खोज

आमदर्शन समारोह में लोगों के साथ संत पापा फ्राँसिस आमदर्शन समारोह में लोगों के साथ संत पापा फ्राँसिस  (AFP or licensors)

कार्डिनल फार्रेल ˸ पोप सभी परिवारों का आलिंगन करना चाहते हैं

परिवारों की 10वीं विश्वसभा जो रोम में इस सप्ताह शुरू होनेवाली है उसके पूर्व, लोकधर्मी, परिवार और जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय परिषद के अध्यक्ष कार्डिनल केविन फार्रेल ने एक साक्षात्कार में कहा कि संत पापा फ्राँसिस चाहते हैं कि यह विश्व दिवस सभी स्थानीय कलीसियाओं में मनाया जाए तथा उन्होंने उन विवाहित पवित्र दम्पतियों की ओर इंगित किया है जो संत घोषित किये जा चुके हैं। परिवारों के लिए 10वाँ विश्व दिवस 22 से 26 जून को रोम में मनाया जाएगा।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

रोम में परिवारों के लिए 10वें विश्व दिवस सप्ताह के साथ संत पापा चाहते हैं कि सभी परिवारों का आलिंगन करें और उनके साथ रहें, यही कारण है कि उन्होंने धर्मप्रांतीय स्तर पर इसे मनाने का निमंत्रण दिया है ताकि स्थानीय परिवार भी इसमें भाग ले सकें।

वाटिकन रेडियो के साथ एक साक्षात्कार में लोकधर्मी, परिवार एंव जीवन के लिए गठित परमधर्मपीठीय परिषद के अध्यक्ष कार्डिनल केविन फर्रेल ने, न केवल सभा के लिए अपनी उम्मीदों को साझा किया है बल्कि उन्होंने उस बात पर भी प्रकाश डाला कि कोविड-19 महामारी ने किस तरह परिवारों को प्रभावित किया।  

उन्होंने उन विवाहित दम्पतियों की ओर भी ध्यान खींचा है जो संत बन गये हैं तथा हाल में जारी दस्तावेज के आधार पर अपनी आशा व्यक्त की है कि यह विवाह की तैयारी कर रहे दम्पतियों की मदद करेगा, साथ ही साथ उनके वैवाहिक जीवन एवं पारिवारिक जीवन को जीने में सहयोग देगा।

कार्डिनल केविन फार्रेल के साथ पूरा साक्षात्कार ˸

सवाल- जब हम परिवारों की विश्वसभा जिसको महामारी के कारण स्थगित करना पड़ा था अब उसके अति निकट पहुँच चुके हैं आपकी क्या उम्मीदें हैं?

मैं मानता हूँ कि महामारी ने हर स्तर पर कलीसिया के प्रेरितिक जीवन को प्रभावित किया है और दो साल के लिए यह असम्भव था कि लोग जमा हो सकें। हमारे गिरजाघरों में प्रार्थना सभा, सम्मेलन आदि का आयोजन करना संभव नहीं था...इसलिए यह मेरी आशा है कि परिवारों की विश्व सभा जो रोम में होनेवाली है वह कलीसिया में विटामिन के इंजेक्शन के समान होगा।

अतीत में हमने कई परिवारों को आमंत्रित किया। हम जानते हैं कि कई परिवार इस समय यात्रा नहीं कर पायेंगे और खासकर, छोटे बच्चे, डर के कारण ...और इसलिए हमने विश्व के सभी धर्मप्रातों से प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया है। हरेक महादेश के प्रतिनिधि भी उपस्थित होंगे, वे विभिन्न धर्मप्रांतों, कलीसियाओं, पल्लियों, लोकधर्मी आंदोलनों, संगठनों में पारिवारिक जीवन की प्रेरिताई के लिए जिम्मेदार है और जो विवाह एवं पारिवारिक जीवन के क्षेत्र में कार्यरत हैं। और इसलिए, यह हमारी आशा है कि हम इस परिवर्तन के महत्व की एक नई भावना को शामिल करें, कलीसिया के भीतर काम करने के तरीके में, शादी और पारिवारिक जीवन की तैयारी में।

सवाल ˸ लोकधर्मी, परिवार और जीवन के लिए गठित परिषद के अध्यक्ष के रूप में अपनी भूमिका में किस तरह महामारी ने परिवारों की भूमिका एवं इस सभा के प्रकृति को बदला है?  

हमारे परिषद के कार्य एवं कलीसिया के कार्य में महामारी ने अद्भुत प्रभाव डाला है। दो साल तक हम जूम (ऑनलाईन) में ही बात करते थे किन्तु मेरे अनुसार यह लोगों के साथ सीधे व्यक्तिगत सम्पर्क से अलग है। जूम एक तरफा या दो तरफा होता है, लेकिन यह एक विशेष बिंदु के आसपास विचारों का अभिसरण नहीं है। लेकिन मुझे उम्मीद है कि अब यह दुनिया के कई हिस्सों में हमसे आगे निकल चुका है, भले ही पूरी तरह से नहीं।

मैं उम्मीद करता हूँ कि कलीसिया फिर से पारिवारिक जीवन के सवाल को उठायेगी जैसा कि संत पापा फ्राँसिस हमेशा कहा करते हैं। इस समय कलीसिया की मुख्य विषयवस्तु है ˸ विवाह और पारिवारिक जीवन। इसी पर हमारा ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए। हम ठीक वैसा ही कर रहे हैं जैसा कि संत पापा ने हमसे अनुरोध किया है, उनमें नया जीवन भरने के लिए।

