खोज

पेरु में प्रदर्शन पेरु में प्रदर्शन  (ANSA)

संत पापा ने शांतिपूर्ण समाधान हेतु पेरू के लिए की प्रार्थना

पवित्र खजूर रविवार के मिस्सा के बाद संत पापा ने सामाजिक तनावों से आहत लैटिन अमेरिकी देश में सभी पक्षों और संस्थानों के अधिकारों का सम्मान करते हुए जल्द से जल्द समाधान ढूंढने हेतु प्रोत्साहित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 11 अप्रैल 2022 (वाटिकन न्यूज) : पवित्र खजूर रविवार के मिस्सा के बाद संत पापा ने संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में उपस्थित सभी को प्रार्थनामय पवित्र सप्ताह की शुभकामनाएं दी। देवदूत प्रार्थना का पाठ करने से पहले  पेरू के लोगों को याद किया, जो एक कठिन सामाजिक स्थिति का सामना कर रहे हैं।

संत पापा ने कहा, "मैं पेरू के प्रिय लोगों के करीब हूँ, जो सामाजिक तनाव के कठिन दौर से गुजर रहे हैं। मैं अपनी प्रार्थनाओं में आपके साथ हूँ और सभी पक्षों को प्रोत्साहित करता हूँ कि वे सभी लोगों और संस्थानों के अधिकारों का सम्मान करते हुए देश की भलाई के लिए, विशेष रूप से सबसे गरीब लोगों के लिए जल्द से जल्द एक शांतिपूर्ण समाधान खोजें।"

जनता और सरकार के बीच तनाव

संत पापा ने कहा कि जब तक कि हम प्रभु के तरीके को छोड़, मनुष्य के तरीके से जीतने की कोशिश करते हैं, हमारा कोई भविष्य नहीं होगा। हमें याद है कि यह दक्षिण अमेरिकी देश का भी मामला है।  गंभीर आर्थिक और सामाजिक स्थिति पर लोगों और सरकार के बीच कोई समझौता नहीं हुआ है, जो श्रमिकों के वंचित समूहों को जोखिम में डालता है। यूरोप में युद्ध से उत्पन्न वैश्विक संकट... बढ़ती कीमतों के खिलाफ बाधाओं और हड़तालों ने सामाजिक जीवन को खतरे में डाल दिया है। राष्ट्रपति पेड्रो कैस्टिलो द्वारा लीमा और कैलाओ के महानगरीय क्षेत्र में पूर्ण कर्फ्यू का निर्णय बहुत विवादित रहा, जिसे धर्माध्यक्षों द्वारा भी "अनियमित" माना गया। हाल के दिनों में लोगों की कठोर प्रतिक्रिया ने राष्ट्रपति के इस्तीफे के अनुरोध के साथ संस्थागत कार्यालयों पर हमला किया और पुलिस के साथ संघर्ष में कम से कम 11 घायलों की गिरफ्तारी हुई। वही संसद कई बार राष्ट्रपति पद की "स्थायी अक्षमता" की बात कर चुकी है, लेकिन अब तक कोई परिणाम नहीं निकला है।

धर्माध्यक्षों का ध्यान गरीबों की ओर

पेरुवियन धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष मिगुएल कैब्रेजोस ने सरकार को संबोधित करते हुए, आबादी की रक्षा करने की आवश्यकता को याद करते हुए कहा कि विशेष रूप से सबसे गरीब लोगों की सुरक्षा की आवश्यक्ता है जिनके पास अनिश्चित नौकरियां हैं और उन्हें अपने परिवार को भोजन खिलाने के लिए हर समय काम की तलाश करनी पड़ती है।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

11 April 2022, 16:08