खोज

रविवार को स्वर्ग की रानी प्रार्थना में भाग लेते हुए विश्वासीगण रविवार को स्वर्ग की रानी प्रार्थना में भाग लेते हुए विश्वासीगण  (Vatican Media)

संत पापा ने शांति के लिए रोज़री करने एवं दूसरों को सुनने का आग्रह किया

संत पापा फ्राँसिस ने रविवार विश्व संचार दिवस के अवसर पर ख्रीस्तियों से कहा कि वे एक दूसरे को अच्छी तरह से सुनने की कोशिश करें। संत पापा ने मंगलवार, 31 मई को शांति के लिए रोजरी माला प्रार्थना में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 30 मई 2022 (वाटिकन न्यूज) : जैसा कि मई का महीना माता मरियम का महीना  समाप्त हो रहा है और दुनिया के विभिन्न देशों में युद्ध की हो रहा है, संत पापा फ्राँसिस विश्वासियों को शांति के लिए प्रार्थना करने में उनके साथ शामिल होने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं।

प्रार्थना जागरण मंगलवार, 31 मई को होगा और इसका सीधा प्रसारण संत मरिया मेजर के बेसिलिका से किया जाएगा, जो रोम समयानुसार शाम 6 बजे शुरू होगा।

रविवार को स्वर्ग की रानी प्रार्थना का पाठ करने के बाद बोलते हुए, संत पापा ने दुनिया भर के तीर्थस्थलों से शांति की रानी से शांति के उपहार के लिए प्रार्थना करने की अपील की।

संत पापा ने कहा, "शांति की रानी की मध्यस्थता से मैं विश्वासियों, परिवारों और समुदायों को ईश्वर से शांति के उपहार प्राप्त करने के इस आह्वान में शामिल होने के लिए आमंत्रित करता हूं। यह वह उपहार है, जिसका दुनिया इंतजार कर रही है।"

दिल से सुनना

जैसा कि कलीसिया रविवार को विश्व संचार दिवस मनाती है, संत पापा फ्राँसिस ने सभी से एक दूसरे को अधिक ध्यान से सुनने का आग्रह किया।

जनवरी के अंत में ‘संचार दिवस 2022’ के लिए "दिल के कान से सुनना" विषय पर उन्होंने संदेश जारी किया है।

रविवार को संत पापा ने आशा व्यक्त की कि हम सभी अपने हृदय से सुनना सीखेंगे।

"यह जानना कि कैसे सुनना है, उदारता का पहला इशारा होने के अलावा, संवाद और अच्छे संचार का पहला अनिवार्य घटक भी है: यह जानना कि कैसे सुनना है, दूसरों को वह सब कुछ कहने दें, जो वे कहना चाहते हैं, कभी बाधा न डालें, कानों से और दिल से सुनना सीखें।"

धन्य लुइजी लेनज़िनी

संत पापा फ्राँसिस ने सप्ताहांत में इटली में होने वाले कुछ कार्यक्रमों का भी उल्लेख किया।

उन्होंने शनिवार को मोडेना में हुए शहीद फादर लुइजी लेनज़िनी के धन्य समारोह को याद किया। 1945 में संघर्ष  और नफरत के समय में ख्रीस्तीय मूल्यों को अपनाने के लिए फादर लुइजी लेनज़िनी की हत्या कर दी गई।

संत पापा ने कहा, "धन्य फादर लुइजी लेनज़िनी, मसीह के हृदय के सांचे में एक पुरोहित एवं सत्य और न्याय के दूत हैं, हमें स्वर्ग से उदारता और स्पष्टता के साथ सुसमाचार की गवाही देने में मदद करें।"

बीमारों की देखभाल

जैसा कि इटली राष्ट्रीय देखभाल दिवस मनाता है, संत पापा ने याद किया कि एक बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति हमेशा अपनी बीमारी से अधिक महत्वपूर्ण होता है।

उन्होंने विश्व बीमार दिवस 2022 के लिए अपने संदेश का हवाला देते हुए कहा, "यहां तक ​​कि जब उपचार संभव नहीं है, देखभाल हमेशा दी जा सकती है, सांत्वना देना हमेशा संभव है, लोगों को निकटता का एहसास कराना हमेशा संभव होता है।”

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

30 May 2022, 16:58