खोज

संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस  (AFP or licensors)

डीआरसी और दक्षिण सूडान में संत पापा फ्राँसिस की तीर्थ यात्रा

वाटिकन ने संत पापा फ्राँसिस की विदेश में 37वीं प्रेरितिक यात्रा का आधिकारिक कार्यक्रम जारी किया है। संत पापा 2 से 7 जुलाई तक कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य और दक्षिण सूडान की यात्रा करेंगे।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 30 मई 2022 (वाटिकन न्यूज) : दो राष्ट्र, तीन शहर, आठ संदेश, तीन प्रवचन, नागरिक और कलीसिया के अधिकारियों, युवाओं, विस्थापितों और हिंसा के शिकार लोगों के साथ बैठकें। संत पापा फ्राँसिस 2 से 7 जुलाई तक कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य और दक्षिण सूडान की यात्रा के दौरान कुछ क्षणों के आराम के साथ अनेक कार्यक्रमों में व्यस्त रहेंगे। वे वर्षों पहले व्यक्त की गई एक इच्छा को पूरा कर रहे हैं। "शांति की विश्वव्यापी तीर्थयात्रा" में कैंटरबरी के महाधर्माध्यक्ष जस्टिन वेल्बी, और चर्च ऑफ स्कॉटलैंड की महासभा के मॉडरेटर, इयान ग्रीनशील्ड्स भी साथ रहेंगे।

2 जुलाई को प्रस्थान

शनिवार को वाटिकन प्रेस कार्यालय द्वारा जारी आधिकारिक कार्यक्रम के अनुसार, संत पापा की 37वीं प्रेरितिक यात्रा शनिवार, 2 जुलाई को शुरू होने वाली है, वे सुबह 9:30 बजे रोम से प्रस्थान करेंगे।

साढ़े छह घंटे की उड़ान के बाद वे किंशासा के "नदजिली" अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुँचेंगे। वहाँ एक आधिकारिक स्वागत के बाद, वे स्वागत समारोह के लिए "पलाइस डे ला नेशन" जाएंगे, राष्ट्रपति फेलिक्स तशिसेकेदी के साथ ओपचारिक मुलाकात करेंगे। पैलेस गार्डन में राजनयिक कोर और अधिकारियोंके साथ एक बैठक होगी और वे उन्हें संबोधित करेंगे।

प्रेरितिक राजदूतावास में अपने येसु समाजी भाइयों के साथ मुलाकात के साथ संत पापा की तीर्थयात्रा का पहला दिन  समाप्त होगा।

यात्रा के दूसरे दिन, रविवार, 3 जुलाई, किंशासा के नडोलो हवाई अड्डे पर सुबह 8 बजे पवित्र मिस्सा समारोह का अनुष्ठान करेंगे और मिस्सा के तुरंत बाद देवदूत प्रार्थना का पाठ करेंगे। शाम को वे "नोट्रडेम डू कांगो" महागिरजाघर में धर्माध्यक्षों, पुरोहितों, धर्मबहनों और सेमिनरियों के साथ मुलाकात करेंगे।

उत्तर-किवु

4 जुलाई को, संत पापा विमान से देश के सुदूर पूर्व में एक प्रांत, उत्तर-किवु के गोमा शहर की यात्रा करेंगे, एक ऐसा क्षेत्र जहाँ सशस्त्र बलों और आतंकवादी समूहों के बीच संघर्ष में हजारों लोग मारे गए हैं और लाखों लोगों को विस्थापित होना पड़ा है।

 कार्यक्रम के अनुसार संत पापा सुबह 10:15 बजे गोमा पहुंचेंगे। दोपहर में वे किबुम्बा शरणार्थी शिविर में पवित्र मिस्सा समारोह का अनुष्ठान करेंगे।

