खोज

Vatican News
वाटिकन सिटी वाटिकन सिटी  (ANSA)

इटली सरकार एवं वाटिकन, कोरोना वायरस रोकने में एक साथ

वाटिकन के अधिकारी, इटली की कलीसिया के साथ मिलकर, कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु लिए गये उपायों को अपनाने में नागरिक अधिकारियों के साथ सहयोग कर रहे हैं।

उषा मनोरम ातिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 10 मार्च 2020 (रेई)˸ रविवार को वाटिकन प्रेस कार्यालय के निदेशक मात्तेओ ब्रुनी ने एक बयान में बतलाया कि इटली के अधिकारियों द्वारा जारी उपायों के साथ सहयोग करने के लिए वाटिकन द्वारा कौन-कौन से कदम उठाये गये हैं ताकि कोविड -19 को फैलने से रोका जा सके। 

वाटिकन संग्रहालय बंद करने की घोषणा

इन कदमों के तहत, वाटिकन संग्रहालय, उत्खनन (स्कावी) ऑफिस, जो संत पेत्रुस की कब्र एवं वाटिकन महागिरजाघर के अंदर नेक्रोपोलिस के भ्रमण की व्यवस्था करती है, कास्तेल गंदोल्फो का संग्रहालय और परमधर्मपीठीय महागिरजाघर के संग्रहालय को बंद रखा गया है। इन सभी स्थलों को 3 अप्रैल 2020 तक बंद रखा जाएगा।  

इताली धर्माध्यक्षों द्वारा अध्यादेशों के अनुपालन की घोषणा

इटली के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (चेई) ने रविवार को एक प्रेस विज्ञाप्ति जारी कर कहा कि इताली सरकार जिसने देशभर में 3 अप्रैल तक नागरिक एवं धार्मिक समारोहों को स्थगित करने के लिए अध्यादेश जारी की है वे उनका पालन करेंगे।

धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने स्पष्ट किया है कि सरकार द्वारा आधिकारिक संकेत में सार्वजनिक मिस्सा एवं अंतिम संस्कार को भी नहीं करने का आदेश दिया गया है। बयान में कहा गया है कि यह बहुत सख्त उपाय है जो धर्माध्यक्षों, पुरोहितों एवं विश्वासियों के लिए दुखद एवं कठिन है। कहा गया है कि इस अध्यादेश का पालन स्वेच्छा से करना चाहिए ताकि इस समय में सार्वजनिक स्वास्थ्य की रक्षा की जा सके।      

रोम के गिरजाघर व्यक्तिगत प्रार्थना के लिए खुले हैं

रोम के कार्डिनल विकर अंजेलो दी दोनातिस ने एक बयान जारी कर रोम धर्मप्रांत में सरकार के निर्णय का पालन करने का आह्वान किया है। उनके अनुसार रोम के गिरजाघर हमेशा की तरह व्यक्तिगत प्रार्थनाओं के लिए खुले रहेंगे जबकि सामूहिक समारोह अगले तीन सप्ताहों के लिए बंद रहेंगे।  

इससे पहले कार्डिनल दी दोनातिस ने रोम धर्मप्रांत के विश्वासियों को एक पत्र भेजा था जिसमें उन्होंने उन्हें प्रोत्साहन दिया था कि वे कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न असाधारण परिस्थिति को विश्वास की शक्ति, आशा की निश्चितता और उदारता के आनन्द के साथ स्वीकार करें। उन्होंने जोर दिया है कि इस परिस्थिति को ईश्वर की नजरों से देखा जाए, इनके पास वापस लौटने, महत्वपूर्ण चीजों की खोज करने और इसे प्रार्थना का स्वाद लेने के अवसर स्वरूप देखा जाए।

एक दिवसीय प्रार्थना एवं उपवास

पत्र में कार्डिनल ने रोम के सभी विश्वासियों का आह्वान किया है कि 11 मार्च को एक दिवसीय प्रार्थना एवं उपवास के रूप में व्यतीत किया जाए, जिसमें शहर के लिए तथा इटली एवं विश्व के लिए ईश्वर से सहायता की याचना की जाए। उन्होंने बीमारों, उनकी देखभाल करने वालों और हमारे समुदायों के लिए विशेष प्रार्थना की मांग की है जिससे कि हम इस समय में विश्वास और आशा का साक्ष्य दे सकें।  

10 March 2020, 16:38