खोज

Vatican News
कारितास लातीनी अमरीका कारितास लातीनी अमरीका 

परोपकार ही हमारा मिशन ˸ लातीनी अमरीका एवं करेबियन में कारितास

कारितास इंटरनैशनल ने "स्थायी अवसरों और सामुदायिक लचीलेपन के निर्माण के माध्यम से सामाजिक न्याय को बढ़ावा देना" विषय पर अपने पाँचवें वेबिनार का आयोजन किया। लातीनी अमरीका एवं कारेबियन पर ध्यान केंद्रित करते हुए वेबिनार में विभिन्न कारितास संगठन के सदस्यों ने भाग लिया एवं अपने कार्यों की वास्तविकता को प्रस्तुत किया।

उषा मनोरमा तिरकी- वाटिकन सिटी

लातीनी अमरीका, बृहस्पतिवार, 24 नवम्बर 2021 (वीएनएस)- कारितास इंटरनैशनल ने 1951 में अपनी स्थापना की 70वीं वर्षगाँठ के उपलक्ष्य में 12 दिसम्बर तक ऑनलाईन सम्मेलनों की एक श्रृंखला का आयोजन किया है। पहले चार वेबिनार में उत्तरी अमरीका, यूरोप, ओशेनिया और अफ्रीका में कारितास कार्यों पर प्रकाश डाला गया है।

24 नवम्बर के वेबिनार को लातीनी अमरीका एवं करेबियन को समर्पित किया गया। वेबिनार के दौरान वक्ताओं ने क्षेत्र में प्राकृतिक आपदा के दौरान कारितास के प्रयास एवं गरीबी से संघर्ष और आमघर की देखभाल के प्रति प्रतिबद्धता पर प्रकाश डाला। सभा में लातीनी अमरीका के शहीदों के इतिहास की भी याद की गई।  

पहली कलीसियाई सभा

कारितास इंटरनैशनल के संचार के निदेशक मार्ता पेत्रोसिलो ने सबसे पहले अपना वक्तव्य पेश किया। उन्होंने सभा में भाग ले रहे सभी सदस्यों का अभिवादन किया। उनके अभिवादन के बाद परिसंघ के महासचिव एलॉयसियस जॉन ने अभिवादन किया, जिन्होंने वेनेजुएला के लोगों के साथ अपनी निकटता व्यक्त करके वेबिनार की शुरूआत की। उन्होंने मेक्सिको सिटी में लातीनी अमरीका एवं कारेबियन पर रविवार को पहली कलीसियाई सभा के उद्घाटन की याद की। सभा की शुरूआत ग्वादालुपे की माता मरियम के महागिरजाघर में पावन ख्रीस्तयाग से हुई थी। वेबिनार में प्रतिभागियों ने अमाजोन क्षेत्र पर सिनॉड की ओर इशारा किया जो 2019 में वाटिकन में सम्पन्न हुआ था। उन्होंने कहा कि इसने नये रास्तों को खोला एवं नये फल लाये।    

बेनेजुएला

लातीनी अमरीका एवं कारेबियन कारितास के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष जोश लुइस अजुवाजे अयाला ने प्रांत के कई राज्यों में गहरी असमानता एवं मानव अधिकार के गंभीर उलंघन पर प्रकाश डाला। बेनेजुएला का मराकाईबो महाधर्मप्रांत जहाँ के वे महाधर्माध्यक्ष हैं यह क्षेत्र सबसे अधिक संकटग्रस्त है। लाखों लोग गरीबी में जी रहे हैं। भूख के कारण वेनेजुएला के 63 प्रतिशत लोगों ने अपना घर छोड़कर कोलम्बिया और ब्राजील पलायन किया है। वेनेजुएला के 5 मिलियन से अधिक आप्रवासी बिना दस्तावेज के रह रहे हैं।

महाधर्माध्यक्ष जोश ने कहा, "व्यक्ति राजनीतिक समझौतों के साथ समय बर्बाद नहीं कर सकता, केवल वेनेजुएला के लिए ही नहीं, "अल्पावधि में, तत्काल समाधान के साथ" हस्तक्षेप करना जरूरी है।" उन्होंने अपने वक्तव्य के अंत में चेतावनी दी कि लातीनी अमरीका की सामान्य स्थिति कठिन है और गरीबी के महासंकट का सामना करने के लिए तत्काल समाधान की जरूरत है। "फंड को सर्वोत्तम संभव तरीके से बांटा जाना चाहिए और सबसे बढ़कर जैसा कि पोप जोर देते हैं, एकात्मता को बढ़ावा दिया जाना चाहिए।"

एकात्मता समृद्ध बनाती है    

कारितास उरूग्वे एवं प्रशिक्षण और आध्यात्मिकता की ओर से बोलते हुए रोसा रामोस ने कहा, "एकात्मता हमें समृद्ध बनाती है।" संत पापा फ्राँसिस के प्रेरितिक विश्वपत्र "फ्रातेल्ली तूती" पर चिंतन करते हुए उन्होंने कहा कि "हम व्यक्तिगत एवं सामाजिक मन-परिवर्तन के लिए बुलाये गये हैं। हमें दूसरों की और हमारे पड़ोसियों की जरूरत है। हमें स्त्रियों एवं पुरूषों की दुर्बलता पर चिंतन करना है।" रोसा रामोस ने 27 मार्च 2020 की असाधारण प्रार्थना की प्रेरिताई पर चिंतन किया जिसमें पोप ने जोर दिया था कि हम सभी एक ही नाव पर हैं और इस नाव में हम सभी की एक ही परिस्थिति है। इसलिए हमें प्रामाणिक रूप से एकजुटता में जीने सीखना चाहिए: हम सभी नाजुक हैं लेकिन साथ में हम एक ऐसा नेटवर्क बना सकते हैं जो समाज को मानवीय बनाता है।   

25 November 2021, 15:02