 दोपहर को ही वे बेनी में हिंसा के शिकार लोगों से मिलेंगे। यह उत्तरी किवु का दूसरा सबसे बड़ा शहर है, जो इबोला महामारी और प्राकृतिक आपदाओं से त्रस्त है। नागरिकों और अन्य अत्याचारों, जैसे अपहरण और लूटपाट के साथ-साथ सेना और मिलिशिया द्वारा किए गए अतिरिक्त-न्यायिक निष्पादन के खिलाफ हिंसा के कई एपिसोड हैं।

संत पापा फ्राँसिस गोमा धर्मप्रांत के स्वागत केंद्र में पीड़ितों के साथ एक घंटे से अधिक समय बिताएंगे, फिर शाम 6.30 बजे वे किंशासा लौटने हेतु हवाई अड्डे के लिए रवाना होंगे।

संत पापा मंगलवार, 5 जुलाई को किंशासा के "शहीद स्टेडियम" में युवा लोगों और धर्मप्रचारकों से मिलेंगे, उसके बाद शहर के "नदजिली" हवाई अड्डे पर एक विदाई समारोह होगा। इसके बाद संत पापा दक्षिण सूडान की राजधानी जुबा के लिए उड़ान भरेंगे। संत पापा के साथ महाधर्माध्यक्ष जस्टिन वेल्बी और रेवरेंड ग्रीनशील्ड्स भी प्रस्थान करेंगे। वे  दोपहर करीब तीन बजे अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुँचेंगे।

दक्षिण सूडान

दक्षिण सूडान की राजधानी शहर में उनका पहला पड़ाव राष्ट्रपति भवन होगा वहाँ राष्ट्रपति सलवा कीर के साथ औपचारिक मुलाकात होगी। अप्रैल 2019 में संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन के संत मार्था में एक आध्यात्मिक प्रार्थना मनन चिंतन के लिए दक्षिण सूडान के धार्मिक और राजनीतिक अधिकारियों का स्वागत किया था। गृहयुद्ध से पीड़ित देश में शांति की स्थापना के उद्देश्य से देश के धार्मिक और राजनीतिक नेताओं को बुलाया गया था।

राष्ट्रपति से औपचारिक मुलाकात के बाद संत पापा राष्ट्रपति भवन के बगीचे में दक्षिण सूडान के उप राष्ट्रपति, नागर अधिकारियों और राजनयिकों के साथ मुलाकात कर उन्हें संबोधित करेंगे।

विस्थापितों के साथ बैठक

संत पापा बुधवार, 6 जुलाई, सुबह 8:45 बजे, जुबा में "आंतरिक रूप से विस्थापित शिविर" में विस्थापित लोगों से मुलाकात करेंगे।

उसके बाद,संत पापा प्रेरितिक राजदूतावास में दक्षिण सूडान के अपने येसु समाजी भाईयों के साथ निजी तौर पर मुलाकात करेंगे। दोपहर में वे संत तेरेसा महागिरजाघर में दक्षिण सूडान के धर्माध्यक्षों, पुरोहितों, धर्मबहनों और धर्मबंधुओं को संबोधित करेंगे।

शाम 6:30 बजे वे "जॉन गारंग" समाधि पर एकतावर्धक प्रार्थना सभा में भाग लेंगे, जो सूडान पीपुल्स लिबरेशन मूवमेंट/सेना के दिवंगत नेता और शांति समझौते के बाद सूडान के पहले उपाध्यक्ष को समर्पित एक स्मारक है।

मिस्सा और रोम के लिए प्रस्थान

वही समाधि, जो स्मरण, स्मरणोत्सव और राजनीतिक सभाओं का स्थान है,7 जुलाई की सुबह को, संत पापा फ्राँसिस की यात्रा का अंतिम मिस्सा समारोह के लिए चुना गया है।

वहाँ से संत पापा फ्राँसिस हवाई अड्डे के लिए यात्रा करेंगे। वहाँ विदाई समारोह के बाद सुबह 11:15 बजे रोम के लिए प्रस्थान करेंगे और उसी दिन शाम 6:05 बजे रोम के फ्यूमिचिनो हवाई अड्डे पहुँचेंगे।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

30 May 2022, 17:04