खोज

यूक्रेन में सैनिक एक दफन क्रिया में भाग लेते हुए यूक्रेन में सैनिक एक दफन क्रिया में भाग लेते हुए  (ANSA)

यूक्रेन ˸ संत पापा एवं जेलेंस्की ने पुनः फोन पर बातें कीं

संत पापा फ्राँसिस ने यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की से पुनः टेलेफोन पर बातें की जिसके बाद राष्ट्रपति ने इताली संसद को सम्बोधित किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

मंगलवार को इताली संसद को वीडियो कोल द्वारा सम्बोधित करते हुए यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने फोन पर संत पापा फ्राँसिस से हुई बातचीत की चर्चा की, जिसको उन्होंने बहुत महत्वपूर्ण शब्द कहा।

ये बातचीत ऐसे समय में हुई है जब युद्ध को संत पापा फ्राँसिस ने "अमानवीय" एवं "अपवित्र" कहा है।

जेलेंस्की ने वीडियो कोल में इताली संसद को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनका देश रूस के युद्ध से बचने के कगार पर है और उन्होंने क्रेमलिन पर अधिक प्रतिबंध लगाने की अपनी अपील दोहराई।

उन्होंने अपने सम्बोधन की शुरूआत संत पापा से फोन पर बात करने की चर्चा से की जिसको उन्होंने बहुत महत्वपूर्ण शब्द कहा। उन्होंने बतलाया कि पोप ने यूक्रेनी लोगों के प्रतिरोध के बारे में बात की "जो बुराई देखकर सेना बन गए।"  

जेलेंस्की ने अपने ट्वीटर पर भी संत पापा से बातचीत की जानकारी दी कि "पोप से बातें हुईं। मैंने संत पापा को कठिन मानवीय स्थिति एवं रूसी सैनिकों द्वारा राहत कोरिडोर बंद किये जाने के बारे बतलाया। मानव पीड़ा को समाप्त करने में परमधर्मपीठ की मध्यस्थता की भूमिका की सराहना की। यूक्रेन और शांति के लिए प्रार्थना हेतु धन्यवाद दिया।”   

परमधर्मपीठ के लिए यूक्रेनी राजदूत

यूक्रेन के लिए परमधर्मपीठ के राजदूत अंध्री यूराश ने भी ट्वीट कर यूक्रेन के राष्ट्रपति को पोप की प्रार्थना का आश्वासन दिया है कि वे यूक्रेन के लिए प्रार्थना कर रहे हैं और युद्ध को समाप्त करने का हरसंभव प्रयास कर रहे हैं।  

राजदूत के अनुसार, जेलेंस्की ने संत पापा को बतलाया कि यूक्रेन एत अतिथि के रूप में बेसब्री से उनका इंतजार कर रहा है।

कीएव में संत पापा फ्राँसिस का निमंत्रण पहले ही कीएव के मेयर भितालिज क्लेको द्वारा व्यक्त किया जा चुका है। इस पत्र का उत्तर देते हुए संत पापा ने शहर के पीड़ित लोगों के प्रति अपना सामीप्य व्यक्त किया था जिन्हें भागना पड़ रहा है।  

26 फरवरी का फोन

जेलेस्की से फोन पर आज की बातचीत पहली बार नहीं है। इससे पहले, 26 फरवरी को रूसी आक्रमण शुरू होने के दो दिनों बाद, संत पापा ने फोन पर, राष्ट्रपति को देश में हो रही त्रासदी के लिए गहरा दुःख व्यक्त किया था।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

22 March 2022, 16:51