खोज

2021 में रतजिंगर पुरस्कार के विजेता 2021 में रतजिंगर पुरस्कार के विजेता  (Vatican Media)

2022 रतजिंगर पुरस्कार, ईशशास्त्री एवं कानून के प्रोफेसर को

मिखेल फेडू एस.जे और प्रोफेसर जोसेफ एच.एच वीलर, रतजिंगर पुस्कार 2022 के विजेता होंगे। इस प्रतिष्ठित पुरस्कार से उन विद्वानों को सम्मानित किया जाता है जो ईशशास्त्र के क्षेत्र में वैज्ञानिक शोध के लिए अपनी विशेष क्षमता दिखलाते हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

अगले माह 1 दिसम्बर को संत पापा फ्राँसिस मिखेल फेडू एस.जे और प्रोफेसर जोसेफ एच.एच वीलर को वाटिकन के क्लेमेंटीन सभागार में आयोजित एक कार्यक्रम में रतजिंगर पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया जाएगा।

प्रतिष्ठित पुरस्कार रत्ज़िंगर फाउंडेशन की ओर से - "उन विद्वानों को दिया जाता है जो अपने प्रकाशनों और वैज्ञानिक अनुसंधान में अच्छी सफलता हासिल करते हैं"।

रत्ज़िंगर पुरस्कार की स्थापना 2011 में, उन विद्वानों को सम्मानित करने के लिए हुई है जिनका कार्य ईशशास्त्र में प्रामाणिक और सार्थक योगदान प्रदर्शित करता है, जैसा कि पोप बेनेडिक्ट सोलहवें ने अपने पूरे जीवनकाल में किया था। पिछले कुछ वर्षों में, शिक्षाविदों, संगीतकारों, कलाकारों और लेखकों को भी पुरस्कार दिया गया है जिन्होंने ख्रीस्तीय धर्म से संबंधित कला की दुनिया में उल्लेखनीय योगदान दिया है।

मिखेल फेडू

मिखेल फेडू एर येसु समाजी पुरोहित हैं जिनका जन्म फ्राँस के लेयोन में 1952 में हुआ था। वे पेरिस में 1987 से डोगमाटिक थियोलोजी और पट्रिस्टिक पढ़ा रहे हैं। जहाँ उन्होंने ईशशास्त्र विभाग में डीन और अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है।   

प्रोफेसर फेडू वर्तमान में ख्रीस्तीय एकतावर्धक वार्ता की गतिविधियों से जुड़े हैं। वे कई ईशशास्त्रीय संगठनों और आयोगों के सदस्य हैं जो लुथेरनों एवं ऑर्थोडॉक्स ख्रीस्तियों के साथ संवाद पर ध्यान केंद्रित करते। उन्होंने अनेक किताबें भी लिखी हैं।

जोसेफ एच.एच वीलर

विश्वविद्यालयों और अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों में कानून के एक यहूदी प्रोफेसर, जोसेफ एचएच वीलर एक अमेरिकी नागरिक हैं, जिनका जन्म 1951 में दक्षिण अफ्रीका में हुआ था। अपनी विशिष्ठता के कारण उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका और अन्य जगहों के कई संस्थानों में कार्य किया है। वे वर्तमान में विश्वविद्यालय के प्रोफेसर के साथ-साथ न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ लॉ में यूरोपीय संघ जीन मोनेट चेयर के धारक, हॉसर ग्लोबल लॉ स्कूल प्रोग्राम के निदेशक और यूरोप के कॉलेज में प्रोफेसर हैं।

प्रोफेसर वीलर संवैधानिक, अंतर्राष्ट्रीय और यूरोपीय कानून एवं मानवाधिकारों के बारे में कई लेखों के लेखक हैं। इटली में उनकी अच्छी पहचान है क्योंकि उन्होंने यूरोपीय मानवाधिकार न्यायालय के समक्ष लाए गए मामले का प्रतिनिधित्व किया था।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

08 October 2022, 16:14