खोज

संत पापा आल्फा कैम्प के युवाओं संग संत पापा आल्फा कैम्प के युवाओं संग   (Vatican Media)

आल्फा यूथ कैम्प के युवाओं से सन्त पापा फ्राँसिस

इटली तथा यूरोप के अन्य देशों से सन्त पापा फ्राँसिस के साक्षात्कार हेतु रोम पहुँचे आल्फा यूथ कैम्प के युवाओं को सन्त पापा ने सम्बोधित किया तथा इन युवाओं के साथ आये पुरोहितों, शिक्षकों एवं आल्फा के निर्देशकों की पहल की सराहना की।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 5 अगस्त 2022 (रेई, वाटिकन रेडियो): इटली तथा यूरोप के अन्य देशों से सन्त पापा फ्राँसिस के साक्षात्कार हेतु रोम पहुँचे आल्फा यूथ कैम्प के युवाओं को सन्त पापा ने सम्बोधित किया तथा इन युवाओं के साथ आये पुरोहितों, शिक्षकों एवं आल्फा के निर्देशकों की पहल की सराहना की।

मानव हृदय की प्यास

सन्त पापा ने युवाओं से कहा कि वे एक ऐसी दुनिया में पैदा हुए हैं जिसे हम "धर्मनिरपेक्ष" कहते हैं, जिसका अर्थ है कि हमारी संस्कृति इस दुनिया की वास्तविकताओं से अधिक और इसके पवित्र आयाम से कम प्रभावित होती है। तथापि, उन्होंने कहा कि मानव हृदय की गहराई में हमेशा कुछ विशाल और कुछ अनन्त की प्यास बनी रहती है।

सन्त पापा ने कहा कि युवा लोग भी, जो वर्तमानकालीन जानकारी के साथ बड़े हुए हैं, हर युग में उठने वाले महान प्रश्न पूछ रहे हैं। हम कहां से आते हैं? जो कुछ भी मौजूद है उसके मूल में क्या है? मेरे जीवन का अर्थ क्या है? लेकिन यह भी: दुनिया में इतना दुख क्यों है? छोटे बच्चे और निर्दोष लोग क्यों पीड़ित होते हैं? सन्त पापा ने कहा कि प्रभु येसु ने भी उनका अनुसरण करने आये दो युवाओं से सवाल किया था कि वे क्या खोज रहे थे? सन्त पापा ने कहा कि यदि आप इस प्रकार का सवाल करते हैं तो आपके मन में सत्य की तलाश करने की इच्छा है।

कनाडा के मूलनिवासी आदर्श

कनाडा में अपने अनुभवों को साझा करते हुए सन्त पापा फ्राँसिस ने कहा कि कनाडा के मूलनिवासी आधुनिक एवं धर्मनिर्पेक्ष युग में जी रहे हैं, फिर भी उन्होंने अपनी नेक परम्पराओं और अपने वंशजों के मूल्यों को बरकरार रखा है। उन्होंने कहा कि मूलनिवासी हमारे आदर्श हैं, इनका उदाहरण ग्रहण कर हम भी धर्म के प्रति उदासीन होते विश्व में मानवीय मूल्यों की ज्योति जगा सकते हैं।

प्रभु येसु मसीह के अनुसरण का  सन्त पापा ने युवाओं को परामर्श दिया और कहा कि येसु के अनुसरण का अर्थ है स्वार्थ से परे जाना और अपने आप से बाहर निकल कर ज़रूरतमन्द की सहायता करना। सन्त पापा ने कहा कि आपके कैम्प का नाम आल्फा है जिसका अर्थ होता है, जन्म, आरम्भ, नवजीवन का नया उषाकाल। उन्होंने कहा, हमारे आल्फा प्रभु येसु ख्रीस्त हैं उनके सुसमचार के अनुकूल जीवन यापन कर हम अपने जीवन को साकार एवं सार्थक बनायें।   

 

 

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

05 August 2022, 12:31