खोज

Vatican News
मोमबत्ती लिये प्रार्थनारत  देशभक्त चीनी काथलिक कलीसिया के सदस्य मोमबत्ती लिये प्रार्थनारत देशभक्त चीनी काथलिक कलीसिया के सदस्य  

चीनी काथलिकों के साक्ष्य की कार्डिनल पारोलीन ने की प्रशंसा

उत्तरी इटली के त्रेन्तो नगर स्थित ऑनलाईन समाचार पत्र "ला वोचे देल नोर्देस्त" के साथ बातचीत में वाटिकन राज्य के सचिव कार्डिनल पियेत्रो पारोलीन ने चीन के काथलिकों के दृढ़ विश्वास एवं साक्ष्य की सराहना की।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 13 अगस्त 2021 (रेई, वाटिकन रेडियो): उत्तरी इटली के त्रेन्तो नगर स्थित ऑनलाईन समाचार पत्र "ला वोचे देल नोर्देस्त" के साथ बातचीत में वाटिकन राज्य के सचिव कार्डिनल पियेत्रो पारोलीन ने चीन के काथलिकों के दृढ़ विश्वास एवं साक्ष्य की सराहना की। 

चीन: एक उभरता हुआ संवाद

चीन के साथ परमधर्मपीठ के सम्बन्धों के विषय में कार्डिनल पारोलीन ने 2018 में बैजिंग के साथ हस्ताक्षरित तथा 2020 में नवीकृत सन्धि का स्मरण दिलाया और कहा, "हम निरन्तर सम्वाद कर रहे हैं।"

उन्होंने कहा, "कोविद-19 महामारी के कारण बातचीत का सिलसिला थमा है, जिससे विचार-विमर्श और अधिक कठिन हो गया है।" तथापि, उन्होंने कहा, "हमारी आशा है कि बातचीत का सिलसिला शीघ्रातिशीघ्र पुनः आरम्भ हो सके ताकि जिन विषयों पर चर्चा शुरु हो चुकी है उनपर विचार किया जा सके, विशेष रूप से, चीन में काथलिक कलीसिया की स्थिति पर बातचीत हो सके।"

चीन के काथलिक

कार्डिनल पारोलीन ने प्रार्थना में चीन के काथलिकों के प्रति अपना सामीप्य व्यक्त किया तथा उनके अटूट विश्वास की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होंने कहा, "उनके द्वारा दिया साक्ष्य हमारे लिये गर्व का विषय है। हमारी आशा है कि वे सदैव अच्छे नागरिक और अच्छे काथलिक बने रहें तथा इस द्विपक्षीय आयाम को अपने जीवन में मूर्तरूप प्रदान कर सकें।"

पूर्व के प्रति उदारता

चीन के साथ समझौते पर हस्ताक्षर के उपरान्त सन्त पापा फ्राँसिस को कई अंचलों की कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा था। इस विषय में कार्डिनल पारोलीन ने कहा कि उसके लिये पश्चिमी जगत को सन्त पापा फ्राँसिस से माफी मांगनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि चीन के साथ समझौता कर सन्त पापा फ्राँसिस ने विश्व के लिये नवीन क्षितिजों को खोला है जिसकी सराहना की जानी चाहिये।

कार्डिनल महोदय ने कहा कि सन्त पापा फ्राँसिस सचमुच में एक रास्ता दिखा रहे हैं, जैसा कि उन्होंने अपने विश्व पत्र फ्रातेल्ली तूती में भी किया है। उन्होंने कहा कि सन्त पापा का यह रवैया कोविद-19 महामारी के बाद मानववजाति को उस दलदल में से निकाल सकता है जिसमें हमारा समाज फँसा है, ताकि एक नवीन और साथ ही बेहतर विश्व का निर्माण किया जा सके।    

सन्त पापा का स्वास्थ्य

जुलाई माह के आरम्भ में रोम के जेमेल्ली अस्पताल में सन्त पापा फ्राँसिस पर सर्जरी के विषय में कार्डिनल पारोलीन ने कहा कि सन्त पापा धीरे-धीरे स्वस्थ हो रहे हैं, इसीलिये उन्होंने अपने साप्ताहिक आमदर्शन कार्यक्रम को पुनः शुरु कर दिया है और साथ ही हंगरी तथा स्लोवाकिया में सितम्बर माह के लिये निर्धारित प्रेरितिक यात्रा पर जाने की भी घोषणा कर दी है।    

13 August 2021, 11:03