खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस 

हर दुरुपयोग एक अत्याचार है, संत पापा फ्राँसिस

संत पापा ने लोगों द्वारा लोगों के विरुद्ध किये गये शोषण को अत्याचार कहा है। उन्होंने धर्माध्यक्षों को पीड़ितों का दुःख सुनने के लिए प्रेरित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 25 फरवरी 2019 (रेई): वाटिकन में ‘नाबालिकों की सुरक्षा हेतु चल रहे चार दिवसीय सम्मेलन’ का समापन रविवार 24 फरवरी को पवित्र मिस्सा के साथ हुआ। पवित्र मिस्सा के समाप्ति पर संत पापा ने धर्माध्यक्षों को अपने संबोधन में पीड़ितों को सुनने और इस क्रूर अपराध को कलीसिया से मिटाने का आह्वान किया।

उन्होंने 24 फरवरी के ट्वीट संदेश में लिखा, “हर दुरुपयोग एक अत्याचार है। लोगों के उचित गुस्से में, कलीसिया ईश्वर के क्रोध का प्रतिबिंब देखती है। हमारा कर्तव्य है कि इन लोगों के मूक क्रंदन को ध्यान से सुनें।”

25 फरवरी को संत पापा ने ट्वीट किया,“ईश्वर का प्रेम ही एकमात्र शक्ति है जो सभी चीजों को नया बनाने में सक्षम है।”

25 February 2019, 16:47