खोज

संत पापा फ्राँसिस हाल के दिनों में आमदर्शन समारोह में बेंत की छड़ी का सहारा लेते हुए संत पापा फ्राँसिस हाल के दिनों में आमदर्शन समारोह में बेंत की छड़ी का सहारा लेते हुए   (AFP or licensors)

संत पापा ने अफ्रीका की यात्रा स्थगित करने के लिए माफी मांगी

संत पापा फ्राँसिस ने डी. आर. कोंगो के अधिकारियों एवं दक्षिणी सूडान में होने वाली अपनी प्रेरितिक यात्रा को स्थगित करने के लिए माफी मांगी और कहा कि जितनी जल्दी संभव हो वे वहाँ जाने की योजना बना रहे हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

संत पापा ने कोंगो और दक्षिणी सूडान के लोगों को सम्बोधित किया जहाँ वे प्रेरितिक यात्रा पर जाने वाले थे। उन्होंने कहा, "प्यारे मित्रो, बड़े खेद के साथ, पाँव की समस्या के कारण, मुझे आपके देशों में अपनी यात्रा स्थगित करनी पड़ रही है। जो जुलाई में होने वाली थी। इस यात्रा को स्थगित करते हुए मैं सचमुच खेद महसूस कर रहा हूँ मैं इसके लिए माफी मांगता हूँ। आइये हम एक साथ प्रार्थना करें ताकि ईश्वर की सहायता एंव चिकित्सा देखभाल के द्वारा मैं जितनी जल्दी हो सके आप लोगों के पास आ सकूँ।"

10 धर्मबहनों की धन्य घोषणा

देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने 10 नये धन्यों की याद करते हुए कहा, "कल पोलैंड के ब्रेस्लाविया में सिस्टर पास्कालिना जॉन और नौ शहीद धर्मबहनों की धन्य घोषणा हुई जो संत एलिजाबेथ की धर्मबहनों के धर्मसमाज की सदस्य थीं, वे द्वितीय विश्व युद्ध के अंत में ख्रीस्तीय विश्वास के प्रति घृणा के कारण मार डाली गये थीं। ये 10 धर्मबहनें खतरे को जानते हुए भी उन बुजुर्गों एवं बीमार लोगों के साथ रहीं जिनकी वे देखभाल करती थीं। ख्रीस्त के प्रति निष्ठा का उनका उदाहरण हम सभी को मदद दे, खासकर, विश्व के विभिन्न हिस्सों में अत्याचार से पीड़ित ख्रीस्तियों को, ताकि वे साहस के साथ सुसमचार का प्रचार कर सकें।" तब संत पापा ने ताली बाजी कर नये धन्यों को सम्मानित किया।

बाल मजदूरी

संत पापा ने बाल मजदूरी दिवस की भी याद करते हुए कहा, "आज विश्व बाल मजदूरी दिवस है। आइये हम इस पीड़ा को दूर करने के लिए एक साथ प्रयास करें, ताकि कोई भी बालक या बालिका अपने मौलिक अधिकार से वंचित न हो एवं काम करने के लिए न मजबूर किया जाए। काम के लिए शोषित नाबालिगों का मामला एक गंभीर सच्चाई है जो हम सभी को चुनौती देता है।"

यूक्रेन में युद्ध पीड़ितों के लिए प्रार्थना

इसके बाद संत पापा ने यूक्रेन में युद्ध पीड़ितों की याद की। युद्ध से प्रभावित यूक्रेन के लोगों की याद हमेशा मेरे दिल में है। समय बीतने से हमारा दर्द कम नहीं होता और उन पीड़ित लोगों के प्रति हमारी चिंता कम नहीं होती। कृपया इस संकटमय सच्चाई के आदी न हो जाएँ। हम इसे हमेशा अपने दिल में रखें और शांति के लिए प्रार्थना करें।       

तब संत पापा ने रोम तथा विश्व के विभिन्न हिस्सों से एकत्रित सभी तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों का अभिवादन किया।

और अंत में, अपने लिए प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगलकामनाएं अर्पित की।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

12 June 2022, 16:44