खोज

एता एयरवेस द्वारा बहरीन के लिए प्रस्थान करते संत पापा फ्राँसिस एता एयरवेस द्वारा बहरीन के लिए प्रस्थान करते संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

बहरीन की प्रेरितिक यात्रा के लिए संत पापा ने प्रस्थान किया

काथलिक कलीसिया के परमधर्मगुरू संत पापा फ्राँसिस आज बहरीन की यात्रा शुरू कर रहे हैं। उन्होंने अपनी चार दिवसीय प्रेरितिक यात्रा हेतु आज सुबह 9.45 बजे रोम के फ्यूमिचिनो हवाई अड्डा से अवाली के लिए प्रस्थान किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

इटली के बाहर यह उनकी 39वीं प्रेरितिक यात्रा है जहाँ वे 3 से 6 नवम्बर तक रहेंगे।

संत पापा ने 3 नवम्बर को इता एयरवेस से मध्यपूर्वी देश के लिए प्रस्थान किया और करीब 5 घंटे की यात्रा कर स्थानीय समयानुसार 4.45 बजे (रोम समय, दोपहर 2.45) बजे अवाली पहुँचे।  

बहरीन के राजा हमद बिन ईसा एल खलिफा और स्थानीय कलीसिया के धर्मगुरूओं ने संत पापा फ्राँसिस को देश का दौर करने का निमंत्रण दिया है। अपनी यात्रा के दौरान मुख्य रूप से पोप, संवाद के लिए बहरीन मंच में भाग लेंगे एवं देश के छोटे ख्रीस्तीय समुदाय करेंगे।

शरणार्थी परिवार से मुलाकात

बृहस्पतिवार सुबह को एयरपोर्ट प्रस्थान करने के पहले संत पापा ने संत मर्था आवास में यूक्रेन के तीन शरणार्थी परिवारों से मुलाकात की जो इटली में शरण लिये हुए हैं।

उनमें से एक ऑर्थोडॉक्स पुरोहित की धर्मपत्नी है जो 18 और 14 साल के अपने दो बच्चों के साथ मेकोलाइव से 150 किलोमीटर दूर क्रोपेवेंतस्की से आयी है। उनके पति और वयस्क बेटा यूक्रेन में ही रह गये हैं। दूसरे परिवार में 30 वर्षीय माँ अपने 4 और 7 साल के बच्चों के साथ है जो जापोरिज्जा से भाग कर आयी है। और तीसरा परिवार कीएव से है जिसमें 53 वर्षीय मां अपने 13 साल के दिव्यांग बेटा एवं 73 साल की अपनी माता के साथ है।  

शरणार्थी परिवारों के साथ पोप के परोपकारी विभाग के अध्यक्ष कार्डिनल कॉनराड क्राएस्की भी थे।

भाईचारा एवं शांति को बढ़ावा देने का अवसर

1 नवम्बर को सब संतों के पर्व दिवस के अवसर पर देवदूत प्रार्थना के दौरान संत पापा फ्राँसिस ने आशा व्यक्त की थी कि सभी मुलाकातें और कार्यक्रम ईश्वर के नाम पर भाईचारा एवं शांति को बढ़ावा देने का फलप्रद अवसर होगा।

वाटिकन न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन ने कहा है कि संत पापा फ्राँसिस की प्रेरितिक यात्रा इतिहास के इस संकटपूर्ण समय में आशा एवं वार्ता का चिन्ह होगी।

कार्डिनल ने जोर देकर कहा है कि "संत पापा की मुलाकातें और बहरीन के कार्यक्रम में भाग लेना, तनाव, विरोध और संघर्ष से चिन्हित दुनिया में, एकता, एकजुटता और शांति का संदेश देगा।"

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

03 November 2022, 11:59