खोज

संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस   (VATICAN MEDIA Divisione Foto)

हमारे लिए प्रभु की सबसे बड़ी इच्छा क्या है?

काथलिक कलीसिया के इतिहास में 60 वर्षों पहले एक ऐसी महासभा आयोजित की गई थी जिसने कलीसिया को अपने स्वभाव और स्वरूप को अच्छी तरह समझने में मदद दी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटकिन सिटी, बुधवार, 12 अक्तूबर 2022 (रेई) ˸ काथलिक कलीसिया के इतिहास में 60 वर्षों पहले एक ऐसी महासभा आयोजित की गई थी जिसने कलीसिया को अपने स्वभाव और स्वरूप को अच्छी तरह समझने में मदद दी।  

संत पापा ने इसी बात पर प्रकाश डालते हुए 12 अक्टूबर के ट्वीट संदेश में लिखा, "कलीसिया˸ माता एवं दुल्हिन के रहस्य में प्रवेश कर, आइये हम भी संत जॉन 23वें के साथ कहें ˸ गौदेत मातेर एक्लेसिया अर्थात् माता कलीसिया आनन्द मनाये। कलीसिया को आनन्द मनाना है। यदि वह आनन्द नहीं मना सकती है तो वह अपने आपको ही इन्कार कर देगी, क्‍योंकि वह उस प्रेम को भूल जाएगी जिससे वह उत्‍पन्न हुई है।

दूसरा ट्वीट

दूसरे ट्वीट संदेश में संत पापा ने कहा, "हमारे लिए प्रभु की एक बड़ी इच्छा है – कि हम उनके जीवन के सहभागी बनें। उनके साथ वार्ता करने के द्वारा, हम समझना सीख सकते हैं कि हम अपने जीवन से सचमुच क्या चाहते हैं।" 

 

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

12 October 2022, 17:00