खोज

Vatican News
कार्डिनलों के साथ संत पापा फ्राँसिस कार्डिनलों के साथ संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

कार्डिनलों ने नये प्रेरितिक संविधान पर चर्चा की

कार्डिनल परिषद की सभा वाटिकन में 2-4 दिसम्बर तक सम्पन्न हुई।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 5 दिसम्बर 2019 (रेई)˸ कार्डिनल परिषद ने पूर्व योजना के अनुसार इस सप्ताह एक सभा में भाग लिया। सभा में कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन, कार्डिनल ओस्कर रोडरिगेज मरादियागा एसडीबी, कार्डिनल रेनहार्ड मार्क्स सीन, कार्डिनल पैट्रिक ओ माल्ले ओएफएम कैप, जुसेप्पे बेरतोने और कार्डिनल ऑस्वल्ड ग्रेसियस ने भाग लिया। उनके साथ समिति के सचिव महाधर्माध्यक्ष मरचेल्लो सेमेरारो भी उपस्थित थे। सभा में संत पापा फ्राँसिस ने भी हिस्सा लिया। 

सभा के दौरान कार्डिनलों ने नया प्रेरितिक संविधान के मसौदे पर विचार-विमर्श किया, जिसमें कलीसिया में निर्णय लेने की भूमिका में, परमधर्माध्यक्षीय रोमी कार्यालय, अन्य धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों तथा लोकधर्मियों की उपस्थिति के बीच संबंध पर गौर किया गया।

कार्डिनल माईकेल चरनी येसु समाजी ने अमाजोन पर धर्माध्यक्षीय सिनॉड का रिपोर्ट प्रस्तुत किया। उन्होंने कार्डिनल ओमाल्ले द्वारा प्रस्तुत सिनॉड के बाद के दस्तावेज के   प्रस्तावों पर भी चिंतन किया। कार्डिनल मैर्क्स ने "सिनॉडल पथ" पर प्रकाश डाला जिसको जर्मनी की कलीसिया द्वारा अपनायी गयी है।

चूँकि कार्डिनल परिषद की पूर्व सभा सितम्बर माह में हुई थी नये प्रेरितिक संविधान पर सुझाव आना जारी है। कार्डिनल परिषद की अगली सभा फरवरी 2020 में रखी गयी है जिसमें वे सुझावों का अध्ययन एवं मूल्यांकन के कार्य को जारी रखा जाएगा।

05 December 2019, 16:34