खोज

संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन में मदर तेरेसा पुरस्कार के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन में मदर तेरेसा पुरस्कार के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की  (Vatican Media)

संत पापा फ्राँसिस ने 3 दान दाताओं को मदर तेरेसा पुरस्कार से सम्मानित किया

अपने 86वें जन्मदिन पर, संत पापा फ्राँसिस तीन लोगों के प्रति अपनी कृतज्ञता अभिव्यक्त करते हैं, जो सबसे गरीब लोगों के लिए अपना जीवन अर्पित करते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी,शनिवार 17 दिसंबर 2022 (वाटिकन न्यूज) : दूसरों की निरंतर देखभाल को ध्यान में रखते हुए, संत पापा फ्राँसिस ने शनिवार को अपना 86वां जन्मदिन मनाने के लिए तीन लोगों को सम्मानित किया, जो "गरीब से गरीब लोगों की सेवा करते हैं।"

संत पापा ने फादर हन्ना जलौफ़, जॉन पिएरो (वू के नाम से जाने जाते हैं), और सिल्वानो पेद्रोल्लो को दूसरों के लिए उनके उदार प्रयासों हेतु अपनी कृतज्ञता व्यक्त की।

उदार सेवा के लिए गठित परमधर्मपीठीय विभाग की एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, संत पापा की यह अभिव्यक्ति याद दिलाने की कोशिश करती है कि "हम में से प्रत्येक दूसरों की सेवा में खुद को समर्पित करने के लिए बुलाये गये हैं।"

शनिवार को, संत पापा फ्राँसिस मिशनरीज ऑफ चैरिटी द्वारा चलाए जा रहे एक शयनागार में तीन पुरुषों को अपनी "कृतज्ञता का फूल" भेंट करने गये।

सबसे गरीब पर खर्च करना

फादर जलौफ एक फ्रांसिस्कन पुरोहित हैं जिन्होंने सीरिया के विनाशकारी गृहयुद्ध के दौरान गरीबों की सेवा में अपना जीवन बिताया है।

जॉन पिएरो एक बेघर व्यक्ति है जो प्रतिदिन प्राप्त होने वाली भिक्षा का एक हिस्सा उन लोगों को देता हैं जो उससे भी बदतर स्थिति में हैं।

श्री पेद्रोल्लो इतालवी शहर वेरोना के एक व्यवसायी हैं, जो अपने व्यवसाय के मुनाफे का एक बड़ा हिस्सा कई अफ्रीकी और लैटिन अमेरिकी देशों के साथ-साथ भारत में स्कूलों, कुओं और स्वास्थ्य सुविधाओं के निर्माण के लिए गरीबों की मदद करने के लिए उपयोग करते हैं।

दुनिया के लिए खुले प्यार के खिड़कियाँ

शनिवार को कार्यक्रम के दौरान, संत पापा फ्राँसिस प्रत्येक दान दाता को एक क्यूब के अंदर एक छोटा सा ग्लोब भेंट किया जो एक कुर्सी के रूप में कार्य करता है।

क्यूब एक "प्यार का प्रतीक है जो दुनिया को कायम रखता है," और एक खिड़की को ग्लोब पर दर्शाया गया है जिसमें संत मदर तेरेसा को एक बच्चे को गले लगाते हुए दिखाया गया है।

संत मदर तेरेसा की मृत्यु पर संत पापा जॉन पॉल द्वितीय द्वारा की गई एक टिप्पणी से खिड़की का विचार आया: "मदर तेरेसा एक खुली खिड़की थी जिससे येसु ने बाहर देखा और मुस्कुराया और दुनिया के कई हिस्सों में इतने गरीब लोगों को आराम और सम्मान दिया।"

उदार सेवा हेतु गठित परमधर्मपीठीय परिषद के अनुसार, प्रत्येक व्यक्ति वह खिड़की बनने के लिए बुलाया जाता है, जैसा कि संत पापा के जन्मदिन का संकेत इन तीन दान दाताओं को दर्शाता है।

 

 

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

17 December 2022, 15:40