Cerca

Vatican News
निकारागुआ में सरकार विरोधी प्रदर्शन निकारागुआ में सरकार विरोधी प्रदर्शन   (ANSA)

निकारगुआ:कार्डिनल, प्रेरितिक राजदूत और धर्माध्यक्ष पर अर्धसैनिको

निकारागुआ में काथलिक कलीसिया ने स्थानीय कलीसिया के तीन प्रमुख अधिकारियों पर सरकारी अर्धसैनिकों के हमले की दृढ़ निंदा की है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

 निकारगुआ में मानागुआ धर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल लेओपोल्ड ब्रेनेस, मध्य अमेरिकी देशों के प्रेरितिक राजदूत महाधर्माध्यक्ष वाल्डेमार स्तानिस्लाव सोम्मेरटाग और मानागुआ के सहायक धर्माध्यक्ष जोस सिलवियो बेज़ की सोमवार को समर्थक सरकारी अर्धसैनिकों द्वारा झड़प हो गई थी।

धर्माध्यक्ष घायल

झड़प में अर्धसैनिकों धर्माध्यक्ष सिलवियो जोस बेज के पेट में मुक्का मारा और उसके क्रूस को छीन लिया। उसकी बांह पर चोट लगी थी। धर्माध्यक्षों के साथ गये पुरोहितों में से एक का मोबाइल छीन लिया, जबकि कुछ पत्रकारों को भी पंच मिला और उनके उपकरणों की भी चोरी हो गई। निकारागुआ के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन द्वारा प्रेषित एक संदेश में इस हिंसा की निंदा की गई और इस बात को दोहराया गया कि धर्माध्यक्ष राष्ट्र के पीड़ित लोगों के पक्ष में खड़े थे।

समय से पहले कोई चुनाव नहीं

सरकार द्वारा अप्रैल के मध्य में सामाजिक सुरक्षा में कटौती की घोषणा के बाद निकारागुआ में तनाव बढ़ रहा है। परिवर्तनों को जल्दी से समाप्त दिया गया था लेकिन राष्ट्रपति डैनियल ओर्टेगा को अपना पद त्यागने के लिए सड़क पर उतरे विरोध प्रदर्शन जारी थे। हिंसा में 250 से ज्यादा लोग मारे गए हैं।

शनिवार को, राष्ट्रपति ओर्टेगा ने घोषणा की कि वह 2021 के लिए निर्धारित चुनावों को आगे नहीं बढ़ाएंगे। चुनाव की तारीख आगे बढ़ाना निकारागुआ काथलिक धर्माध्यक्षों द्वारा सरकार और विपक्ष के बीच मध्यस्थों के रूप में उनकी भूमिका में किए गए अनुरोधों में से एक था।

11 July 2018, 17:14