधान मंत्री कॉन्ते सन्त इजिदियो समुदाय के सदस्यों के साथ  (ANSA)

इटली के धर्माध्यक्षों की अपील में जुड़ा सन्त इजिदियो समुदाय

सन्त इजिदियो समुदाय ने कहा कि इताली धर्माध्यक्षों की अपील के साथ संयुक्त होकर हम इस तथ्य की पुनरावृत्ति करते हैं कि दीन दुखियों, युद्ध, भुखमरी, मरुस्थलीकरण एवं प्रताड़ना के शिकार लोगों मदद हम सबका दायित्व होना चाहिये।

जूलयट जेनेविव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

रोम, शुक्रवार, 20 जुलाई 2018 (रेई, वाटिकन रेडियो): इसी बीच, रोम स्थित मानवाधिकार संगठन सन्त इजिदियो ने आप्रवासियों एवं शरणार्थियों के प्रति इताली काथलिक धर्माध्यक्षों की अपील के साथ संयुक्त होकर इसकी पुनरावृत्ति की है और कहा है कि कठिनाइयों में पड़े लोगों का स्वागत और एकीकरण कर मानवतावादी गलियारों को खुला रखना हमारी ज़िम्मेदारी होनी चाहिये।  

संगठन ने एक विज्ञप्ति प्रकाशित कर कहा कि भय के दायरे से बाहर निकल कर आप्रवासियों एवं शरणार्थियों का स्वागत किया जाना हमारा दायित्व होना चहिये। विज्ञप्ति में कहा गया कि इताली धर्माध्यक्षों की अपील के साथ संयुक्त होकर हम इस तथ्य की पुनरावृत्ति करते हैं कि दीन दुखियों, युद्ध, भुखमरी, मरुस्थलीकरण एवं प्रताड़ना के शिकार लोगों मदद की जाना हम सबका दायित्व होना चाहिये।

सन्त पापा फ्राँसिस की शिक्षा

विज्ञप्ति में कहा गया कि सन्त पापा फ्राँसिस ने अपने परमाध्यक्षीय काल के प्रारम्भ से हमें यही शिक्षा दी है जिन्होंने अपनी प्रथम प्रेरितिक यात्रा आप्रवासियों के शहर लामपेदूसा में की थी। संगठन ने कहा, "उसी क्षण से इटली में कई काथलिक संगठनों एवं कल्याणकारी संस्थाओं ने उस संस्कृति के वरण की कोशिश की है जो कठिनाई में पड़े लोगों को सुरक्षा देने में सक्षम है और जिसका ज़िक्र इटली के धर्माध्यक्षों ने अपनी अपील में किया है।"

इथियोपिया और लेबनान में सन्त इजिदियो

19 जुलाई को प्रकाशित विज्ञप्ति में संगठन ने कहा, "इताली धर्माध्यक्षों के साथ मिलकर इथियोपिया से तथा प्रॉटेस्टेण्ट कलीसियाओं के साथ मिलकर लेबनान से सन्त इजिदियो ने जो मानवतावादी गलियारों को खोला है वे इताली समाज के एक महत्वपूर्ण हिस्से के लिये स्वागत एवं भागीदारी का एक उदाहरण हो सकता है।"

20 July 2018, 10:44