खोज

Vatican News
जेस्विट फादर फेदरिको लोम्बारदी के साथ बात करते संत पापा फ्राँसिस जेस्विट फादर फेदरिको लोम्बारदी के साथ बात करते संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

नाबालिगों की सुरक्षा पर चार दिवसीय सभा का चिन्ह

कलीसिया में नाबालिगों की सुरक्षा पर चार दिवसीय सभा वाटिकन में 21 से 24 फरवरी तक आयोजित की गयी। जो जागरूकता, पीड़ितों को सुनने, जिम्मेदारी, जवाबदेही और पारदर्शिता हेतु नया अवसर प्रदान करेगा।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 21 फरवरी 19 (रेई)˸ सभा एक गहरी छाप छोड़ेगी क्योंकि इसके द्वारा पूरी कलीसिया में यौन दुराचार को दूर करने के लिए जागरूकता बढ़ेगी। बच्चों, युवाओं और असहाय पीड़ितों की आवाजों को अनसुनी नहीं की जाएगी। उनकी आवाज चुप्पी के हर घेरे को तोड़ डालेगी जो उन्हें समझे जाने के रास्ते पर लम्बे समय तक बाधक बनकर रही है।

सभा का प्रमुख उद्देश्य

वर्तमान के दो संत पापाओं ने दुराचार से पीड़ित लोगों के साथ लगातार मुलाकात की, उन्हें सुना, उनके साथ रोया और प्रार्थना की है, जिनके अनुसार सभा का प्रमुख उद्देश्य याजकों एवं धर्मसमाजियों के बीच जागरूकता लाना है कि उनके द्वारा बाल यौन दुराचार एक घृणित कार्य है। एक ऐसा कार्य जो उन बच्चों के हृदय को छेद डालता है जिनके माता-पिता पुरोहितों पर भरोसा रखकर, विश्वास में बढ़ने के लिए उन्हें सौंप देते हैं। उन्होंने कहा कि यह मुख्य रूप से नियम और कानून की बात नहीं है, न ही नौकरशाही की तलब अथवा आंकड़े की बात, बल्कि पीड़ितों को सुनना, उनके दुःखों को बांटने की कोशिश करना एवं उनके भयंकर घावों को अपना समझने का प्रयास है। आवश्यकता इस बात की है कि मन-परिवर्तन किया जाए, ताकि कोई भी, नहीं देखने का बहाना न करे, अथवा फिर से ढांकने और छिपाने का प्रयास करे। क्योंकि यह मुद्दा पहली बार विश्व स्तर पर विभिन्न अनुभवों एवं संस्कृतियों के अनुसार उठाया गया है।

सभा की विषयवस्तु

सभा के प्रथम दिन की विषयवस्तु होगी अपने आध्यात्मिक और प्रशासनिक क्षेत्र में धर्माध्यक्षों की "जिम्मेदारी"। दूसरे दिन का विषय है "जवाबदेही" जिसमें कलीसिया से कानून के आधार पर विचार-विमर्श किया जाएगा। जिसमें गौर किया जाएगा कि धर्माध्यक्षों ने किस तरह अपनी जिम्मेदारी को सफलता पूर्वक पूरा नहीं किया है और उसको अनदेखा किया है। तीसरे दिन, कलीसिया के उत्तराधिकारियों की "पारदर्शिता" पर चिंतन किया जाएगा। पारदर्शिता नागरिक अधिकारियों के प्रति किन्तु उससे भी बढ़कर ईश प्रजा के प्रति। नाबालिगों के लिए सुरक्षित स्थान के निर्माण में उनके सहयोग। संत पापा फ्राँसिस सभा का समापन रविवार को साला रेजिया में ख्रीस्तयाग द्वारा करेंगे।

एक कलीसियाई आयोजन

ज्ञात हो कि वाटिकन में "कलीसिया में नाबालिगों की सुरक्षा" पर आयोजित सभा एक कलीसियाई आयोजन है जिसमें धर्माध्यक्ष, संत पेत्रुस के उतराधिकारी के साथ विचार- विमार्श करेंगे। यही कारण है कि इस सभा में प्रार्थना और पीड़ितों को सुनने की क्रिया को विशेष स्थान दिया गया है।

21 February 2019, 15:56