खोज

Vatican News
अपसा अपसा 

परमधर्मपीठ वित्तीय पतन के कगार पर नहीं, धर्माध्यक्ष गालानतीनो

परमधर्मपीठ की विरासत की प्रबंध व्यवस्था (अपसा) के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष नूनत्सियो गालानतिनो ने उन आरोपों से इन्कार किया है जिनके अनुसार, एक नई किताब में कहा गया था कि परमधर्मपीठ वित्तीय पतन के कगार पर है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 22 अक्तूबर 2019 (रेई)˸ परमधर्मपीठ की विरासत की प्रबंध व्यवस्था (अपसा) के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष नूनत्सियो गालानतिनो ने उन आरोपों से इन्कार किया है जिनके अनुसार, एक नई किताब में कहा गया था कि परमधर्मपीठ वित्तीय पतन के कगार पर है।

उन्होंने इताली काथलिक समाचार पत्र "अव्वेनिरे" को दिये एक साक्षात्कार में कहा, "यहां पतन या चूक का कोई खतरा नहीं है, केवल व्यय समीक्षा की आवश्यकता है और वही हम कर रहे हैं। हम आंकड़ें के साथ आपको साबित कर सकते हैं।" 

बजट को संतुलित करना

यह स्पष्ट करने के बाद कि अपसा द्वारा प्रबंधित संपत्ति कहाँ से प्राप्त होती है -जिसका एक हिस्सा 1929 के लातेरन पैक्ट के लिए जारी वित्तीय समझौते का परिणाम है धर्माध्यक्ष गालानतिनो ने कहा,"परमधर्मपीठ के प्रशासन की वर्तमान स्थिति किसी भी परिवार या विभिन्न महाद्वीपों के राष्ट्रों में होने वाली घटनाओं से अलग नहीं है। एक निश्चित बिंदु पर, व्यक्ति देखता है कि उसने कितना खर्च किया है, जो आय आता है, उस पर विचार करता है, और तदनुसार खर्चों को समायोजित करने की कोशिश करता है।"

अपसा बजट के संबंध में धर्माध्यक्ष गालानतिनो ने इंकार किया है जिसपर आरोप लगाया गया था कि  बजट का नकारात्मक परिणाम "ग्राहकता पर आधारित और बिना किसी नियम के, छली हिसाब और संत पापा की संपत्ति के लगातार तोड़फोड़" का परिणाम है।

उन्होंने समझाया कि वास्तव में, 2018 में अपसा का साधारण प्रबंधन 22 मिलियन यूरो से अधिक के लाभ के साथ बंद हुआ था। काथलिक अस्पताल के संचालन और अपने कर्मचारियों की नौकरियों को बचाने के उद्देश्य से पुस्तकों पर वित्तीय नुकसान विशेष रूप से एक असाधारण हस्तक्षेप का कारण है।”

कोई एन्क्रिप्टेड खाते नहीं

धर्माध्यक्ष ने एन्क्रिप्टेड खाते अथवा समानांतर लेखा प्रणाली होने की बात से भी इंकार किया है। उन्होंने कहा है, "मैं पुष्टि करता हूं और दोहराता हूं: अपसा का कोई गुप्त या एन्क्रिप्टेड खाता नहीं है। किसी को भी इसके विपरीत साबित करने का स्वागत है। अपसा में, परमधर्मपीठ संबंधित संस्थानों, और राज्यपाल के अलावा किसी भौतिक या न्यायिक व्यक्ति का कोई हिसाब नहीं है। एक राज्य जिसके पास कोई कर या सार्वजनिक ऋण नहीं है, उसके पास जीने के केवल दो तरीके हैं या तो यह एक आय का उत्पादन करने के लिए अपने स्वयं के संसाधनों का निवेश करें, अथवा यह विश्वासियों के योगदान पर निर्भर करे, यहां तक कि संत पापा के अनुदान के लिए भी। यहां यह मामला है कि बहुत से लोग चाहते हैं कि कलीसिया के पास कुछ भी न हो, न अपने श्रमिकों के लिए उचित वेतन देने और न ही अनेक अवश्यकताओं के लिए, जिनमें सबसे पहले गरीबों को उत्तर दिया जाना चाहिए। कर्मचारियों की लागत और सामग्रियों की खरीद को नियंत्रित करने के लिए एक व्यय समीक्षा की आवश्यकता है जिसे बहुत सावधानी और ध्यान से किया जा रहा है।"

अपसा के प्रबंधन में सम्पति

अपसा के अध्यक्ष ने अपने विभाग द्वारा प्रबंधित धरोहर के बारे में भी जानकारी प्रदान की: "इनमें 2,400 अपार्टमेंट शामिल हैं, जिनमें से ज्यादातर रोम और कस्तेल गंदोल्फो में हैं। अन्य 600 दुकानें एवं कार्यालय हैं। आय का उत्पादन नहीं करने वाले या तो सर्विस अपार्टमेंट हैं या कुरिया के कार्यालय हैं। उनके बाजार मूल्य के लिए, एक अनुमान लगाना असंभव है।

संत पापा की इच्छा पर परमाध्यक्षीय रोमी कार्यालय

धर्माध्यक्ष ने कहा कि संत पापा को परमाध्यक्षीय रोमी कार्यालय के विरूद्ध करने के लिए यह एक घिसा हुआ पत्रकारिता का ठप्पा है। हम सभी आय और व्यय को संतुलित करने के लिए काम कर रहे हैं। इसलिए हम ठीक वही करने की कोशिश कर रहे हैं जो पोप चाहते हैं। मुद्दे की अन्य बातें "दा विंची कोड" की तरह लगती हैं, जो वास्तविकता के एक बिल्कुल काल्पनिक दृष्टिकोण को प्रस्तुत करता है।

22 October 2019, 17:40