खोज

पोलैंड में माचिस तिलियों से बनी चरनी पोलैंड में माचिस तिलियों से बनी चरनी  (ANSA)

प्रभु का जन्म दुनिया भर के बच्चों के लिए शांति की किरण लाए, संत

संत पापा ने आगमन काल में बालक येसु की चरनी, रविवारीय धर्मविधि के पाठों पर चिंतन किया, साथ ही दक्षिण सूडान से आ रही दुःखद घटनाओं के मद्देनजर चार ट्वीट किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 12 दिसंबर 2022 (वाटिकन न्यूज) : काथलिक कलीसिया आगमन काल के तीसरे सप्ताह में प्रवेश कर चुकी है और बालक येसु के स्वागत हेतु हर्षित मन दिल से तैयारी में लगी हुई है। इसी माहौल में संत पापा ने रविवार को पूजन विधि के लिए निर्धारित सुसमाचार के पाठ पर चिंतन करते हुए एवं दक्षिण सूडान से आ रही दुःखद घटनाओं के मद्देनजर चार ट्वीट किया।

1ला ट्वीट : “आज के सुसमाचार में, योहन बप्तिस्ता येसु को आने वाले मसीह के रूप में पहचानने में सक्षम नहीं है और शिष्यों को सत्यापित करने के लिए भेजते हैं। यहां तक ​​कि सबसे बड़ा विश्वासी भी संदेह की सुरंग से गुजरता है और यह कोई बुरी बात नहीं है, वास्तव में, कभी-कभी यह आध्यात्मिक विकास के लिए आवश्यक है।”

2रा ट्वीट :  “ईश्वर हमेशा हमारी कल्पना से परे हैं, उनके कार्य हमें आश्चर्यचकित कर देते हैं और हमारी आवश्यकताओं एवं हमारी अपेक्षाओं से अधिक है, इसलिए हमें कभी भी उनकी तलाश करना और उनके असली चेहरे में परिवर्तित होना बंद नहीं करना चाहिए।” #देवदूत प्रार्थना

3रा ट्वीट : “हाल के दिनों में हुई हिंसक झड़पों के बारे में दक्षिण सूडान से आई खबरों को मैं दुख और चिंता के साथ देख रहा हूँ। आइए, हम शांति और राष्ट्रीय सुलह के लिए ईश्वर से प्रार्थना करें, ताकि हमले बंद हो सकें और नागरिकों का हमेशा सम्मान हो सके।”

4था ट्वीट : “मैं आपको चरनी के सामने प्रार्थना करने के लिए आमंत्रित करता हूँ कि, प्रभु का जन्म दुनिया भर के बच्चों के लिए शांति की किरण लाए, विशेष रूप से वे जो युद्ध के भयानक और काले दिनों को जीने के लिए मजबूर हैं।”

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

12 December 2022, 15:25