खोज

यूक्रेन के खारकीव में ध्वस्त घरों को देखते राहत कर्मी यूक्रेन के खारकीव में ध्वस्त घरों को देखते राहत कर्मी  (AFP or licensors)

पोप ˸ यूक्रेनी अब भी एक "क्रूर युद्ध" को झेल रहे हैं

संत पापा फ्राँसिस ने यूक्रेन में जारी युद्ध के मद्देनजर प्रार्थना जारी रखने का आह्वान किया है, जब रूस यूक्रेन पर करीब छः महीनों से हमले कर रहा है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

यूक्रेन, बृहस्पतिवार, 11 अगस्त 2022 (रेई) ˸ वाटिकन के संत पौल षष्ठम सभागार में बुधवारीय आमदर्शन समारोह के दौरान उपस्थित तीर्थयात्रियों को सम्बोधित करते हुए संत पापा ने पुनः एक बार यूक्रेन के लोगों की याद की तथा कहा, "वे इस क्रूर युद्ध से अब भी पीड़ित हैं।"

उन्होंने आप्रवासियों के लिए भी प्रार्थना करने का आह्वान किया तथा सभी से आग्रह किया कि वे अपने परिवारों एवं समाज में शांति स्थापित करें।

"मैं सभी से आग्रह करता हूँ कि परिवार में, कलीसिया में और समाज में एकता एवं शांति का निर्माण करें। कलीसिया और परिवार दोनों में शांतिनिर्माता बनना और एकता बनाये रखना आसान नहीं है किन्तु हमें इसे बनाना है क्योंकि यह महत्वपूर्ण कार्य है।

यूक्रेन के लोगों के प्रति संत पापा का सामीप्य

लगभग छह महीने की नाकाबंदी के बाद, काला सागर के माध्यम से यूक्रेनी खाद्य पदार्थों के निर्यात की अनुमति देने के लिए तुर्की द्वारा किए गए सौदे के बाद, रविवार को संत पापा फ्राँसिस ने यूक्रेन के तट से अनाज के जहाज का स्वागत किया था।  

देवदूत प्रार्थना में संत पापा ने कहा था कि यह कदम दिखलाता है कि "वार्ता करना एवं ठोस परिणाम प्राप्त करना संभव है, जिसमें सभी का लाभ है और इसलिए, यह आशा का चिन्ह प्रदान करता है कि उचित एवं स्थायी शांति प्राप्त की जा सकती है।"

संत पापा की कीएव एवं मोस्को यात्रा करने की चाह

24 फरवरी को रूसी हमले के बाद से ही संत पापा फ्राँसिस ने असंख्या बार यूक्रेन के लोगों के प्रति अपना सामीप्य व्यक्त किया है तथा कीएव जाकर युद्ध से प्रभावित जनता के बीच सांत्वना एवं आशा लाने की स्पष्ट इच्छा व्यक्त की है। उन्होंने उस खतरे की भी चेतावनी दी है कि दुनिया धीरे से अपनी नजर इस युद्ध से हटा न ले।

उसी तरह, संत पापा ने कहा है कि वे मोस्को जाना चाहते हैं ताकि युद्ध के अंत के लिए आग्रह कर सकें। हालांकि, वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन ने हाल में दिए एक साक्षात्कार में, रोम और मोस्को के बीच वार्ता के मुद्दे को कठिन कहा है तथा बतलाया है कि रूस जाने के लिए संत पापा को स्पष्ट निमंत्रण भी नहीं मिला है।

युद्ध का 168वाँ दिन

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध के 168वें दिन बाद भी निकट भविष्य में युद्ध समाप्त होने के कोई चिन्ह नहीं दिखाई पड़ रहे हैं। बुधवार को, यूक्रेन के केंद्रीय निप्रॉपेट्रोस क्षेत्र में रूसी गोलाबारी की सूचना मिली थी, जिसमें रात भर कम से कम 13 लोग मारे गए थे।  

यूक्रेन ˸ परमाणु ऊर्जा संयंत्र में तनाव बढ़ने के साथ लाखों लोगों का पलायन

इस बीच, क्रीमिया के रूस से जुड़े क्षेत्र में एक सैन्य हवाई अड्डे पर मंगलवार को हुए भीषण विस्फोटों में 13 लोग घायल हो गए और एक व्यक्ति की मौत हो गई। रूसी अधिकारियों के अनुसार, नोवोफेदोरिवका के निकट हवाई क्षेत्र 'साकी' में विस्फोटित विमानन गोला बारूद द्वारा अचानक विस्फोट हुआ, हालांकि, यूक्रेनी सरकार के एक अधिकारी ने बुधवार को वाशिंगटन पोस्ट को बताया कि विस्फोट यूक्रेनी विशेष बलों का काम था।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

11 August 2022, 18:01