खोज

 संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में अपने बुधवारीय आमदर्शन समारोह मेंं बच्चों से मिलते हुए संत पापा फ्राँसिस संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में अपने बुधवारीय आमदर्शन समारोह मेंं बच्चों से मिलते हुए संत पापा फ्राँसिस  (Vatican Media)

हमें हमेशा लोगों को केंद्र में रखना चाहिए, संत पापा फ्राँसिस

संत पापा फ्राँसिस ने बुधवार को अनेक गतिविधियों को सम्पन्न किया। अनेक समूहों से मुलाकात की इसी के मद्देनजर संत पापा ने तीन ट्वीट किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 01 जून 2022 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन के संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में अपने बुधवारीय आमदर्शन समारोह में वृद्धावस्था के अर्थ और मूल्य पर धर्मशिक्षा दी। संत पापा फ्राँसिस कहते हैं कि बुजुर्ग हमें प्रभु के प्रति आशा से भरे समर्पण का एक बहुत ही आवश्यक उदाहरण पेश कर सकते हैं। इसी के संदर्भ में संत पापा ने ट्वीट संदेश में लिखाः

1ला ट्वीट : "बुजुर्ग, अपनी कमजोरी में, अन्य उम्र के लोगों को सिखा सकते हैं कि हम सभी को प्रभु से मदद मांगने के लिए खुद को प्रभु के सामने आत्मसमर्पण करने की जरूरत है, क्योंकि ईश्वर हमेशा हमारी आशा और हमारा सहारा हैं।" #कृपा का समय

संत पापा फ्राँसिस ने बुधवार को ही आमदर्शन समारोह से पहले वैश्विक शैक्षिक संधि पर एक सम्मेलन में प्रतिभागियों से मुलाकात की। संत पापा ने अपने संदेश में वैश्विक शैक्षिक संधि के कुछ मूलभूत सिद्धांतों, जैसे व्यक्ति की केंद्रीयता, सेवा में सर्वोत्तम ऊर्जा और शिक्षा पर रचनात्मक और जिम्मेदार निवेश पर चर्चा की। इसी के संदर्भ में संत पापा ने ट्वीट संदेश में लिखा:

2रा ट्वीट: "किसी भी शैक्षिक प्रक्रिया में हमें हमेशा लोगों को केंद्र में रखना चाहिए और जो अति महत्वपूर्ण है उसे लक्ष्य बनाना चाहिए, बाकी सब कुछ गौण है, लेकिन अपनी जड़ों और भविष्य की आशा को कभी नहीं छोड़ना चाहिए।" # वैश्विक शैक्षिक संधि

संत पापा फ्रांसिस ने अपने बुधवारीय आमदर्शन समारोह के अंत में यूक्रेन से अनाज के निर्यात की नाकाबंदी पर अपनी चिंता व्यक्त की और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से यूक्रेन के बंदरगाहों में चल रहे युद्ध के कारण रुके हुए गेहूं के मुद्दे का समाधान निकालने की अपील की। इसी संदर्भ में संत पापा ने ट्वीट संदेश में लिखाः

3रा ट्वीटः “यूक्रेन से अनाज के निर्यात पर रोक से लाखों लोगों की जान को खतरा है। मैं वैश्विक मानव अधिकार भोजन की गारंटी हेतु हार्दिक अपील करता हूं। कृपया, युद्ध के हथियार के रूप में गेहूं, मुख्य भोजन का प्रयोग न करें!"

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

01 June 2022, 16:40