खोज

मिलान में ख्रीस्तयाग के दौरान ज्योतिषियों के पोशाक में तीन व्यक्ति मिलान में ख्रीस्तयाग के दौरान ज्योतिषियों के पोशाक में तीन व्यक्ति  (ANSA)

ज्योतिषि हमें क्या सिखलाते हैं

प्रभु प्रकाश महापर्व एवं विश्व मिशन दिवस के लिए संदेश प्रकाशित करने के अवसर पर संत पापा ने कई ट्वीट संदेश प्रकाशित कर ज्योतिषियों से सीख लेने की प्रेरणा दी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 6 जनवरी 2022 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने 6 जनवरी को प्रभु प्रकाश महापर्व के दिन विश्व मिशन दिवस के लिए अपने संदेश को प्रकाशित किया।

इस अवसर पर अपने ट्वीट संदेश में उन्होंने मिशनरी बनने की याद दिलाते हुए कहा, "क्या हम सभी कलीसिया में वैसे ही हैं जैसे कि हम बपतिस्मा द्वारा : पवित्र आत्मा की शक्ति से पृथ्वी के सीमांतों तक प्रभु के नबी, साक्षी, मिशनरी बनने के लिए बुलाये गये हैं!"

दूसरा ट्वीट

अपने दूसरे संदेश में संत पापा ने प्रभु प्रकाश पर्व की याद करते हुए लिखा, "तारे को देखते हुए ज्योतिषी आगे बढ़े। वे हमें सिखलाते हैं कि हम जीवन की तरह विश्वास में हरेक दिन नई शुरूआत करें, क्योंकि विश्वास हमें घेरनेवाला अस्त्र-शस्त्र नहीं है; लेकिन एक आकर्षक यात्रा है जो ईश्वर की खोज में लगातार और बेचैनी पूर्वक आगे बढ़ती है।"

तीसरा ट्वीट

"येरूसालेम में ज्योतिषियों ने पूछा कि नवजात शिशु का जन्म कहाँ हुआ है। वे हमें सिखलाते हैं कि हमें प्रश्न पूछना है, हमारे हृदय, हमारे अंतःकरण के सवाल को सावधानीपूर्वक सुनना है, क्योंकि यही वह स्थान है जहाँ ईश्वर हमसे बोलते हैं। वे हमें उत्तर से अधिक सवाल से सम्बोधित करते हैं।"  

चौथा ट्वीट

"ज्योतिषियों ने हेरोद की उपेक्षा की। वे हमें सिखलाते हैं कि हमें एक साहसी विश्वास की जरूरत है जो सत्ता के भयावाह तर्क को चुनौती देने से नहीं डरता और समाज में न्याय एवं भाईचारा के बीज बनता है जहाँ कई हेरोद आज भी, गरीबों एवं निर्दोषों की हत्या कर रहे हैं।"

पाँचवाँ ट्वीट

"जब वे अपने गंतव्य पर पहुँचे, ज्योतिषियों ने घुटनी टेकी और बालक को दण्डवत किया। विश्वास की यात्रा तभी नवीकृत शक्ति प्राप्त करती है जब यह ईश्वर की उपस्थिति में तय की जाती है। आइये हम यूखरिस्त की आराधना के लिए समय देना नहीं भूलें और येसु के द्वारा अपने आपको परिवर्तित होने दें।"

छटवाँ ट्वीट

"ज्योतिषि "दूसरे रास्ते से होकर" लौट गये। (मती.2,12) वे हमें नये रास्ते पर चलने की चुनौती देते हैं। यह पवित्र आत्मा की रचनात्मकता है जो हमेशा नई चीजों की रचना करते हैं।"

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

06 January 2022, 14:36