हमने संत दम्पतियों की किताब प्रकाशित की है जो कलीसिया में धन्य घोषित हुए हैं अथवा संत हैं जो प्रमाणित करता कि वैवाहिक जीवन में भी संत हैं जिसको सभी लोग भूल जाते हैं। हमने संत पापाओं, धर्माध्यक्षों, शहीदों और कई अन्य लोगों ...दो विवाहित दम्पतियों की याद की है जो कलीसिया में दम्पति के रूप में संत और धन्य घोषित किये गये हैं। मैं सोचता हूँ कि यह महत्वपूर्ण है।    

दूसरा बिन्दू है कि हमने विवाह के लिए तैयारी कर रहे जोड़े एवं विवाह के बाद परिवारों के लिए धर्मशिक्षा के रास्ते पर दिशानिर्देश जारी किया है। मैं इसे पारिवारिक जीवन की प्रेरिताई में संलग्न धर्माध्यक्षों, पुरोहितों एवं संचालकों के 'वादेमेकुम' (साथ चलनेवाला) कह सकता हूँ।

हम किस तरह दम्पतियों को साथ दे सकते हैं ˸ कई लोग पहले चरण में छलांग लगाते हैं और पहले चरण में ऐसे दम्पतियों की खोज करना है जो दूसरे दम्पतियों का साथ दे सकें। आपको उन दम्पतियों को पहचानना होगा जो शिक्षा दे सकते हैं, सुधार सकते हैं और दूसरे लोगों की अगुवाई कर सकते हैं। सभी में ये गुँण नहीं होते। आपको ऐसे लोगों को चुनना होगा जो अपने कार्यों में निपुण हों। यह एक महत्वपूर्ण बिन्दु है।

सवाल ˸ परिवारों की विश्व सभा के साथ, ये दिशानिर्देश भी हैं, क्या आप चाहेंगे कि उन्हें धर्मप्रांतों में लागू किया जाए और दम्पतियों एवं परिवारों की मदद हेतु उनपर ठोस रूप से अमल किया जाए?

हम आशा करते हैं कि उन्हें विभिन्न देशों में लागू किया जाएगा। आपको याद रखना चाहिए कि ये विश्वव्यापी कलीसिया के लिए दिया गया दिशानिर्देश है, किन्तु इसे ठोस रूप से लागू किया जाना वहाँ की संस्कृति, भाषा पर निर्भर करेगा। यह संभव नहीं है कि इस दिशानिर्देश को लेकर सभी परिस्थितियों में एक ही तरह अक्षरशः लागू किया जाए। यह संभव नहीं है।   

प्रश्न: इस वर्ष की बैठक में उन परिवारों को किस प्रकार याद किया जाएगा, जहां शायद उनके क्षेत्र में या उनके जीवन में, धार्मिक अत्याचार एक समस्या रही है और जो परिवार सामान्य रूप से संघर्ष कर रहे हैं?

इस सभा में उन सभी विषयों को ध्यान में रखा जाएगा जिसका जिक्र आपने किया है। उदाहरण के लिए, हम जानते हैं कि जब संत पापा परिवारों के उत्सव के दौरान उनका अभिवादन करेंगे तो वहाँ यूक्रेन के दम्पति भी होंगे, वहाँ विश्व के उन देशों के दम्पति होंगे जहाँ धार्मिक अत्याचार हो रहे हैं, जो हिंसा और युद्ध के बीच जी रहे हैं।   

परिवारों की पीड़ा को देखते हुए कौन अनदेखा कर सकता है, जहाँ माताएँ अपने बच्चों के साथ अनजान देशों की ओर जा रहे हैं जबकि पिता यूक्रेन में युद्ध का सामना कर रहे हैं। परिवारों के सदस्य नहीं रह गये हैं, युवा माताओं को दो बच्चों के साथ देखना...

उनका स्वागत करनेवाले देशों ने जो किया है उनकी हम कई तरह से सराहना करते हैं। किन्तु वहाँ रहना अपने घर में होने के समान नहीं है। जब आपका पूरा जीवन बाधित है आपके पास कुछ नहीं है। लोग अपने घर से बहुत कम समान लेकर भाग सके हैं, शायद उनके पास सिर्फ एक छोटा बैग रह गया है। यह हृदय को चीर देने के समान है। कलीसिया दुनिया की वास्तविकता को अनदेखा नहीं कर सकती। विश्व के कई हिस्सों से परिवार ऑनलाईन जुड़े होंगे।  

प्रश्‍न : आप इस सभा में किन मुख्‍य बातों पर प्रकाश डाले जाने की उम्‍मीद करते हैं? तथ्य यह है कि विश्व बैठक रोम में हो रही है - महत्वपूर्ण है?

यह पोप के कारण महत्वपूर्ण है। संत पापा फ्राँसिस को लोग पसंद करते हैं। वे हमारे लिए सबसे बड़े आकर्षण के केंद्र हैं। चाहे वह कोई भी समाचार पत्र हो, कोई भी धार्मिक समुदाय अथवा संगठन सभी संत पापा फ्राँसिस को चाहते हैं। मैं सोचता हूँ कि जब वे परिवारों एवं विवाहित दम्पतियों को सीधे सम्बोधित करेंगे, तो वे सुनेंगे। मेरी सबसे बड़ी उम्मीद यह है कि इसे पूरी दुनिया में प्रसारित किया जाएगा। हमें आशा है कि ऐसा किया जा सकेगा।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

21 June 2022, 17:02