खोज

डेलॉयट ग्लोबल के सलाहकारों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस डेलॉयट ग्लोबल के सलाहकारों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस  (Vatican Media)

डेलोईट से पोप ˸ व्यवसाय संकट से निपटने में मदद कर सकता है

डेलॉयट ग्लोबल के सलाहकारों से बात करते हुए, संत पापा फ्राँसिस ने कहा कि वैश्विक स्तर पर संकट से निपटने में व्यवसाय एक शक्तिशाली भूमिका निभा सकता है। उन्होंने उनसे सभी लोगों की भलाई को बढ़ावा देने में मदद करने के लिए प्रतिबद्ध 'अभिन्न सलाहकार' होने का आह्वान किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 22 सितम्बर 2022 (रेई) ˸ संत पापा फ्राँसिस ने बृहस्पतिवार को डेलॉयट ग्लोबल की सभा के 600 प्रतिभागियों से वाटिकन के संत पौल षष्ठम सभागार में मुलाकात की। डेलॉइट दुनिया भर में तथाकथित 'बिग फोर' अंतरराष्ट्रीय लेखा और बहु-सेवा कम्पनी में से एक है, और वैश्विक स्तर पर लगभग 350,000 लोगों को रोजगार देता है।

संत पापा ने उन्हें सम्बोधित कर कहा, "आज दुनिया बिगड़ती पर्यावरणीय परिस्थितियों से जूझ रही है। साथ ही, कई लोग और सामाजिक समूह, पोषण, स्वास्थ्य, शिक्षा और अन्य मौलिक अधिकारों की कमी के कारण मर्यादाहीन तरीके से जी रहे हैं।" उन्होंने गौर किया कि यद्यपि हमारा मानव परिवार वैश्वीकृत है और परस्पर जुड़ा हुआ है, गरीबी, अन्याय और असमानताएँ बनी हुई हैं।

अधिक न्यायपूर्ण और मानवीय दुनिया को बढ़ावा देने के लिए तीन सुझाव

सलाहकार, प्रबंधक और अनुभवी पेशेवर किस तरह इस स्थिति को बदलने या कम से कम ठीक करने में मदद कर सकते हैं? वे अधिक मानवीय, न्यायपूर्ण और भ्रातृत्वपूर्ण दुनिया बनाने हेतु अपने काम को कैसे व्यवस्थित कर सकते हैं? इसके लिए संत पापा ने उन्हें तीन सुझाव दिये -  

संत पापा ने कहा कि वे एक सकारात्मक छाप छोड़ें एवं समग्र मानव विकास की ओर बढ़ें। अपने ज्ञान, अनुभव, क्षमता और संबंधों के विशाल नेटवर्क द्वारा एक विशाल "गैर-भौतिक निधि" तैयार करें, जो उद्यमियों, बैंकरों, प्रबंधकों और लोक प्रशासकों को उनकी स्थितियों को समझने, भविष्य की कल्पना करने और निर्णय लेने में मदद करेगा। संत पापा ने कहा कि इसके द्वारा वे उन्हें निर्णय लेने में मदद देंगे।

सुसमाचारी दृष्टिकोण के अनुरूप

दूसरी सलाह के रूप में संत पापा ने उन्हें अपनी सांस्कृतिक जिम्मेदारी को लेने और उसे पूरा करने को कहा, जो उनकी बुद्धिमत्ता और संबंधों की समृद्धि से उत्पन्न होती है। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक जिम्मेदारी को पूरा करने के लिए उन्हें पर्याप्त पेशेवर स्तर और एक मानवशास्त्रीय एवं नैतिक मानक सुनिश्चित करना है, जो उन्हें उन प्रतिक्रियाओं का सुझाव देने में सक्षम बनाता है जो अर्थव्यवस्था और समाज की एक सुसमाचारी दृष्टिकोण के अनुरूप है। साथ ही, उन्होंने कहा कि दूसरों के साथ मुलाकातों द्वारा संस्कृति को नये अनुभवों के लिए खुला होने हेतु प्रोत्साहन देना चाहिए।

सामाजिक न्याय का विकास ही शांति का नया नाम

तीसरा सुझाव है विविधता को बढ़ाना। संत पापा ने कहा, "सभी मानव संगठनों - संस्थानों, व्यवसायों, बैंकों, संघों, आंदोलनों - को अपनी पहचान को सुरक्षित रखने और विकसित करने में सक्षम होने का अधिकार है, अगर ईमानदारी और सही तरीके से नेतृत्व किया जाए।" उन्होंने कहा कि यहीं हम "उद्यमी जैव विविधता", उद्यम की स्वतंत्रता और ग्राहकों, उपभोक्ताओं, बचतकर्ताओं और निवेशकों के लिए पसंद की स्वतंत्रता की गारंटी के बारे में बात कर सकते हैं। क्योंकि उद्यमशीलता की जैव विविधता भी स्थिरता, संतुलन और मानव समृद्धि की एक अनिवार्य शर्त है।

संत पापा ने आधुनिक विश्व की समस्याओं पर गौर करते हुए कहा कि हम लगातार संकटों का सामना कर रहे हैं। हमने 2007 के वित्तीय संकट से निपटना समाप्त ही नहीं किया था कि महामारी और अब यूक्रेन में युद्ध ने अपने वैश्विक प्रभाव के साथ संकट में डाल दिया है। जलवायु परिवर्तन के प्रभाव का सामना भी ग्रह को करना पड़ रहा है क्रूर और छिपे युद्ध विभिन्न क्षेत्रों में लड़े जा रहे हैं और इससे कारण लाखों को अपने घरों से विस्थापित हो रहे हैं। इसके लिए संत पापा ने सामाजिक न्याय में बढ़ने पर जोर दिया तथा संत पौल छटवें के शब्दों में कहा कि सामाजिक न्याय का विकास ही शांति का नया नाम है।

"अभिन्न सलाहकारों" की आवश्यकता

इस कठिन परिस्थिति में पेशेवर सलाहकार क्या कर सकते हैं? उन्होंने कहा कि वे एक अभिन्न परिप्रेक्ष्य और दृष्टिकोण के साथ अपने विश्लेषण एवं प्रस्तावों को व्यवस्थित कर एक बड़ा काम कर सकते हैं। दरअसल, लोगों के लिए सम्मानजनक रोजगार, हमारे सामान्य घर की देखभाल, आर्थिक और सामाजिक मूल्य एवं समुदायों पर सकारात्मक प्रभाव सभी परस्पर जुड़े हुए हैं। संत पापा ने सलाहकारों को "अभिन्न सलाहकार" कहा जो समस्याओं और उनके संबंधित समाधानों के बीच संबंधों को ध्यान में रखते हुए संबंधपरक मानव विज्ञान की अवधारणा को गले लगाते हैं।

संत पापा ने उन्हें प्रोत्साहन देते हुए कहा, "मैं आपको "अभिन्न सलाहकार" बनने के लिए प्रोत्साहित करता हूँ ताकि इस ग्रह पर हमारे जीने के तरीके को फिर से उन्मुख करने में सहयोग दिया जा सके, जिसे हमने जलवायु और असमानता दोनों ही रूपों में क्षतिग्रस्त कर दिया है।"

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

22 September 2022, 17:52