खोज

Vatican News
अज़रबैजान एवं आरमेनिया के युद्ध का एक दृश्य अज़रबैजान एवं आरमेनिया के युद्ध का एक दृश्य  (AFP or licensors)

गुच्छेदार विस्फोटक सामान प्रतिबन्ध परिपाटी के अनुपालन का आह्वान

संयुक्त राष्ट्र संघ में परमधर्मपीठ के स्थायी पर्यवेक्षक महाधर्माध्यक्ष इवान यूरकोविट्स ने सदस्य देशों का आह्वान किया है कि वे गुच्छेदार विस्फोटक सामान प्रतिबन्ध परिपाटी के अनुपालन को विश्वव्यापी बनाने का हर सम्भव प्रयास करें।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

जिनिवा, शुक्रवार, 27 नवम्बर 2020 (रेई, वाटिकन रेडियो):  संयुक्त राष्ट्र संघ में परमधर्मपीठ के स्थायी पर्यवेक्षक महाधर्माध्यक्ष इवान यूरकोविट्स ने सदस्य देशों का आह्वान किया है कि वे गुच्छेदार विस्फोटक सामान प्रतिबन्ध परिपाटी के अनुपालन को विश्वव्यापी बनाने का हर सम्भव प्रयास करें।

गुच्छेदार विस्फोटकों पर प्रतिबन्ध ज़रूरी

गुच्छेदार विस्फोटक पदार्थों के मानवतावादी दुष्परिणामों एवं इनसे नागरिकों पर होनेवाली क्षति के मद्देनज़र 2008 में विश्व के लगभग 100 देशों ने गुच्छेदार विस्फोटक सामान प्रतिबन्ध परिपाटी पर हस्ताक्षर किये थे। सन् 2015 में दुब्रोवनिक में परिपाटी का प्रथम पुनरावलोकन सम्मेलन सम्पन्न हुआ था तथा इसमें 130 राष्ट्रों ने इसके अनुपालन का प्रण किया था।

महाधर्माध्यक्ष यूरकोविट्स ने कहा कि गुच्छेदार विस्फोटक पदार्थ अन्धाधुन्ध रूप से लोगों पर प्रहार करते हैं। उन्होंने कहा कि वे केवल लड़ाका दल अथवा सैन्य बल पर ही प्रहार नहीं करते अपितु निर्दोष नागरिकों को भी अपना शिकार बनाते हैं।

परिपाटी की सार्वभौमिकता ज़रूरी

कोविद-19 महामारी के चलते इस वर्ष द्वितीय पुनरावलोकन सम्मेलन विडियो एवं इन्टरनेट के माध्यम से 25 से 27 नवम्बर तक सम्पन्न हुआ। सम्मेलन में अपने विचार व्यक्त करते हुए वाटिकन के वरिष्ठ अधिकारी एवं संयुक्त राष्ट्र में परमधर्मपीठ के पर्यवेक्षक महाधर्माध्यक्ष यूरकोविट्स ने परिपाटी के वैश्वीकरण का मुद्दा रखा और कहा कि विश्व की सुरक्षा के लिये  गुच्छेदार विस्फोटक पदार्थों एवं अस्त्रों को सम्पूर्ण विश्व से ख़त्म करने का नितान्त आवश्यकता है।

महाधर्माध्यक्ष ने कहा, "हम जितना अधिक परिपाटी की सार्वभौमिकता और निरस्त्रीकरण के प्रयासों में निवेश करेंगे, उतना ही कम हमें मानवतावादी एवं लोकोपकारी सहायता पर खर्च करने की आवश्यकता पड़ेगी"।        

27 November 2020, 11:34