खोज

एडमोंटन हवाईअड्डे में संत पापा का स्वागत एडमोंटन हवाईअड्डे में संत पापा का स्वागत  (AFP or licensors)

संत पापा की प्रायश्चित तीर्थयात्रा का 'महत्वपूर्ण उद्देश्य'

कनाडा में मूलवासी संत पापा फ्राँसिस के पश्चाताप और सुलह के संदेश का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। संत पापा कनाडा में अपनी "प्रायश्चित तीर्थयात्रा" शुरू कर रहे हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

एडमोंटन, सोमवार  25 जुलाई 2022 (वाटिकन न्यूज)  : रविवार की सुबह जब संत पापा फ्राँसिस कनाडा पहुँच रहे थे, तब एडमोंटन शहर के पवित्र हृदय महागिरजाघऱ में मूलवासी रविवारीय मिस्सा समारोह मना रहे थे। धर्म-विधि की शुरुआत स्मजिंग समारोह के साथ हुई - एक मूलवासियों की परंपरा जिसमें औषधीय पौधों को प्रतीकात्मक सफाई के रूप में जलाना शामिल है और मूलवासी वाद्य- संगीत सहित एक जुलूस के साथ पवित्र मिस्सा के कुछ भाग क्री भाषा में कहा गया।

पवित्र हृदय पल्ली के पल्ली पुरोहित फादर सुसाई जेसु, ओएमआई, ने व्यक्तिगत रूप से उपस्थित काथलिकों और देश भर में प्रसारित ऑन लाइन दूर से देख रहे सभी विश्वासियों स्वागत किया। उन्होंने विश्वासियों को याद दिलाया कि "स्वागत और समावेश" समुदाय के मूल्यों के केंद्र में हैं।

 पवित्र हृदय पल्ली के लोग सोमवार दोपहर को संत पापा फ्राँसिस का अपनी पल्ली में बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। रविवार सुबह, उत्साह और खुशी की भावना एक स्पष्ट झरक रही थी। लेकिन जैसा कि फादर मार्क ब्लूम ने मिस्सा में अपने प्रवचन में बताया, कि संत पापा की कनाडा आने की खुशी के साथ-साथ, इस यात्रा का एक "गंभीर उद्देश्य" भी है: काथलिक कलीसिया के परमधर्मगुरु कनाडा में एक मिशन पर आ रहे हैं, वे कलीसिया के सदस्यों और संस्थानों द्वारा मूलवासियों को दिये गये नुकसान के लिए प्रायश्चित करने आ रहे हैं।

 पवित्र हृदय गिरजाघर, एडमोंटन

फादर ब्लूम ने आवासीय स्कूल प्रणाली के इतिहास में कलीसिया की भूमिका को स्वीकार किया कि कलीसिया मूलवासी माता-पिता द्वारा अपने बच्चों को "अच्छी चीजें" पारित करने के प्रयासों में हस्तक्षेप करती थी। उन्होंने बच्चों को उनके घरों और परिवारों से ले जाकर, उन्हें अपनी भाषा, ज्ञान, पारिवारिक जीवन, भूमि, आध्यात्मिकता और बहुत कुछ लेने के अवसर से वंचित कर दिया।

उसके लिए, कलीसिया क्षमा मांगती है और उन्होंने अपनी आशा व्यक्त की कि मूलवासियों के साथ चलकर, कलीसिया सुलह की प्रक्रिया में योगदान देने में सक्षम होगी जो आने वाले वर्षों में फल देगी।

यह एक संदेश है जो संत पापा फ्राँसिस के शब्दों को प्रतिध्वनित करता है, जिन्होंने इस वर्ष की शुरुआत में रोम में मूलवासियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक करते हुए, उन घटनाओं और प्रथाओं में काथलिकों की भूमिका के लिए अपना "दुख और शर्म" व्यक्त किया, जिन्होंने स्थायी घाव और आघात छोड़े हैं।

मूलवासियों के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए संत पापा ने कहा, "चंगाई की प्रभावी प्रक्रिया के लिए ठोस कार्रवाई की आवश्यकता होती है।" फिर, उन्होंने काथलिकों से "सत्य की पारदर्शी खोज की दिशा में कदम उठाने, सुलह और चंगाई को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाने" को कहा। "ये कदम एक यात्रा का हिस्सा हैं जो आपकी संस्कृति की पुन: खोज और पुनरोद्धार का पक्ष ले सकते हैं, जबकि कलीसिया प्यार, सम्मान और आपकी अपनी प्रामाणिक परंपराओं पर विशेष ध्यान देने में मदद करे। मैं आपको बताना चाहता हूँ कि कलीसिया आपके साथ खड़ी है और आपके साथ यात्रा जारी रखना चाहती है।"

इस सप्ताह के दौरान, कनाडा के मूलवासियों के बीच संत पापा की प्रायश्चित तीर्थयात्रा उन्हें एक पूर्व आवासीय विद्यालय, अल्बर्टा में लैक स्टे अन्ना तीर्थयात्रा मैदान और क्यूबेक में संत अन्ना डे ब्यूप्रे तीर्थालय और नुनावुत के क्षेत्र में इकालुइट में इनुइट समुदाय तक ले जाएगी। संत पापा आवासीय स्कूल के बचे लोगों और अन्य मूलवासियों से मिलेंगे और पश्चाताप की भावना में चंगाई और सुलह की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने का प्रयास करेंगे।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

25 July 2022, 15:57