खोज

फ्राँस के राष्ट्रपति इम्मानुेल माक्रों के साथ पोप फ्राँसिस फ्राँस के राष्ट्रपति इम्मानुेल माक्रों के साथ पोप फ्राँसिस  (VATICAN MEDIA)

पोप फ्राँसिस ने फ्राँस के राष्ट्रपति का वाटिकन में स्वागत किया

संत पापा फ्राँसिस ने सोमवार को फ्राँस के राष्ट्रपति इम्मानुएल मैक्रोन से वाटिकन में मुलाकात की, जिन्होंने दुनिया में खासकर, यूक्रेन में बढ़ रहे युद्ध के मद्देनजर शांति को बढ़ावा देने की इच्छा पर चर्चा की। राष्ट्रपति मैक्रों की पोप फ्राँसिस के साथ यह तीसरी मुलाकात है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 25 अक्टूबर 2022 (रेई) ˸ संत पापा फ्राँसिस ने फ्राँसीसी राष्ट्रपति इम्मानुएल मैक्रों का सोमवार को वाटिकन में स्वागत किया। यह एक व्यक्तिगत मुलाकात थी जो एक घंटे तक चली।

यूक्रेन में युद्ध

वाटिकन प्रेस कार्यलय द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि दोनों के बीच वार्ता सौहार्दपूर्ण रही जिसमें उन्होंने यूक्रेन में जारी युद्ध पर विशेष ध्यान दिया।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि "वाटिकन राज्य सचिवालय में सम्पन्न इस सौहार्दपूर्ण मुलाकात में दोनों नेताओं ने अंतरराष्ट्रीय मामलों पर विचार किया, और यूक्रेन में जारी युद्ध पर चर्चा करते हुए उन्होंने मानवीय परिस्थिति पर विशेष चिंता व्यक्त की।"

बातचीत में काकेशस, मध्यपूर्व और अफ्रीका पर भी ध्यान दिया गया।  

पोप फ्राँसिस से मुलाकात करने के बाद फ्राँस के राष्ट्रपति ने वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन, वाटिकन विदेश सचिव महाधर्माध्यक्ष पौल रिचार्ड गल्लाघर से भी मुलाकातें कीं।

उपहारों का आदान-प्रदान

प्रेरितिक प्रासाद में संत पापा एवं राष्ट्रपति इम्मानुएल माक्रों के बीच मुलाकात करीब एक घंटा तक चली जहाँ उन्होंने परम्परा के अनुसार एक-दूसरे को उपहार भेंट किये।

वाटिकन सूत्रों के अनुसार संत पापा फ्राँसिस ने राष्ट्रपति को एक कांस्य पदक के साथ अपने कुछ दस्तावेज भेंट किये। संत पापा के दस्तावेजों में, इस साल के लिए शांति संदेश, मानव बंधुत्व पर दस्तावेज और कोविड 19 महामारी के दौरान 27 मार्च 2020 पर स्तात्सियो ओरबिस की पुस्तक थीं।

फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने पोप को जर्मन दार्शनिक इमैनुएल कांट की पुस्तक फॉर परपेचुअल पीस (स्थायी शांति) का फ्रेंच में पहला संस्करण भेंट किया।

फ्रांस के राष्ट्रपति ने इससे पहले 26 नवम्बर 2021 को और 26 जून 2018 को संत पापा फ्राँसिस से मुलाकातें की थीं।

उन अवसरों पर उन्होंने शरणार्थियों एवं अप्रवासियों की स्थिति, जलवायु परिवर्तन और मध्यपूर्व पर चर्चा की थीं।

इसके अलावा, संत पापा फ्राँसिस ने फ्राँस के राष्ट्रपति माक्रों से कई बार फोन द्वारा भी सम्पर्क किया है। 2020 में नीस के शहर के नोट्रडम गिरजाघर में चाकू द्वारा हमला किये जाने से तीन लोगों की मौत हो गई थी, तब संत पापा ने उनके प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की थी। फ्रांस के राष्ट्रपति ने 2021 में इराक में अपनी प्रेरितिक यात्रा के महत्व पर जोर देने के लिए पोप से संपर्क किया था, जो युद्धग्रस्त मध्य पूर्वी देश में पहली यात्रा करनेवाले थे।  

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

25 October 2022, 11:16