खोज

Vatican News
आमदर्शन समारोह में लोगों के साथ संत पापा फ्राँसिस आमदर्शन समारोह में लोगों के साथ संत पापा फ्राँसिस  (AFP or licensors)

कार्डिनल परोलिन ˸ विश्व को महिला नेतृत्व एवं कौशल की जरूरत

वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन ने संत पापा फ्रांसिस की ओर से जी 20 इटली महिला मंच के प्रतिभागियों को एक वीडियो संदेश भेजा। सम्मेलन की विषयवस्तु है "सभी के लिए एक शी-कभरी, एक नए समावेशी नेतृत्व के उद्देश्य के साथ एकजुट होने की शक्ति"।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 19 अक्तूबर 2021 (वीएनएस)- संत पापा फ्रांसिस की ओर से सोमवार को जारी वीडियो संदेश में बोलते हुए कार्डिनल परोलिन ने जी 20 इटली के महिला मंच का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि आज की चुनौतियों के सामने, विश्व को महिला साझेदारी, नेतृत्व और कौशल की आवश्यकता है। प्रतिभागी दो दिवसीय सभा में भाग लेने के लिए मिलान में एकत्रित हैं जिसकी विषयवस्तु है, "सभी के लिए एक शी-कभरी, एक नए समावेशी नेतृत्व के उद्देश्य के साथ एकजुट होने की शक्ति"। इसका उद्देश्य है महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका के प्रति जागरूकता तथा सामाजिक एवं आर्थिक सुधार के प्रयास में सकारात्मक प्रभाव लाना।   

कार्डिनल परोलिन ने स्वीकार किया कि महामारी के कारण विश्व एक बड़ी चुनौती का सामना कर रहा है और उनमें से सबसे अधिक प्रभावित लोगों के सुधार एवं मदद हेतु बहुत अधिक प्रयास की जरूरत है। उन्होंने याद किया संत पापा फ्राँसिस ने "एक ऐसे विश्व के निर्माण में जो सभी का घर हो महिलाओं के अचल सहयोग को रेखांकित किया है" खासकर, इस बात के लिए कि वे किस तरह "ठोस हैं और शांत धैर्य के साथ जीवन के धागों को बुनना जानते हैं।" आज के वैश्विक सामाजिक, आर्थिक और जलवायु चुनौतियोँ के सामने महिलाएँ एक "निःस्वास्थ" भावना को बढ़ावा देती हैं।

समाज के सभी सदस्यों की सहभागिता एवं सहयोग के महत्व को रेखांकित करते हुए कार्डिनल परोलिन ने कहा कि सभी लोग बेहतर विश्व के सक्रिय निर्माता बनने के आम बुलावे को स्वीकार करने के लिए बुलाये गये हैं। उन्होंने कहा कि मानवता को एक नवीकृत भावना एवं प्रगाढ़ प्रतिष्ठा की आवश्यकता है ताकि हरेक मानव व्यक्ति इन प्रयासों में लम्बे समय तक सहयोग दे सके।

अंत में कार्डिनल ने संत पापा फ्राँसिस के जोरदार प्रोत्साहन को याद किया कि हर बालिका एवं युवती गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर सके जिससे कि वे एकजुट समाज के विकास एवं प्रगति के लिए अपने आप को समर्पित कर सकेंगे।  

19 October 2021, 16:08