खोज

Vatican News
प्रेरितिक प्रबोधन पर प्रेस सम्मेलन प्रेरितिक प्रबोधन पर प्रेस सम्मेलन 

उसी को बचाया जा सकता है जिसे प्यार किया जाता, प्रेरितिक प्रबोधन

संत पापा फ्राँसिस के प्रेरितिक प्रबोधन, जिसका शीर्षक है "केरीदा अमाजोनिया", बुधवार को वाटिकन के प्रेस कार्यालय में पत्रकारों के सामने प्रस्तुत किया गया। प्रेरितिक प्रबोधन के कार्डिनल बाल्दीस्सेरी, कार्डिनल माइकेल चरनी, फादर अरौजो डोस संतोस, सिस्टर दी ओलियवेरा, प्रोफेसर नोब्रे और धर्माध्यक्ष मार्तिनेज ने प्रस्तुत किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 13 फरवरी 20 (रेई)˸ केरीदा अमाजोनिया की प्रस्तुति पर सिस्टर अगुस्ता दी ओलियवेरा ने पत्रकारों को सम्बोधित कर कहा कि दस्तावेज कलीसिया के रास्ते को दर्शाता है जो अमाजोन प्रांत के लोगों के लिए खड़ी है।

सिस्टर अगुस्ता का धर्मसमाज पान-अमाजोन क्षेत्र में 100 सालों से सेवारत है। अतः उन्होंने संत पापा फ्राँसिस के प्रेरितिक प्रबोधन के लिए उन्हें धन्यवाद दिया जो गरीबों, आदिवासियों एवं अफ्रो-अमेरिकी महिलाओं के अधिकार एवं प्रतिष्ठा को बढ़ाने के मिशन में एक बहुमूल्य साधन के रूप में है।   

उन्होंने गौर किया कि विगत अक्टूबर माह में सम्पन्न धर्माध्यक्षों के सिनॉड में, इन सभी लोगों के दुःख दर्दों पर विशेष ध्यान दिया गया और लोकधर्मियों की भूमिका को पहचाने जाने को भी रेखांकित किया गया।  

जीवन के लिए पुकार

सिस्टर अगुस्ता ने सिनॉड के दौरान रिपाम (अमाजोन क्षेत्र की 9 कलीसियाओं का संघ) एवं अन्य संगठनों द्वारा वर्णन किये गये अनुभवों एवं कहानियों की याद की तथा उसे "जीवन के लिए पुकार" कहा।  

उन्होंने प्रबोधन में महिलाओं की साहसी एवं उदार उपस्थिति के संबंध में संत पापा के शब्दों की ओर ध्यान आकृष्ट किया जो वहाँ के कुछ क्षेत्रों में कलीसिया को संभाली हुई हैं और ऐसे समय में उन क्षेत्रों में विश्वास का प्रचार कर रही हैं जब कोई पुरोहित अथवा उपयाजक वहाँ नहीं पहुँचते हैं।    

उन्होंने अमाजोन में जोखिम से जीवन की रक्षा हेतु अपनी और अपने धर्मबहनों की प्रतिबद्धता को जारी रखने का वचन दिया तथा गौर किया कि धर्मबहनों को सिस्टर दोरोथी स्टैंग के समान अमाजोन के अत्यन्त सुदूर क्षेत्रों तक पहुँचना है। जिनको 15 साल पहले ब्राजील में मार डाला गया था क्योंकि वे किसानों एवं मजदूरों का पक्ष लेकर संघर्ष कर रही थीं।  

रोम के परमधर्मपीठीय ग्रेगोरियन विश्वविद्यालय के प्रोफेसर फादर अदेलसोन अरौजो डोस संतोस ने भी प्रबोधन के कुछ भाग की व्याख्या की।  

