खोज

संत पापा फ्राँसिस ने  फ्रांस के नये राजदूत फ्लोरेंस मनजिन का प्रत्यय पत्र स्वीकार किया।  संत पापा फ्राँसिस ने फ्रांस के नये राजदूत फ्लोरेंस मनजिन का प्रत्यय पत्र स्वीकार किया।   (ANSA)

संत पापा ने फ्रांस के नये राजदूत का प्रत्यय पत्र स्वीकार किया

संत पापा फ्राँसिस ने 4 जून को वाटिकन के लिए फ्रांस के नये राजदूत फ्लोरेंस मनजिन का प्रत्यय पत्र स्वीकार किया। नवनियुक्त राजदूत फ्लोरेंस मनजिन ने 1983 में अफ्रीका एवं मालागासी के विदेश मंत्रालय में सेवा देते हुए अपना काम शुरू किया था।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 4 जून 2022 (रेई) ˸ उनका जन्म 14 दिसम्बर 1958 को पेरिस में हुआ था। उन्होंने इतिहास में स्नातक की पढ़ाई की है।

उन्होंने निम्नलिखित पदों पर अपनी सेवाएँ दी हैं ˸

- विदेश मंत्रालय (अफ्रीका एवं मालागासी विदेश मंत्रालय) – 1983 – 1986

- ऐवरी कोस्ट के राजदूतावास में, तीसरे सचिव – 1986 -1988

- ईकोल नेशनल प्रशासन – 1990 -1992

- यूरेका अंतरराष्ट्रीय कमिटी – 1992 -1993

- विदेश मंत्रालय (यूरोपीय सहयोग) – 1993- 1996

- यूरोपीय संघ के लिए फ्रांस के स्थायी प्रतिनिधि, प्रथम सचिव – 1996 -19997

- प्रधानमंत्री कार्यलय में तकनीकी सलाहकार – 1997 -2002

- विदेश मंत्रालय, यूरोपीय संघ के संस्थागत भविष्य पर मिशन के प्रभारी – 2002 -2004

- इटली के राजदूतावास में सलाहकार -2004-2008

- राजदूत – संयुक्त राष्ट्र के फ्रांस स्थित कार्यालय और वियेना में अंतरराष्ट्रीय संगठनों के स्थायी प्रतिनिधि – 2009-2012

- काईसे दे देपोत एत  कोनसिनेशन में संस्थागत संबंधों और यूरोपीय तथा अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के निदेशक – 2013 - 2014

- विदेश मंत्रालय, परियोजना प्रबंधक, आईटी सुरक्षा समन्वयक – 2014 -2015

- विदेशमंत्रालय, यूरोप महाद्वीप के निदेशक -2015 -2019

- पुर्तगाल के राजदूत – 2019 -2022

 

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

04 June 2022, 15:15