खोज

संत पापा फ्राँसिस संत पापा पॉल षष्टम सभागार में बने चरनी को निहारते हुए संत पापा फ्राँसिस संत पापा पॉल षष्टम सभागार में बने चरनी को निहारते हुए  (AFP or licensors)

संत पापा : आइए, हम ईश्वर की लघुता को फिर से खोजें

संत पापा फ्राँसिस ने संत पापा पॉल षष्टम सभागार में सुत्रियो, रोसेलो और ग्वाटेमाला के प्रतिनिधिमंडल का स्वागत किया, जिन्होंने इस साल के पवित्र क्रिसमस के लिए पेड़ और दो चरनी को दान किया। संत पापा ने मौन के महत्व पर विचार करने के लिए प्रेरित किया,जो "ईश्वर के साथ अंतरंग होने में मदद करता है।"

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 03 दिसम्बर 2022 (वाटिकन न्यूज) : येसु से मिलने के लिए आपको उन तक पहुँचने की आवश्यकता है जहाँ वे हैं, इसलिए आपको अपने आप को झुकाने की आवश्यकता है, उस अस्तबल में प्रवेश करने के लिए अपने आप को झुकायें जहाँ ईश्वर के पुत्र का जन्म हुआ था। इस निमंत्रण से संत पापा फ्राँसिस ने सुत्रियो, रोसेलो और ग्वाटेमाला के प्रतिनिधिमंडलों को संबोधित किया है जिन्होंने इस वर्ष क्रिसमस पेड़ और दो तरह की चरनी उपहार में दिया। ग्वाटेमाला से लायी गई एक दूसरी चरनी संत पापा पॉल षष्टम सभागार में मौजूद है।

पेड़ और हमारी जड़ें

संत पापा ने क्रिसमस के उपहारों के लिए अपना आभार व्यक्त करने के बाद विशेष विचार के साथ लकड़ी के कारीगरों, रोसेलो के लड़कों और उन लोगों को संबोधित किया जिन्होंने पलेना नर्सरी में देवदार के पेड़ की खेती की है। संत पापा ने पेड़ और चरनी को दो संकेत के रूप में बताया, "जो युवा और वृद्धों को मोहित करते रहते हैं"। विशेष रूप से वे इस बात को रेखांकित करना चाहते थे कि वृक्षों की तरह मनुष्य को भी जड़ों की आवश्यकता होती है।

चरनी, क्रिसमस का सच्चा खजाना

संत पापा फ्राँसिस ने तब चरनी की बात की, जो हमें याद दिलाता है कि कैसे ईश्वर हर एक के करीब रहने के लिए मनुष्य बने। पवित्र क्रिसमस के सार को फिर से खोजना संभव है। मौन बालक येसु के चिंतन का पक्षधर है, यह एक छोटे नवजात शिशु की नाजुक सादगी के साथ, उसके लेटने की नम्रता के साथ, उसके चारों ओर लपेटने वाले कपड़ों के कोमल स्नेह के साथ, ईश्वर के साथ घनिष्ठ होने में मदद करता है।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

03 December 2022, 15:15