खोज

Vatican News
कोविद-19 प्रतिरोधक वैक्सीन, पुणे की एक प्रयोग शाला में कोविद-19 प्रतिरोधक वैक्सीन, पुणे की एक प्रयोग शाला में  (REUTERS)

कोविद-19 वेक्सीन सबके लिये उपलभ्य रहे, महाधर्माध्यक्ष यूरकोविट्स

जिनिवा स्थित संयुक्त राष्ट्र संघ में परमधर्मपीठ के स्थायी पर्यवेक्षक, वाटिकन के वरिष्ठ महाधर्माध्यक्ष इवान यूरकोविट्स ने कोविद वेक्सीन को सबके लिये उपलभ्य बनाने की अपील की है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

जिनिवा, शुक्रवार, 11 दिसम्बर 2020 (रेई,वाटिकन रेडियो): जिनिवा स्थित संयुक्त राष्ट्र संघ में परमधर्मपीठ के स्थायी पर्यवेक्षक, वाटिकन के वरिष्ठ महाधर्माध्यक्ष इवान यूरकोविट्स ने कोविद वेक्सीन को सबके लिये उपलभ्य बनाने की अपील की है।

किसी को भी पीछे नहीं छोड़ा जाये

विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (डब्ल्यूआईपीओ) के पेटेंट पर 32 वीं स्थायी समिति के दौरान राष्ट्रों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित कर महाधर्माध्यक्ष ने कहा कि सभी के मानवाधिकारों की रक्षा करते हुए सभी के लिये कोविद-19 वेक्सीन उपलभ्य बनाने हेतु ठोस अन्तरराष्ट्रीय सहयोग एवं बहुपक्षीय प्रयासों की नितान्त आवश्यकता है।  

महाधर्माध्यक्ष यूरकोविट्स ने कहा, "सभी के लिए सस्ती दवाओं, चिकित्सीय उपकरणों, टीकों और  उपचार तक पहुंच संकट से उबरने के लिए सर्वोपरि है: किसी को भी पीछे नहीं छोड़ा जाना चाहिये।"

नैतिक उत्कंठा

वाटिकन के प्रतिनिधि महाधर्माध्यक्ष यूरकोविट्स ने इस तथ्य को उजागर किया कि महामारी का संकट नवीन चिकित्सीय जगत में नवीन पहलों की मांग करने के साथ-साथ सामाजिक एकात्मता की भी मांग करता है। इसके लिये, उन्होंने कहा, "विचारों का आदान-प्रदान, वैज्ञानिक ज्ञान के विनिमय तथा आवश्यकतानुसार, औषधियों के उत्पादन को बढ़ावा देने की नितान्त आवश्यकता है।" तथापि, उन्होंने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में यह ध्यान रखना होगा कि अध्ययनों एवं अनुसन्धानों में नैतिक मूल्यों का ह्रास न हो तथा मानवाधिकार का कदापि अतिक्रमण न हो।    

11 December 2020, 12:02