खोज

डोनबास क्षेत्र में बमबारी डोनबास क्षेत्र में बमबारी  (AFP or licensors)

यूक्रेन में पीड़ित लोगों को याद करें, उनके लिए प्रार्थना करें, संत पापा

युद्धग्रस्त यूक्रेन में शांति के लिए अपनी 56वीं अपील करते हुए, संत पापा फ्राँसिस ने सभी से यूक्रेनी लोगों को याद करने, प्रार्थना करने और उनकी मदद करने का आग्रह किया, जो बहुत अधिक पीड़ित हैं" और "जो एक सच्ची शहादत को जी रहे हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 15 जून 2022 (वाटिकन न्यूज) : “याददाश्त फीकी पड़ जाती है, दर्द ठंडा होने का खतरा होता है।” संत पापा फ्राँसिस ने इस अभिव्यक्ति का उपयोग उस स्थिति का वर्णन करने के लिए किया, जो यूक्रेन की आबादी लगभग चार महीनों से अनुभव कर रही है। संत पापा ने बुधवारीय आम दर्शन समारोह के अंत में, इतालवी भाषी तीर्थयात्रियों को अभिवादन करते हुए कहा।

 संत पापा ने एक बार फिर युद्ध की त्रासदी को न भूलने की अपील करते हुए कहा, “कृपया, यूक्रेन में युद्ध पीड़ित लोगों को न भूलें। आइए, इसतरह जीने की आदत न डालें जैसे कि युद्ध दूर की बात थी। हमारी याद, हमारा स्नेह, हमारी प्रार्थना और हमारी मदद हमेशा उन लोगों के करीब है जो बहुत पीड़ित हैं और जो एक सच्ची शहादत को आगे बढ़ा रहे हैं।

युद्ध के अभ्यस्त न बनें

आइए, युद्ध की वास्तविकता के अभ्यस्त न हों। यह एक अवधारणा है जिसे संत पापा फ्राँसिस ने संघर्ष की शुरुआत के बाद से बार-बार दोहराया है। पिछले रविवार को संत पापा फ्राँसिस ने देवदूत प्रार्थना के बाद अभिवादन में, यूक्रेन में संघर्ष का सामना कर रही आबादी के लिए प्रार्थनाओं का आह्वान किया और विश्वासियों से आग्रह किया कि जो हो रहा है उसे न भूलें: युद्ध पीड़ित यूक्रेनी जनता हमेशा मेरे दिल में है। समय बीतने से हमारे दर्द और उन पीड़ित लोगों के लिए हमारी चिंता शांत नहीं होती है। कृपया इस दुखद वास्तविकता की आदत न डालें! इसे हमारे दिल में हमेशा रखें और हम शांति के लिए लगातार प्रार्थना करें।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

15 June 2022, 16:37