खोज

Vatican News
चीन का एक गिरजाघर चीन का एक गिरजाघर  (©WaitforLight - stock.adobe.com)

चीन-वाटिकन समझौता के बाद दूसरे धर्माध्यक्ष का अभिषेक सम्पन्न

परमधर्मपीठ एवं चीन के बीच अनंतिम समझौता के बाद अब चीन में दूसरे धर्माध्यक्ष का भी अभिषेक सम्पन्न हो गया है। वाटिकन ने बुधवार को इस बात की पुष्टि दी कि मोनसिन्योर स्तेफनो सू होंगवेई का धर्माध्यक्षीय अभिषेक 28 अगस्त को संत पापा के अध्यादेश के तहत हुआ।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

धर्माध्यक्षों की नियुक्ति हेतु चीन और परमधर्मपीठ के बीच अनंतिम समझौता पर हस्ताक्षर 22 सितम्बर 2018 को हुई थी।

समझौता के एक साल बाद ही इसका परिणाम

बुधवार 28 अगस्त को मोनसिन्योर स्तेफनो सू होंगवेई को चीन के हंजहोंग का सहायक धर्माध्यक्ष नियुक्त किया गया। पत्रकारों के सवालों का उत्तर देते हुए वाटिकन प्रेस कार्यालय के निदेशक मात्तेओ ब्रूनी ने बुधवार को एक वक्तव्य में कहा, "मैं पुष्टि देता हूँ कि एच. ई. स्तेफनो सू होंगवेई जिनका धर्माध्यक्षीय अभिषेक आज 28 अगस्त 2019 को चीन में हांजहोंग के सहायक धर्माध्यक्ष के रूप में हुआ है, उन्हें संत पापा का अध्यादेश प्राप्त है तथा उनका अभिषेक भी चीन और परमधर्मपीठ के बीच 22 सितम्बर 2018 के अनंतिम समझौते पर हस्ताक्षर के ढांचे पर हुई है।"

धर्माध्यक्ष सू दूसरे धर्माध्यक्ष हैं जिनका धर्माध्यक्षीय अभिषेक समझौता के अनुसार, धर्माध्यक्ष अंतोनियो के सोमवार को अभिषेक होने के बाद हुआ है।    

धर्माध्यक्ष सू का अभिषेक समारोह हांजहोंग के संत मिखाएल महागिरजाघर में सम्पन्न हुआ जिसका अनुष्ठान चीनी धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष मा यिंगलिन ने किया। समारोह में पाँच अन्य धर्माध्यक्ष एवं 80 पुरोहितों तथा हजारों विश्वासियों ने भाग लिया।  

44 वर्षीय धर्माध्यक्ष सू का जन्म 16 जनवरी 1975 को हुआ था। 2002 को उनका पुरोहिताभिषेक हुआ था। 2004 से 2008 तक उन्होंने रोम के परमधर्मपीठीय उर्बानियन विश्व विद्यालय से लाईसेंसियेट की पढ़ाई पूरी की उसके बाद बाकी पढ़ाई उन्होंने कनाडा से की।

29 August 2019, 15:59