खोज

प्रतिकात्मक तस्वीर प्रतिकात्मक तस्वीर  (AFP or licensors)

“आगमन काल हमारे लिए अनुग्रह का क्षण है”, संत पापा फ्राँसिस

आगमन काल हमारे लिए अनुग्रह का समय है। इस पुण्यकाल में संत पापा सभी ख्रीस्तियों को अपने रोजमर्रा के जीवन में ईश्वर के वचन को रचनात्मक तरीके से जीने और फलप्रद बनने के लिए प्रेरित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 05 दिसम्बर 2022 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने सोमवार 5 दिसम्बर को ट्वीट कर सभी विश्वासियों को अपने दैनिक जीवन में ईश्वर के वचन को जीने वाले ख्रीस्तीय बनने हेतु प्रेरित किया।

ट्वीट संदेश : “ईश्वर का वचन हमें रोज़मर्रा की स्थितियों में रखता है, जहां हम  हमारे भाइयों और बहनों की पीड़ा को सुनने, गरीबों के क्रंदन को सुनने, समाज और ग्रह को चोट पहुँचाने वाली हिंसा और अन्याय के विरोध में आवाज उठा सकें। हम उदासीन ख्रीस्तीय नहीं, बल्कि मेहनती, रचनात्मक और दूरदृष्टा बनें।”

4 दिसम्बर को संत पापा ने रविवारीय पूजन विधि के लिए निर्धारित सुसमाचार के पाठ पर चिंतन करते हुए दो ट्वीट किया।

1ला ट्वीटः “आज के सुमसाचार (मत्ती 3:1-12) में योहन बपतिस्ता कहते हैं, "पश्चाताप के अनुसार फल लाओ!" यह प्रेम की पुकार है, जैसे एक पिता की पुकार जो अपने बेटे को खुद को बर्बाद करते हुए देखता है और उससे कहता है, "अपना जीवन बर्बाद मत करो!" #आगमन काल

2रा टवीटः “आइए, हम ईश्वर के पास लौटने के लिए योहन की प्रेम के पुकार को सुनें जो हमारी ओर निर्देशित है और आइए हम इस आगमन को कैलेंडर के दिनों की तरह यूंही न जाने दें क्योंकि यह हमारे लिए अनुग्रह का क्षण है, यहां और अभी!” #आज का सुसमाचार (मत्ती 3:1-12)

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

05 December 2022, 14:58