उन्होंने दस्तावेज की कविता भाग पर प्रकाश डालते हुए इसे संत पापा फ्राँसिस का अपने विश्वासियों के प्रति प्रेम की अभिव्यक्ति तथा भाई-बहनों एवं पर्यावरण की देखभाल की अपील कहा क्योंकि जो प्यार करते हैं वे ही चिंता भी करते हैं।  

चार स्वप्न

फादर संतोस ने "स्वप्न" के महत्व पर प्रकाश डाला जिसका प्रयोग संत पापा फ्राँसिस ने दस्तावेज में किया है। उन्होंने कहा कि बाईबिल के अनुसार स्वप्न "एक स्थान है जहाँ ईश्वर अपनी योजना को प्रकट करते हैं।" उन्होंने कहा कि उन चारों स्वप्नों में व्यक्ति मन-परिवर्तन के आह्वान को देख सकता है।

विभिन्न चरणों में

सिनॉड के महासचिव कार्डिनल लोरेत्सो बाल्दिस्सेरी, जिनकी नियुक्ति की घोषणा संत पापा फ्राँसिस ने 15 अक्टूबर 2017 को देवदूत प्रार्थना के दौरान की थी, उन्होंने तब से लेकर प्रेरितिक प्रबोधन के प्रकाशन तक कार्य जारी रखा है। उन्होंने कई चीजों के बीच, सिनॉड की तैयारी एवं सिनॉड के दौरान, अमाजोन की ईश प्रजा से सुझाव लिये जाने की याद की, जिसमें धर्माध्यक्ष और 25 विशेषज्ञ एवं आदिवासियों के 16 प्रतिनिधि उपस्थित थे।

उन्होंने बतलाया कि यह प्रक्रिया किस तरह अंतिम दस्तावेज का रूप लिया, जिसका संशोधन छोटे दलों में किया गया। उसके बाद उसे दो तिहाई वोट से पास किया गया और उसको लेख का रूप दिया गया। तत्पश्चात् उसे संत पापा को सौंपा गया और अंततः उनकी इच्छा अनुसार इसे सार्वजनिक किया गया।  

कार्डिनल बाल्दिस्सेरी ने इस बात को स्पष्ट किया कि अमाजोन पर सिनॉड का अंतिम दस्तावेज, जिसको पढ़ने की अपील संत पापा ने सभी से की है, उसका एक निश्चित नैतिक अधिकार है किन्तु वह संत पापा की आधिकारिक धर्मशिक्षा के अंतर्गत नहीं आता है। यह भी ध्यान दिया गया कि प्रबोधन पर संत जॉन लातेरन महागिरजाघर के परिसर में हस्ताक्षर किया गया है, जो इसे एक विशेष रूप से प्रेरितिक अर्थ देता है।

फादर नोब्रे ने कहा कि वे प्रबोधन का स्वागत करते हैं क्योंकि यह उस विकास का मॉडल है जिसमें कोई पीछे नहीं छूट सकता।

उन्होंने प्राचीन आदिवासी प्रज्ञा को नवीन तकनीकियों से जोड़ने के महत्व पर बल दिया ताकि तीसरा मार्ग प्रसस्त किया जा सके, जिसमें न तो शुद्ध संरक्षण और न ही उच्च तीव्रता के विकास, बल्कि अमाजोन को नष्ट किये बिना, इसे कृषिकरण की ओर अग्रसर किया जा सके।

अमाजोन एक प्रेम पत्र

सिनॉड के विशेष सचिव कार्डिनल माइकेल चरनी ने केरीदा अमाजोनिया को एक प्रेम पत्र कहा, जो वर्षावन के खिलाफ किए गए अपराधों के लिए रोता और भूमि की सुंदरता पर मोहित है।

उन्होंने कहा कि अमाजोन ने अपनी सुन्दरता एवं प्रेम से संत पापा फ्राँसिस को मोह लिया है और प्रेरितिक प्रबोधन एक प्रेम पत्र है जो हमें स्मरण दिलाता है कि उसी को बचाया जा सकता जिससे प्रेम किया जाता है।  

 

13 February 2020, 16:54