खोज

यूक्रेन के कीव शहर का एक घर युद्ध से ध्वस्त यूक्रेन के कीव शहर का एक घर युद्ध से ध्वस्त  (ANSA)

यूक्रेन पर पोप : 'ईश्वर के नाम पर इस नरसंहार को रोका जाए'

रविवार को यूक्रेन के युद्ध पीड़ितों की याद करते हुए संत पापा फ्राँसिस ने युद्ध ग्रस्त देश में युद्धविराम की जोरदार अपील दुहरायी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

देवदूत प्रार्थना के उपरांत उन्होंने यूक्रेन की स्थिति पर पुनः चिंता व्यक्त करते हुए कहा, "हमने अभी-अभी कुँवारी मरियम से प्रार्थना की है। इस सप्ताह वह शहर जिसका नाम मारियुपोल है युद्ध से शोकाकुल एक शहीदी शहर बन गया है जो यूक्रेन को ध्वस्त कर रहा है। बच्चों, महिलाओं, निर्दोष लोगों एवं असुरक्षित नागरिकों की हत्या की क्रूरता के सामने कोई रणनीति नहीं होती, जिसमें सच्चाई हो। अस्वीकार्य सशस्त्र आक्रमण को रोकना होगा, इससे पहले कि वह शहरों को कब्रिस्तानों में बदल दे।"

संत पापा ने कहा, "मेरे दिल में दर्द के साथ, मैं अपनी आवाज आम लोगों के साथ एक करता हूँ जो युद्ध के अंत की मांग कर रहे हैं। ईश्वर के नाम पर उन लोगों की आवाज सुनी जाए जो पीड़ा सह रहे हैं और बम एवं आक्रमण को रोका जाए। समझौता एवं मानवीय गलियारों पर वास्तविक और निर्णायक ध्यान केंद्रित किया जाए कि वे सुरक्षित रह सकें। ईश्वर के नाम पर इस संहार को बंद किया जाए।"

संत पापा ने शरणार्थियों के स्वागत की अपील करते हुए कहा, "मैं पुनः शरणार्थियों को स्वीकार किये जाने की अपील दुहराता हूँ जिनके साथ ख्रीस्त उपस्थिति हैं और एकात्मता के महान नेटवर्क के लिए धन्यवाद देता हूँ। मैं सभी धर्मप्रांतों एवं धर्मसमाजी समुदायों से अपील करता हूँ कि वे शांति के लिए प्रार्थना का समय बढ़ायें। शांति हेतु प्रार्थना का समय बढ़ाया जाए। ईश्वर सिर्फ शांति के ईश्वर हैं, युद्ध के नहीं। जो लोग युद्ध का समर्थन करते हैं उनके नाम को अपवित्र करते हैं। उसके बाद उन्होंने मौन प्रार्थना का आह्वान किया उन लोगों के लिए जो पीड़ित हैं और याचना की कि ईश्वर हृदयों को शांति की दृढ़ चाह के साथ बदल दे।"   

तत्पश्चात् संत पापा ने रोम एवं विभिन्न देशों से आये तीर्थयात्रियों का अभिवादन किया।

अंत में, उन्होंने अपने लिए प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगलकामनाएँ अर्पित की।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

13 March 2022, 15:34