खोज

Vatican News
परमधर्मपीठीय परिषद एवं कलीसियाओं की  विश्व समिति के  कोविद-19 दस्तावेज़  का मुखपृष्ठ परमधर्मपीठीय परिषद एवं कलीसियाओं की विश्व समिति के कोविद-19 दस्तावेज़ का मुखपृष्ठ 

कोविद-19 से संघर्षरत विश्व के प्रति अन्तरधार्मिक एकात्मता

वाटिकन स्थित परमधर्मपीठीय अन्तरधर्म सम्वाद परिषद तथा जिनिवा स्थित कलीसियाओं की विश्व समिति ने विश्व के समस्त ख्रीस्तीय धर्मानुयायियों का आह्वान किया है कि वे "कोविद -19 महामारी से पीड़ित विश्व में पारस्परिक एकजुटता के महत्व" पर चिन्तन करें।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 28 अगस्त 2020 (वाटिकन न्यूज़): वाटिकन स्थित अन्तरधार्मिक वार्ता सम्बन्धी परमधर्मपीठीय परिषद तथा जिनिवा स्थित कलीसियाओं की विश्व समिति ने विश्व के समस्त ख्रीस्तीय धर्मानुयायियों का आह्वान किया है कि वे "कोविद -19 महामारी से पीड़ित विश्व में पारस्परिक एकजुटता के महत्व" पर चिन्तन करें।  

संयुक्त वकतव्य  

वाटिकन की उक्त परिषद तथा कलीसियाओं की विश्व समिति ने गुरुवार को एक संयुक्त दस्तावेज़  जारी कर महामारी से जूझ रहे विश्व में एकात्मता के महत्व पर चिन्तन का आग्रह किया। "घायल विश्व की सेवा में अन्तरधार्मिक एकात्मता", शीर्षक से जारी दस्तावेज़ में कलीसियाई समुदायों एवं ख्रीस्तीय लोकोपकारी संगठनों से एकजुटता एवं एकात्मता के महत्व पर ध्यान केन्द्रित करने का आग्रह किया गया है।

अन्तरधार्मिक रिश्ते

दस्तावेज़ ख्रीस्तीयों को सम्बोधित है, तथापि, इसमें सभी धर्मों के लोगों से अपील की गई है कि वे अपनी-अपनी धार्मिक परम्पराओं के अनुकूल पीड़ितों की सहायता को आगे आयें। कहा गया कि "चूँकि पारस्परिक संबंध एकजुटता की अभिव्यक्ति का एक शक्तिशाली साधन हो सकता है, और अपनी सीमाओं से परे संसाधनों को अन्यों में बाँटने के लिये प्रेरणा प्रदान करता है, हम ख्रीस्तीय मिलकर इस तथ्य पर चिन्तन करें कि हम किस प्रकार विश्वास और सद्भावनापूर्वक अन्य धर्मों के लोगों एवं शुभचिन्तकों के साथ मिलकर एकजुटता को साकार कर सकते हैं।"

त्रियेक ईश्वर में विश्वास

दस्तावेज़ में इस तथ्य को रेखांकित किया गया कि वाटिकन की उक्त परिषद तथा कलीसियाओं की विश्व समिति अन्तरधार्मिक एकात्मता हेतु पिता, पुत्र और पवित्रआत्मा में विश्वास को अपना आधार मानती हैं। दस्तावेज़ स्वीकार करता है कि सभी मानव प्राणी एक ही परिवार के सदस्य हैं, जिसकी रचना पिता ईश्वर की योजानुसार हुई है;  और यह कि "हमारा विश्वास और हमारी आशा येसु मसीह हैं"; तथा यह कि हम सब "पवित्र आत्मा के सामर्थ्य से एक दूसरे के साथ जुड़े हुए हैं।"

परस्पर प्रेम

दस्तावेज़ के प्राक्कथन में परमधर्मपीठीय अन्तरधर्म सम्वाद परिषद के अध्यक्ष कार्डिनल मिगेल आन्जेल ग्वीक्सो इस तथ्य के प्रति ध्यान आकर्षित कराते हैं कि कोविद-19 महामारी ने "हमारे विश्व की पीड़ा और संवेदनशीलता को उजागर किया है, परिणामस्वरूप, हमारी प्रतिक्रियाओं को एक समावेशी एकजुटता में पेश किया जाना चाहिए, जो अन्य धार्मिक परंपराओं के लोगों एवं सभी शुभचिन्तकों के प्रति उदार रहे क्योंकि यह महामारी सम्पूर्ण मानव परिवार के लिये चिंता का विषय है।"

28 August 2020, 11:27