खोज

मेट्रो स्टेशन में शरण लिये हुए यूक्रेनवासी मेट्रो स्टेशन में शरण लिये हुए यूक्रेनवासी  (AFP or licensors)

संत पापा ने बंकर में रहने के लिए मजबूर बुजूर्गों के करीब रहने की अपील की

आज राखबुध के साथ चालीसा काल की शुरूआत हो रही है। जो ख्रीस्तीयों के लिए प्रार्थना, उपवास एवं दान देने एवं मन-फिराव करने का समय है। संत पापा ने विश्वासियों को पुनः याद दिलाया कि वे यूक्रेन में शांति हेतु प्रार्थना और उपवास करें तथा बुजूर्गों को न छोड़ें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार, 2 मार्च 2022 (रेई) ˸ आज राखबुध के साथ चालीसा काल की शुरूआत हो रही है। जो ख्रीस्तीयों के लिए प्रार्थना, उपवास एवं दान देने एवं मन-फिराव करने का समय है। संत पापा ने विश्वासियों को पुनः याद दिलाया कि वे यूक्रेन में शांति हेतु प्रार्थना और उपवास करें तथा बुजूर्गों को न छोड़ें।

संत पापा फ्राँसिस ने 2 मार्च के ट्वीट संदेश में लिखा, "आज हम चालीसा की अवधि में प्रवेश कर रहे हैं। हमारी प्रार्थना और उपवास यूक्रेन की शांति के लिए एक याचना हो। हम इस बात को याद रखें कि दुनिया में शांति की शुरूआत ख्रीस्त का अनुसरण करते हुए हमेशा व्यक्तिगत मन-फिराव से शुरू होता है।"   

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट संदेश में लिखा, "2 मार्च, राखबुध, यूक्रेन में शांति के लिए प्रार्थना एवं उपवास करने का दिन है। आइये हम एक साथ प्रार्थना करें।"

रूसी सैनिकों द्वारा यूक्रेन में हमले का आज 7वाँ दिन है। इस बीच रूसी सैनिकों ने यूक्रेन के कई बड़े शहरों पर हमले किये हैं। आज रूस और यूक्रेन के बीच समझौता हेतु दूसरी बैठक होनेवाली है। पहली बैठक सोमवार को हुई थी जिसका कोई खास परिणाम नहीं निकला था। 1 मार्च को टेलीविजन टावर पर हमला किया गया जिससे प्रसारण कुछ घंटों के लिए बाधित रहा। रूसी हवाई सैनिक खारकिव पहुँच चुके हैं। हाल ही में जारी सैटेलाइट तस्वीरों में रूसी सेना का एक विशाल काफ़िला राजधानी कीएव की ओर आगे बढ़ता नजर आ रहा है। स्टेट ऑफ यूनियन को सम्बोधित अपने पहले भाषण में अमरीकी राष्ट्रपति जो बाईडन ने कहा है कि "पुतिन एक तानाशाह है जिसे चुकाना पड़ेगा।" संयुक्त राष्ट्र के अनुसार हमले में अब तक यूक्रेन के 136 नागरिकों की मौत हुई है जिनमें 13 बच्चे हैं। यूरोपीय संघ ने एक नया प्रतिबंध जारी किया है यूरोपीय संघ में जिसके अनुसार चैनल आर टी (रूस आज) और स्पुतनिक को बंद कर दिया गया है।

तीसरा ट्वीट

संत पापा ने उन बुजूर्गों के निकट रहने की अपील की है जो युद्ध में बम से बचने के लिए भूमिगत बंकरों में रहने के लिए मजबूर हैं, संत पापा ने लिखा, "जीवन के दो दूरतम पीढ़ियों–बच्चों एवं बुजूर्गों के बीच संबंध – दो अन्य लोगों – युवा एवं वयस्कों के बीच संबंध को मजबूत करने में मदद देता है कि वे एक-दूसरे से जुड़े रहें, जो हरेक को इंसानियत में अधिक समृद्ध बनाता है।"

 

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

02 March 2022, 15:34