खोज

साईप्रस के ऑर्थोडॉक्स महाधर्माध्यक्ष क्रिस्तोस्तम द्वितीय के साथ संत पापा फ्राँसिस साईप्रस के ऑर्थोडॉक्स महाधर्माध्यक्ष क्रिस्तोस्तम द्वितीय के साथ संत पापा फ्राँसिस  (AFP or licensors)

पोप ने साईप्रस के ऑर्थोडॉक्स महाधर्माध्यक्ष क्रिस्तोस्तम II की याद की

संत पापा फ्राँसिस ने साईप्रस के ऑर्थोडॉक्स महाधर्माध्यक्ष क्रिस्तोस्तम द्वितीय को एक वार्ता एवं शांति प्रेमी व्यक्ति के रूप में स्मरण की, जिनका निधन 7 नवम्बर को हुआ।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

बुधवारीय आमदर्शन समारोह के दौरान संत पापा फ्राँसिस ने महाधर्माध्यक्ष क्रिस्तोस्तम द्वितीय के निधन पर साईप्रस के शोकित लोगों की याद की।

स्वर्गीय महाधर्माध्यक्ष, जो 2006 से साईप्रस की कलीसिया का संचालन कर रहे थे, उनका निधन सोमवार को अपने आवास निकोसिया में हुआ। वे 81 साल के थे एवं कैंसर की बीमारी से पीड़ित थे।

एक संवाद के व्यक्ति एवं शांति प्रेमी

संत पापा फ्राँसिस ने कहा, "वे एक दूरदर्शी चरवाहे थे, एक संवाद के व्यक्ति एवं शांति के प्रेमी, जिन्होंने देश के विभिन्न समुदायों के बीच मेल-मिलाप को बढ़ाने की कोशिश की।" संत पापा ने दिसम्बर 2021 में साईप्रस की यात्रा के दौरान उनसे भाईचारा के साथ मुलाकात को कृतज्ञतापूर्ण स्नेह से याद किया।  

 ख्रीस्तीय एकता आंदोलन के नायक

क्रिस्तोस्तम ख्रीस्तीय एकता आंदोलन के एक महान नायक थे। वे साईप्रस की कलीसिया के पवित्र सिनॉड के अध्यक्ष थे उन्होंने संत पापा जॉन पौल द्वितीय की दफन क्रिया में भाग लिया था तथा 2005 में संत पापा बेनेडिक्ट 16वें के वाटिकन में परमाध्यक्ष के रूप में उद्घाटन समारोह में शरीक हुए थे।     

महाधर्माध्यक्ष क्रिस्तोस्तम द्वितीय एवं पोप

इस भाईचारापूर्ण भाव के उत्तर के रूप में, संत पापा बेनेडिक्ट 16वें ने 2006 में उनके राज्याभिषेक समारोह में भाग लेने के लिए प्रतिनिधि भेजा था। 16 जून 2007 को संत पापा बेनेडिक्ट 16वें और ऑर्थोडॉक्स महाधर्माध्यक्ष ने वाटिकन में एक संयुक्त घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किया था। उसके बाद 5 जून 2010 को संत पापा बेनेडिक्ट 16वें और महाधर्माध्यक्ष क्रिस्तोस्तम की मुलाकात प्रेरितिक यात्रा के दौरान हुई था। उन्होंने 28 मार्च 2011 को वाटिकन में फिर उनसे फिर मुलाकात की थी।  

काथलिक कलीसिया एवं साईप्रस की कलीसिया के बीच आपसी भाईचारा का संबंध पोप फ्राँसिस की साईप्रस यात्रा से अधिक मजबूत हुआ, जहाँ उन्होंने स्वर्गीय ऑर्थॉडॉक्स महाधर्माध्यक्ष से मुलाकात की थी।

उस अवसर पर पोप फ्राँसिस ने महाधर्माध्यक्ष के खुले हृदय और दोनों कलीसियाओं के बीच संवाद को बढ़ावा देने हेतु उनकी प्रतिबद्धता के लिए उनका शुक्रिया अदा किया था।  

साईप्रस में ख्रीस्तीय समुदाय के एक मुखर अधिवक्ता

ख्रीस्तीय एकतावर्धक वार्ता के संचालक क्रिस्तोस्तम द्वितीय, ख्रीस्तीय समुदाय के लिए एक मुकर अधिवक्ता थे। जिन्होंने 1974 में देश के उत्तरी भाग में तुर्की आक्रमण के समय, जिसने कई ख्रीस्तियों को भागने के लिए मजबूर कर दिया था, अपनी आवाज ऊँची की थी।   

निधन-सूचना में, साइप्रस की कलीसिया ने "कलीसिया के लिए उनके प्यार" को याद किया है, जिसका साक्ष्य उनके द्वारा बनाए और उद्घाटन किए गए, या मरम्मत एवं पुनर्स्थापित किये गये कई गिरजाघर देते हैं।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

09 November 2022, 16:27