खोज

संत पापा ने रोम के पास जेल में प्रभु की अंतिम व्यारी समारोह मनाया

संत पापा फ्राँसिस ने पवित्र गुरुवार को रोम के उत्तर में बंदरगाह शहर चिवितावेकिया में एक नए जेल परिसर में प्रभु भोज की अध्यक्षता की, जहां उन्होंने 12 कैदियों के पैर धोए।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रोम, शुक्रवार 15 अपैल 2022 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने रोम के उत्तर में एक बंदरगाह शहर, चिवितावेकिया के नए जेल परिसर में कैदियों के साथ “चेना दोमिनी” या "अंतिम व्यारी" में पवित्र गुरुवार की पूजन धर्मविधि की अध्यक्षता की। वे शाम 4 बजे से ठीक पहले पहुंचे और जेल अधिकारियों ने उनका स्वागत किया जो उन्हें संस्थान के चैपल में ले गए जहां उन्होंने इटली के न्याय मंत्री सहित कुछ कैदियों, सुरक्षा कर्मियों, जेल कर्मचारियों और अधिकारियों के साथ पवित्र धर्मविधि सम्पन्न किया।

चिवितावेकिया जेल के चैपल में संत पापा फ्राँसिस
चिवितावेकिया जेल के चैपल में संत पापा फ्राँसिस

सेवा और नम्रता

वाटिकन के प्रेस कार्यालय के निदेशक, माटेओ ब्रूनी ने एक बयान में कहा कि संत पापा फ्राँसिस ने अपने प्रवचन में पैर धोने के अर्थ को समझाया जो इस धर्मविधि का हिस्सा है, जिसे "एक अजीब चीज" के रूप में देखा जाता है। इस दुनिया में, जब हम सुसमाचारों में पढ़ते हैं "येसु ने गद्दार के पैर धोए, जिसने उसे धोखा दिया।" संत पापा ने आगे कहा कि, "येसु हमें यह सिखाते हैं कि आपको एक दूसरे के पैर धोना चाहिए ... हम वापसी की उम्मीद किए बिना एक दूसरे की सेवा करते हैं: कितना सुंदर होता अगर यह हर दिन और सभी लोगों के लिए करना संभव होता।"

चिवितावेकिया जेल के चैपल में संत पापा फ्राँसिस
चिवितावेकिया जेल के चैपल में संत पापा फ्राँसिस

ईश्वर हमेशा माफ करते हैं!

संत पापा ने आगे कहा कि सेवा करने का मतलब है कि येसु उस व्यक्ति को "मित्र" कहा, जिसने उसे धोखा दिया था, अंत तक उसकी प्रतीक्षा की और सब कुछ क्षमा कर दिया: "ईश्वर सब कुछ माफ कर देते हैं और ईश्वर हमेशा क्षमा करते हैं! ये हम ही हैं जो ईश्वर क्षमा मांगते हुए थक जाते हैं।" पोप ने कहा, "हम में से प्रत्येक के पास  कुछ ऐसी बातें होगी जो लंबे समय से हमारे दिल में है और हम यीशु से क्षमा मांगते हैं। उन्होंने कहा कि "ईश्वर न्याय करते हैं, लेकिन उनका न्याय अजीब है। ईश्वर न्याय करते हैं और क्षमा करते हैं। अपने प्रवचन को अंत करते हुए संत पापा ने  लोगों से येसु के सेवा करने और क्षमा करने की शिक्षा को अपने जीवन में लेने के लिए प्रेरित किया।

कैदियों के पैर धोते हुए संत पापा फ्राँसिस
कैदियों के पैर धोते हुए संत पापा फ्राँसिस

12 कैदियों के पैर धोए

अपने प्रवचन के बाद, संत पापा फ्राँसिस ने अंतिम भोज में येसु द्वारा अपने चेलों के पैर धोने की पारंपरिक विधि को सम्पन्न किया। येसु ने सेवा और विनम्रता के महत्व को दर्शाते हुए अपने प्रेम के संकेत के रूप में अपने शिष्यों के पैर धोए। संत पापा ने विभिन्न उम्र और विभिन्न देशों के 12 पुरुष और महिला कैदियों के पैर धोए।

संत पापा फ्राँसिस कैदियों से मुलाकात करते हुए
संत पापा फ्राँसिस कैदियों से मुलाकात करते हुए

मिस्सा समारोह के अंत में, जेल निदेशक ने संत पापा को धन्यवाद दिया और उन्हें चिवितावेकिया के प्राचीन बंदरगाह का एक चित्र, साथ ही कैदियों द्वारा प्रबंधित वनस्पति उद्यान से उत्पादों और कर्मचारियों और कैदियों द्वारा किए गए कुछ कार्यों को उपहार में दिया।

संत पापा फ्राँसिस को मिला उपहार
संत पापा फ्राँसिस को मिला उपहार

चैपल से निकलने के बाद, संत पापा को एक कमरे में लाया गया, जहां उन्होंने जेल के कैदियों, अधिकारियों और कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले लगभग पचास लोगों का अभिवादन किया। उनके साथ कुछ समय बिताकर वे वाटिकन कासा सांता मार्था लौटे।

संत पापा फ्राँसिस को मिला उपहार
संत पापा फ्राँसिस को मिला उपहार

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

15 April 2022, 10:19