खोज

संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस   (Vatican Media)

एलजीबीटी से पोप ˸ 'ईश्वर पिता हैं जो किसी बच्चे को नहीं त्यागते

संत पापा फ्राँसिस ने जेस्विट फादर जेम्स मार्टिन के सवालों का उत्तर दिया है जिनकी प्रेरिताई एलजीबीटी समुदाय से जुड़ी है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 10 मई 2022 (रेई) ˸ संत पापा फ्राँसिस ने जेस्विट फादर जेम्स मार्टिन के सवालों का उत्तर दिया है जिनकी प्रेरिताई एलजीबीटी समुदाय से जुड़ी है।

एलजीबीटी काथलिकों के बीच प्रेरिताई करनेवाले जेस्विट फादर जेम्स मार्टिन के तीन सवालों का उत्तर देते हुए संत पापा ने बतलाया कि "ईश्वर का तरीका है सामीप्य, करूणा और कोमलता"।

फादर मार्टिन ने 5 मई को संत पापा के लिए एक पत्र लिखा था तथा उनसे एलजीबीटी काथलिकों द्वारा आमतौर पर पूछे जानेवाले अपने सवालों का उत्तर देने का आग्रह किया था।  

कुछ दिनों बाद उन्हें एक हस्तलिखित पत्र मिला जिसको फादर मार्टिन ने अपने वेबसाइट "आऊटरिच" में एक छोटे साक्षात्कार के रूप में प्रकाशित किया है।

संत पापा ने लिखा है, "आपके सवालों का, मेरे पास एक सरल जवाब है।"

आऊटरिट ˸ ईश्वर को जानने हेतु एलजीबीटी लोगों को आप क्या सबसे महत्वपूर्ण बात कहेंगे?

पोप फ्राँसिस ˸ ईश्वर पिता है और वे अपने किसी बच्चे को नहीं त्यागते। और ईश्वर का तरीका है सामीप्य, करूणा और कोमलता।" इसी रास्ते पर आप ईश्वर को पा सकते हैं।

आऊटरिच ˸ एलजीबीटी लोग कलीसिया को किस रूप में जान सकते हैं?

पोप फ्राँसिस ˸ मैं चाहता हूँ कि वे प्रेरित चरित की पुस्तक पढ़ें। वहां उन्हें जीवित कलीसिया की छवि मिलेगी।

आऊटरिच ˸ आप एक एलजीबीटी काथलिक से क्या कहेंगे जिसने कलीसिया में अस्वीकृति का अनुभव किया है?

पोप फ्राँसिस ˸ मैं उन्हें "कलीसिया की अस्वीकृति" के रूप में नहीं, बल्कि "कलीसिया में लोग" के रूप में पहचानना चाहता हूँ। कलीसिया माता है और अपने सभी बच्चो को बुलाती है। उदाहरण के लिए, भोज में निमंत्रित लोग ˸ धर्मी, पापी, धनी और गरीब आदि। (मती.22,1-15, लूक.14, 15-24) एक "चुनने वाली" कलीसिया, "शुद्ध रक्त", माता कलीसिया नहीं है बल्कि एक संप्रदाय है।   

जुलाई 2021 में संत पापा के शब्द

पिछले साल जुलाई में संत पापा फ्राँसिस ने "आऊटरिच 2021" वेबिनार के अवसर पर  फादर मार्टिन को एक पत्र भेजा था जिसमें उन्होंने कहा था कि "ईश्वर अपने सभी बच्चों के निकट हैं और उन्हें प्यार करते हैं। उनका हृदय सभी के लिए खुला है। वे पिता हैं।"

संत पापा ने लिखा था, "आपके प्रेरितिक कार्यों पर गौर करते हुए मैं देखता हूँ कि आप लगातार ईश्वर के तरीके का अनुसरण करने की कोशिश करते हैं। आप सभी के पुरोहित हैं, जैसा कि ईश्वर सबके पिता है। मैं आपके लिए प्रार्थना करता हूँ कि आप इसी तरह, नजदीक, दयालु और कोमल बने रहें।"

संत पापा ने अंत में लिखा, "मैं आपके विश्वासियों के लिए, आपके पल्लीवासियों के लिए प्रार्थना करता हूँ जिन्हें प्रभु ने आपके अगल-बगल रखा है ताकि आप उनकी देखभाल एवं रक्षा कर सकें और उन्हें हमारे प्रभु येसु ख्रीस्त के प्रेम में बढ़ा सकें।"  

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

10 May 2022, 14:54