खोज

इटली के महान पत्रकार एवं राजनितिज्ञ स्कालफरी नहीं रहे, 14.07.2022 इटली के महान पत्रकार एवं राजनितिज्ञ स्कालफरी नहीं रहे, 14.07.2022  (Francesca Marchi)

सन्त पापा फ्राँसिस ने याद किया पत्रकार स्कालफरी को

इताली दैनिक ला रिपुब्लिका के संस्थापक इटली के विख्यात पत्रकार यूजेनियो स्कालफरी के निधन की ख़बर सुनने के उपरान्त सन्त पापा फ्राँसिस ने हार्दिक संवेदना व्यक्त की तथा स्कालफरी के साथ हुई बातचीत को याद किया।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 15 जुलाई 2022 (रेई, वाटिकन रेडियो): इताली दैनिक ला रिपुब्लिका के संस्थापक इटली के विख्यात पत्रकार यूजेनियो स्कालफरी के निधन की ख़बर सुनने के उपरान्त सन्त पापा फ्राँसिस ने हार्दिक संवेदना व्यक्त की तथा स्कालफरी के साथ हुई बातचीत को याद किया।

सन्त पापा के साथ बातचीत

2013 में सन्त पापा फ्राँसिस के परमाध्यक्षीय चुनाव के तुरन्त बाद यूजेनियो स्कालफरी के साथ उनकी बातचीत हुई थी जिसमें सन्त पापा ने विश्वास एवं धर्मनिर्पेक्षता के बीच विद्यमान सम्बन्धों पर प्रकाश डाला था।

स्कालफरी को सीधे जवाब देते हुए, सन्त पापा फ्राँसिस ने 4 सितंबर 2013 को ला रिपब्लिका में अख़बार के निर्माता को लिखा था: "मेरा यकीन मानें, कलीसिया के पास, अपनी समस्त मन्दताओं, बेवफाईयों, त्रुटियों और कमज़ोरियों के बावजूद जो कुछ है वह है प्रभु येसु मसीह की गवाही। येसु की गवाही देने के सिवाय कलीसिया का कोई और अर्थ अथवा प्रयोजन नहीं है।"

98 वर्षीय पत्रकार यूजेनियो स्कालफरी का निधन गुरुवार को हो गया था। अपने करियर की शुरुआत से ही,  स्कालफरी संचार की दुनिया में एक महत्वपूर्ण नायक रहे थे। स्कालफरी द्वारा निर्देशित इटली का साप्ताहिक एल'एस्प्रेसो और विशेष रूप से दैनिक समाचार पत्र ला रिपब्लिका ने उन्हें मीडिया जगत में लोकप्रिय बना दिया था।  ला रिपब्लिका की स्थापना स्कालफरी ने 1976 में की थी तथा 20 वर्षों तक इसके सम्पादक भी रहे थे।

गुरुवार को जारी एक वकतव्य में वाटिकन प्रेस कार्यालय के निर्देशक मातेओ ब्रूनी  ने कहा कि सन्त पापा फ्राँसिस ने गहन दुख के साथ "अपने मित्र के निधन की ख़बर को जाना।" वकतव्य में कहा गया, "संत पापा फ्राँसिस स्कालफरी के साथ वर्षो के अन्तराल में हुई "मानव जाति के अंतिम प्रश्नों पर गूढ़ बातचीत एवं बैठकों की स्मृति को स्नेह से संजोते हैं, और प्रार्थना में दिवंगत आत्मा को प्रभु ईश्वर की करुणा के सिपुर्द करते हैं, ताकि प्रभु उन्हें चिरशान्ति  प्रदान करें तथा उनके प्रियजनों एवं मित्रों को सान्तवना प्रदान करें।"   

यूजेनियो स्कालफरी को न केवल एक पत्रकार के रूप में, बल्कि संस्कृति के एक सर्वांगीण व्यक्ति के रूप में याद किया जाता है, जिन्होंने पत्रकारिता के अलावा कई पुस्तकों भी लिखी थी, जिनमें 1998 में प्रकाशित इल लाबिरिन्तो ("द लेबिरिंथ) सर्वाधिक विख्यात हुई।

शोक संदेश

पत्रकारिता, संस्कृति और राजनीति के क्षेत्रों में माहिर संचारक एवं मीडिया नेता स्कालफरी के निधन पर कई अँचलों से तत्काल शोक की अभिव्यक्ति की गई। संदेशों में, सर्वप्रथम इटली के राष्ट्रपति सर्जियो मातेरेल्ला का संदेश था, जिन्होंने एक बयान में कहा कि वे "पत्रकार, संपादक, निबंधकार, राजनीतिज्ञ तथा हमारे गणतंत्रीय इतिहास के स्पष्ट और भावुक गवाह यूजेनियो स्कालफरी के निधन से दुखी हैं।" उन्होंने कहा कि स्कालफरी "पत्रकारों, बुद्धिजीवियों, राजनेताओं और बहुत बड़ी संख्या में पाठकों की पीढ़ियों के लिए हमेशा एक आकर्षक संदर्भ बिंदु रहेंगे।"

राष्ट्रपति मात्तारेल्ला ने कहा, "हमेशा समाज में नैतिकता और सार्वजनिक जीवन में नवीनीकरण के एक आश्वस्त समर्थक, उन्होंने हाल के दिनों में, अपनी सामान्य प्रभावशीलता और प्रतिबिंब की गहराई के साथ मानव जाति के महान अस्तित्व संबंधी विषयों के लिए खुद को समर्पित कर दिया था।"

काथलिक जगत से सन्त पापा फ्राँसिस के संदेश के अतिरिक्त संस्कृति सम्बन्धी परमधर्मपीठीय परिषद के अध्यक्ष कार्डिनल जियान फ्राँको रवासी ने भी एक ट्वीट प्रकाशित कर स्कालफरी के महान योगदान को याद किया। उन्होंने लिखा, "मैं ला रिपब्लिका के संस्थापक यूजेनियो स्कालफरी को गहन सम्मान और मैत्री की भावना में याद करता हूं।"

कार्डिनल महोदय ने उन्हें "धर्मनिरपेक्ष संस्कृति के नायक" के रूप में याद करते हुए कहा, "मैं 2013 में स्कालफरी के साथ हुए भावुक संवाद को याद करता हूँ, जो सूचना एवं प्रसारण के समक्ष प्रस्तुत चुनौतियों एवं उसके भविष्य पर की गई एक यथार्थ वार्ता थी।"

इसी बीच, चिविल्ता काथोलिका के निर्देशक, येसु धर्मसमाज के फादर अन्तोनियो स्पादारो ने स्कालफरी के निधन पर कहा, "मैं हमेशा ही कलीसिया के परमाध्यक्ष के साथ उनकी बातचीत की शैली से प्रभावित हुआ हूं।"

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

15 July 2022, 11:00