खोज

संत पापा फ्राँसिस बुधवारीय आम दर्शन समारोह में बच्चों से मिलते हुए संत पापा फ्राँसिस बुधवारीय आम दर्शन समारोह में बच्चों से मिलते हुए  (ANSA)

‘युद्ध की त्रासदी का भार यूक्रेन के बच्चे सहन करते हैं, संत पापा

संत पापा फ्राँसिस ने एक बार फिर रूस द्वारा जारी आक्रमण के कारण यूक्रेन के बच्चों की पीड़ा को याद करते हुए कहा कि उन्होंने देखा है कि उनमें से कई को मुस्कुराना भी मुश्किल लगता है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 21 दिसंबर 2022 (वाटिकन न्यूज) : "जब कोई बच्चा मुस्कुराने की क्षमता खो देता है, तो यह गंभीर होता है।" इन शब्दों के साथ, बुधवारीय आम दर्शन समारोह के अंत में बोलते हुए, संत पापा फ्राँसिस ने यूक्रेन के बच्चों के लिए अपनी चिंता व्यक्त की, "जो इस युद्ध से बहुत ज्यादा पीड़ित हैं।"

युद्ध की त्रासदी

संत पापा ने आग्रह किया, "ईश्वर का बालक बनने के त्योहार में, आइए हम यूक्रेन के बच्चों के बारे में सोचें," उस युद्ध के बोझ उठा रहे हैं, "जो इतना अमानवीय, इतना कठोर है।"

उन्होंने सभी को यूक्रेन के बच्चों के लिए प्रार्थना करने के लिए प्रोत्साहित किया, जो कड़कड़ाती ठंड और मूलभूत आवश्यकताओं की कमी को झेल रहे हैं। संत पापा ने कहा, "आइए, हम इस क्रिसमस में यूक्रेनी लोगों के बारे में सोचें। वे जीवित रहने के लिए मुख्य चीजों के बिना, हीटिंग के बिना हैं। आइए, हम प्रार्थना करें कि प्रभु उन्हें जल्द से जल्द शांति प्रदान करें।”

पोलैंड की एकता

पोलैंड के विश्वासियों को बधाई देते हुए, संत पापा ने एक राष्ट्रीय परंपरा को याद किया, जिसके अनुसार, क्रिसमस की पूर्व संध्या पर, परिवार "अप्रत्याशित अतिथि के लिए मेज पर एक खाली जगह छोड़ देते हैं।"

संत पापा फ्राँसिस ने कहा "इस साल, उस जगह पर यूक्रेन के शरणार्थी होंगे, जिनके लिए आपने अपने घरों के दरवाजे बड़ी उदारता से खोले हैं।"

"बेथलहेम में पैदा हुआ ईश्वर का बेटा, आप में से प्रत्येक को, आपके परिवारों को और जिनकी आप मदद करते हैं, उन्हें प्यार से भर दें।"

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

21 December 2022, 15:10