खोज

सफेद गाँठ वाला दुपट्टा ,संघ का प्रतीक सफेद गाँठ वाला दुपट्टा ,संघ का प्रतीक  (AFP or licensors)

संत पापा ने 'मदर्स ऑफ प्लाजा डे मायो' की संस्थापिका को दी श्रद्धांजलि

मैड्रेस डी प्लाजा डे मेयो (प्लाजा डे मेयो की माताएं) जो 45 वर्षों से अर्जेंटीना में सभी 'देसापेरेसीडोस' के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं, जो सैन्य तानाशाही के दौरान गायब हो गए थे, एक पत्र में संत पापा फ्राँसिस ने इसकी अध्यक्ष और संस्थापिका हेबे डी बोनाफिनी की मृत्यु पर अपना दुख व्यक्त किया। " ऐसे समय में जब मौन व्याप्त था, उनकी निर्भीकता और साहस, सत्य और स्मृति की खोज को जीवित रखा।"

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार 22 नवम्बर 2022 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने अपने पत्र में हेबे डी बोनाफिनी को उनकी "निर्भीकता और साहस" और अपने बच्चों के लापता होने पर उनके दुःख को "सबसे अधिक हाशिए पर और अदृश्य लोगों के अधिकारों की रक्षा के लिए एक अथक खोज में बदलने की क्षमता" को याद किया। संत पापा ने अर्जेंटीना के कार्यकर्ता, माड्रेस डे प्लाजा डे मायो (प्लाजा डे मेयो की मांताएं) की संस्थापिका और अध्यक्ष को श्रद्धांजलि अर्पित की, जिनका स्वास्थ्य जटिलताओं के कारण 20 नवंबर को 93 वर्ष की आयु में निधन हो गया।

मैड्रेस डी प्लाजा डे मायो की संस्थापिका हेबे डी बोनाफिनी
मैड्रेस डी प्लाजा डे मायो की संस्थापिका हेबे डी बोनाफिनी

संत पापा ने सभी माताओं, महिलाओं को एक पत्र में अपनी संवेदना व्यक्त की, जो 45 वर्षों से ब्यूनस आयर्स में कासा रोसादा के सामने सड़कों पर उतरी हैं और अर्जेंटीना पर शासन करने वाले सैन्य तानाशाही के दौरान गायब हुए लोगों के लिए न्याय और सच्चाई की मांग कर रही हैं। संत पापा ने उन्हें हेबे डी बोनाफिनी की प्रतिबद्धता को आगे बढ़ाने और "स्मृति की माताएं" बने रहने के लिए प्रोत्साहित किया।

संत मार्था में बैठक

स्पानी भाषा में संत पापा पत्र में लिखते हैं, "दुख के इस क्षण में मैं आपके और उन सभी के करीब रहना चाहता हूँ जो उनके जाने का शोक मनाते हैं।" संत पापा ने 28 मई 2016 को वाटिकन के संत मार्था में उनसे हुई मुलाकात को याद करते हुए कहा कि उन्हें विशेष रूप से याद है "उन लोगों को आवाज देने के लिए जिनके पास आवाज नहीं है, उस जुनून को मेरे साथ साझा किया था।"

छह साल पहले उनकी दो घंटे की बैठक हुई थी जो आँसू, साझाकरण, यादों से चिह्नित थी, लेकिन बोनाफिनी के माफी के अनुरोध से भी क्योंकि उसने अतीत में संत पापा की कठोर आलोचना की थी। उसने खुद कहा कि वह अपने होश में आ गई और संत पापा से माफी मांगी। एक पत्र में और बाद में साक्षात्कार में संत पापा ने कहा कि वह इस मां के गहरे दुख के सामने "झुक गया" था जिसने अपने बच्चे जॉर्ज उमर और राउल अल्फ्रेडो और अपने क्षेत्र के कई बच्चों को शून्य में गायब होते देखा था।

"उसने सत्य की खोज को जीवित रखा"

संत पापा फ्राँसिस लिखते हैं, "उनकी निर्भीकता और साहस, ऐसे समय में जब चुप्पी छाई हुई थी, उन्हें प्रेरित किया और सत्य, स्मृति और न्याय की खोज को जीवित रखा।" "एक खोज जिसने उसे हर हफ्ते मार्च करने के लिए प्रेरित किया," जनता को आश्वस्त करने के लिए इतिहास उन्हें नहीं भूलेगा और "एक दूसरे की देखभाल करने की प्रतिबद्धता उनके लिए सबसे अच्छा शब्द होगा।"

30 अप्रैल 1977 को पिरामाइड डी मायो के आसपास पहले प्रदर्शन के बाद से हेबे डी बोनाफिनी ने कभी भी स्मरण मार्च नहीं छोड़ा, कुल 2,036 प्रदर्शन हुए। वह हमेशा अपने सिर पर अपने सफेद गाँठ वाले दुपट्टे के साथ मौजूद रहती थी, जो उस संघ का प्रतीक था जिसे बोनेरेन्स प्लाजा के फर्श पर गढ़ा गया, जो उसकी विदाई की याद दिलाती है।

ब्यूनस आयर्स में हेबे डी बोनाफिनी को याद करते हुए बैनर
ब्यूनस आयर्स में हेबे डी बोनाफिनी को याद करते हुए बैनर

उसका आखिरी मार्च

संत पापा लिखते हैं, अब हेबे के "अंतिम मार्च" में, सभी उनके अनंत विश्राम के लिए प्रभु से प्रार्थना करें। उनके संघर्षों को साझा करने वालों को अंतिम निमंत्रण के रूप में, संत पापा अंत में लिखते हैं: "जो भी अच्छा किया गया है उसे नष्ट न होने दें ... मैं आपके लिए प्रार्थना करता हूंँ कृपया मेरे लिए प्रार्थना करना न भूलें।"  

धर्माध्यक्षों की संवेदना

जैसा कि अर्जेंटीना हेबे डी बोनाफिनी के गवाह और विरासत को याद करता है, अल्बर्टो फर्नांडीज की सरकार ने तीन दिनों के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है। और अर्जेंटीना एपिस्कोपल कॉन्फ्रेंस (सीईए) के धर्माध्यक्षों ने अपने आधिकारिक सोशल मीडिया के माध्यम से अर्जेंटीना के कार्यकर्ता की मृत्यु पर शोक व्यक्त करते हुए संदेश जारी किया: "हम प्रभु से उसके परिवार और दोस्तों के लिए सांत्वना मांगते हैं और मैड्रेस डे प्लाजा डे मायो एसोसिएशन को अपनी संवेदनाएं भी भेजते हैं।"

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

22 November 2022, 15:13