खोज

सेवानिवृत्त सन्त पापा बेनेडिक्ट 16 वें सेवानिवृत्त सन्त पापा बेनेडिक्ट 16 वें   (AFP or licensors)

बेनेडिक्ट सोलहवें और ओडिफ्रेडी के बीच संवाद पर पुस्तक

रोम में सन्त पापा बेनेडिक्ट 16 वें एवं गणितज्ञ पियरजोर्जो ओडिफ्रेडी के बीच हुए पत्राचार तथा सम्वाद पर एक पुस्तक प्रकाशित हुई है। इसमें सन्त पापा बेनेडिक्ट के परमाध्यक्षीय पदत्याग से लेकर 2020 तक सन्त पापा एवं ईश्वर में विश्वास नहीं करनेवाले गणितज्ञ ओडिफ्रेडी के बीच हुए पत्राचार तथा सम्वादों को संकलित किया गया है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

रोम, शुक्रवार, 7 अक्तूबर 2022 (रेई, वाटिकन रेडियो): रोम में सन्त पापा बेनेडिक्ट 16 वें एवं गणितज्ञ पियरजोर्जो ओडिफ्रेडी के बीच हुए पत्राचार तथा सम्वाद पर एक पुस्तक प्रकाशित हुई है। इसमें सन्त पापा बेनेडिक्ट के परमाध्यक्षीय पदत्याग से लेकर अर्थात् 2013 से 2020 तक सन्त पापा एवं ईश्वर में विश्वास नहीं करनेवाले गणितज्ञ ओडिफ्रेडी के बीच हुए पत्राचार तथा सम्वादों को संकलित किया गया है।  

"सत्य की तलाश में यात्रा"

सेवानिवृत्त सन्त पापा बेनेडिक्ट 16 वें पुस्तक में लिखते हैं कि वे "ईश्वर और येसु के बारे में उनकी उत्कंठा से खुश हैं।"

इटली के प्रकाशन केन्द्र रिज़ोली द्वारा प्रकाशित तथा गुरुवार दोपहर रोम के लुमसा विश्वविद्यालय में प्रस्तुत की गई पुस्तक, विश्वास, विज्ञान, नैतिकता और मानव विज्ञान की एक तीर्थयात्रा है। यह इस बात का प्रमाण है कि विभिन्न विचारों एवं मतों के बीच संवाद कैसे संभव है।

वाटिकन न्यूज़ से बातचीत में वाटिकन रेडियो पूर्व महानिदेशक, वाटिकन प्रेस के पूर्व प्रवक्ता तथा राटसिंगर न्यास के वर्तमान अध्यक्ष फादर फेदरीको लोमबारदी ने कहा कि यह अत्यधिक महत्वपूर्ण और अर्थपूर्ण है कि सन्त पापा बेनेडिक्ट 16 वें ने परमाध्यक्षीय पद का परित्याग करने के उपरान्त सम्वाद हेतु प्राध्यापक ओडिफ्रेडी के निवेदन को स्वीकार किया। उन्होंने कहा कि सन्त पापा बेनेडिक्ट के पास चिन्तन और सोच विचार के लिये समय था और इसीलिये उन्होंने ओडिफ्रेडी के आग्रह पर गम्भीरता से विचार किया।

फादर लोमबारदी ने कहा कि उक्त सम्वाद इस बात का संकेत है कि सन्त पापा बेनेडिक्ट 16 वें का ध्यान सदैव, "विश्वास, तर्कणा और विज्ञान के बीच संवाद पर लगा रहा है तथा इन विषयों पर वे किसी भी मदद के लिये तत्पर रहे हैं। साथ ही इन गूढ़ विषयों पर उनका रवैया आरम्भ से ही बहुत उदार रहा है।"  

बेनेडिक्ट 16 वें एवं ओडिफ्रेडी की मैत्री

2011 में ओडिफ्रेडी ने बेनेडिक्ट XVI को "ईसाई धर्म का परिचय" शीर्षक से सन्त पापा बेनेडिक्ट 16 वें द्वारा लिखी पुस्तक पर एक खुला पत्र लिखा था, जिसे जोसेफ राटसिंगर 1968 में एक ईशशास्त्री के रूप में लिखा था। 2013 तक दोनों के बीच कोई बातचीत नहीं हुई किन्तु परमाध्यक्षीय पद त्यागने के उपरान्त ख़ुद सन्त पापा बेनेडिक्ट ने ओडिप्रेडी को सम्वाद के लिये आमंत्रित किया।  

ओडिफ्रेडी के साथ सम्बन्ध पर जीवन सम्बन्धी परमधर्मपीठीय अकादमी के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष विन्चेन्सो पालिया लिखते हैं, यह "एक खूबसूरत दोस्ती" है जो दो अलग-अलग स्थितियों के बीच "एक दुर्लभ आयाम" है जिसमें "संवाद होता है और कोई झगड़ा नहीं होता", जहां "विचार मिलते हैं और प्रतिद्वंद्वी सामनेवाले का खण्डन नहीं करता"।  

गणितज्ञ पियर जोर्जो लिखते हैं, "मेरा मानना ​​​​है कि यह सबके लिये एक शिक्षा हो सकती है", कि यदि एक पोप और नास्तिक भी आसानी से मैत्रीपूर्ण तरीके से बात करने में सफल होते हैं, तो इसका मतलब है कि जीवन में किसी भी व्यक्ति द्वारा ऐसा व्यवहार सम्भव है।"

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

07 October 2022, 11:47