खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस और कार्डिनल संत पापा फ्राँसिस और कार्डिनल  (ANSA)

असामान्य कंसिस्ट्री के लिए नामित कार्डिनलों का आगमन

जैसा कि 13 नामित कार्डिनल शनिवार को कार्डिनल बनने की तैयारी करते हैं, कोविद -19 प्रतिबंध इस घटना को थोड़ा असामान्य बना दिया है, हालांकि यह अभूतपूर्व भी नहीं है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 28 नवम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस शनिवार 28 नवंबर को संत पेत्रुस महागिरजाघऱ में शाम 4 बजे एक धर्मविधि द्वारा कार्डिनल मंडल में 13 नए कार्डिनलों को शामिल करेंगे। इसकी घोषणा उन्होंने एक महीना पहले 25 अक्टूबर को कर दी थी।

यह खबर उन लोगों के लिए आश्चर्यजनक थी, जिन्हें कलीसिया और संत पेत्रुस के उत्तराधिकारी की सेवा में अपने स्वयं के रक्त को बहा देने के लिए चुना गया। भले ही वे दुनिया के सबसे दूर के क्षेत्रों में निवास करते हैं, वे रोम शहर के एक पल्ली से जुड़ जाते हैं जिस धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष संत पापा हैं। इसी वजह से उनके विशिष्ट पोशाक का रंग लाल है।

नये कार्डिनलों के नाम इस प्रकार हैः

माल्टा के महाधर्माध्यक्ष मारियो ग्रेच, इटली के धर्माध्यक्ष मारचेल्लो सेमेरारो, चिगाली रुवांडा के महाधर्माध्यक्ष अंतोनी कांबांडा, संयुक्त राज्य अमेरिका में वाशिंगटन के महाधर्माध्यक्ष विल्टन ग्रेगरी, फिलीपींस में कैपिज़ के महाधर्माध्यक्ष जोस फ़ुएर्ते एडविनकुला,  चिली में संत्यागो के महाधर्माध्यक्ष सेलेस्टीनो एओस ब्राको, ब्रुनेई के धर्माध्यक्ष कॉर्नेलियस सिम, इटली में सिएना के महाधर्माध्यक्ष ऑगस्टो पाओलो लोजुडिस, इटली असीसी के फ्रांसिस्कन साक्रो कॉन्वेंट के वर्तमान सुपीरियर माउरो गाम्बेत्ती

सान क्रिस्टोबाल डे लास कैसास (मैक्सिको) के सेवानिवृत महाधर्माध्यक्ष फेलिप एरीज़ेंडी एस्क्विवेल, इटली के महाधर्माध्यक्ष सिल्वानो तोमासी, इटली के कपुचिन फादर रानिएरो कांतालामेस्सा ऐर इटली के ही फादर एनरिको फेरोची।

कार्डिनलों का आगमन

विश्व के 5 महाद्वीपों से नामित कार्डिनल रोम में संत पापा फ्राँसिस के कर कमलों से अपनी लाल टोपी और कार्डिनल की अंगूठी प्राप्त करने के लिए आए हैं।

लेकिन उनमें से दो - ब्रुनेई के नामित कार्डिनल कॉर्नेलियस सिम और फिलीपींस के नामित कार्डिनल जोस फुर्ते आडिनुका रोम आने में असमर्थ हैं।

एशिया में कोविद-19 के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के कारण वे अपने देश से बाहर नहीं निकल पाये। लेकिन बाद की तारीख में वे अपनी विशिष्ट प्रतीक चिन्ह प्राप्त करेंगे। वे एक विशेष लाइवस्ट्रीम के माध्यम भी ऑनलाइन इस समारोह में भाग ले पायेंगे।

लाल टोपी और अंगूठी

कोविद के कारण भौतिक दूरी शनिवार के कार्डिनल धर्मविधि समारोह को असामान्य बनाती है। लेकिन अभूतपूर्व नहीं। फरवरी 2014 में, एक नामित कार्डिनल को उम्र और बीमार होने के कारण व्यक्तिगत रुप से समारोह में भाग नहीं लेने की एक विशेष छूट मिली थी।

कार्डिनल लोरिस फ्रांसेस्को कैपोविला को बाद में लाल रंग की टोपी दी गई और कार्डिनल मंडल के डीन ने उनकी उंगली पर अंगूठी पहनाई थी।

उपनगरों के कार्डिनल

इस 2020 की घटना की एक अन्य विषमता है कि संत पेत्रुस महागिरजाघऱ के समारोह में भाग लेने वालों की उपस्थिति सीमित है। धर्मविधि के बाद नए कार्डिनलों को बधाई देने की लंबे समय से चली आ रही रिवाज पर प्रतिबंध है।

इसलिए, नामित कार्डिनल जोस एडिनकुला ने समाचार सुनने के बाद कहा कि संत पापा फ्राँसिस के नए कार्डिनल उपनगरों के कार्डिनल हैं और उनमें से कुछ शारीरिक रूप से वहां उपस्थित नहीं हो सकते हैं ... कम से कम इस समय में।

कार्डिनल मंडल

28 नवंबर 2020 को नये कार्डिनलों के साथ कार्डिनल मंडल में 229 कार्डिनल होंगे, जिनमें से 128 कार्डिनल परमाध्यक्ष के चुनाव मतदाता हैं और 101 गैर-निर्वाचक हैं।

एक नया धर्मसंघीय परिवार, (फ्रांसिस्कन) फ्रायर्स माइनर मठ, असीसी के फ्रांसिस्कन साक्रो कॉन्वेंट के वर्तमान सुपीरियर माउरो गाम्बेत्ती कार्डिनल मंडल में प्रवेश करते हैं। इनके साथ, अब कार्डिनल मंडल में कुल मिलाकर 26 धर्मसंघीय परिवार के सदस्य मौजूद हैं और 51 धर्मसंघी कार्डिनल हैं, जिनमें से 29 मतदाता हैं और 22 गैर-निर्वाचक हैं।  कार्डिनल मंडल में प्रतिनिधित्व करने वाले नए देशों में ब्रुनेई (कार्डिनल कॉर्नेलियुस सिम), माल्टा (कार्डिनल मारियो ग्रेच) और रवांडा (कार्ड। एंटोनी कांबांडा) है।, कार्डिनल मंडल में अब कुल मिलाकर 90 देशों के कार्डिनल हैं।

28 November 2020, 13:53