खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस ने रेडियो कोप को एक साक्षात्कार दिया है। संत पापा फ्राँसिस ने रेडियो कोप को एक साक्षात्कार दिया है।  

ऑप्रेशन के बाद पोप ˸ इस्तीफा देने का विचार कभी मन में नहीं आया

संत पापा फ्राँसिस ने रेडियो कोप को एक साक्षात्कार दिया है। कार्लोस हेर्रेरा को दिए साक्षात्कार में उन्होंने पहली बार जुलाई में हुई अपने ऑप्रेशन का जिक्र किया। उन्होंने अफगानिस्तान, चीन, इच्छामृत्यु और परमाध्यक्षीय रोमी कार्यालय में सुधार आदि विषयों पर भी प्रकाश डाला।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार, 1 सितम्बर 2021 (रेई)- संत पापा फ्राँसिस ने रेडियो कोप को दिए एक साक्षात्कार में अपने ऑप्रेशन, अफगानिस्तान, चीन, इच्छामृत्यु और परमाध्यक्षीय रोमी कार्यालय में सुधार आदि विषयों पर प्रकाश डाला। पिछले सप्ताहांत में पोप फ्रांसिस ने स्पेनिश धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के प्रसारक रेडियो कोप को डेढ़ घंटे का एक साक्षात्कार दिया, यह डायवर्टीकुलर स्टेनोसिस के ऑपरेशन के बाद पहला साक्षात्कार है। 4 जुलाई को संत पापा फ्राँसिस के पेट का ऑप्रेशन रोम के जमेली अस्पताल में हुआ था।

जेमेली अस्पताल में सर्जरी के बाद स्वास्थ्य

वाटिकन के संत मर्था में कार्लोस हेर्रेरा के साथ एक साक्षात्कार में संत पापा ने ऑप्रेशन के बाद की स्थित के बारे बतलाया। पूछे जाने पर कि आप कैसे हैं संत पापा ने मुस्कुरा कर जवाब दिया, "मैं अभी भी जिन्दा हूँ।" उन्होंने कहा कि "उनके जीवन को बचाना" वाटिकन में स्वास्थ्य सेवा में 30 साल के अनुभव के साथ एक नर्स का है जिन्होंने एंटीबायोटिक दवाओं के साथ चिकित्सा कराने के विपरीत राय के बावजूद ऑप्रेशन कराने पर जोर दिया। ऑप्रेशन के बाद संत पापा ने प्रकट किया कि उनके पेट में आंत का 33 सेंटीमीटर हिस्सा कम हो गया है किन्तु इसने उन्हें "पूरी तरह सामान्य जीवन" जीने से नहीं रोका। "मैं सब कुछ खा सकता हूँ और अपने व्यस्त कार्यक्रमों को जारी रख सकता हूँ जिसमें स्लोवाकिया एवं हंगरी में 12-15 सितम्बर के बीच प्रेरितिक यात्रा भी शामिल है।     

इस्तिफा? मैंने इसके बारे कभी नहीं सोचा

अपने स्वस्थ के बारे आगे बतलाते हुए संत पापा ने मीडिया द्वारा पोप के पद से उनके संभावित इस्तीफे के अटकलों से स्पष्ट रूप से इंकार किया। उन्होंने कहा, "मैंने ऐसा विचार कभी अपने मन में नहीं लाया...मैं नहीं जानता हूँ कि ऐसा विचार उन्होंने कहाँ से पाया कि मैं इस्तीफा दे सकता हूँ।" उन्होंने विडम्बना के साथ कहा कि इस समाचार के बारे वे बहुत बाद में जाने क्योंकि वे समाचार पत्र नहीं पढ़ते और न ही टेलीविजन देखते हैं। मैं बहुत बाद में जाना कि मेरी इस्तिफा होने वाली थी। जब-जब पोप बीमार पड़ते हैं तब-तब कॉनक्लेव की हवा अथवा तूफान बहने लगती है।"

अफगानिस्तान का संकट   

संत पापा ने साक्षात्कार में अफगानिस्तान के संकट के बारे में कई बातें कही हैं। उन्होंने इसे "एक कठिन परिस्थिति" कहा। कूटनैतिक स्तर पर अफगानिस्तान के लोगों के बीच हिंसा को कम करने के लिए परमधर्मपीठ के प्रयास पर उन्होंने ज्यादा कुछ नहीं कहा बल्कि वाटिकन राज्य सचिवालय के कार्य की सराहना की। उन्होंने कहा, "मैं निश्चिंत हूँ कि यह मदद कर रहा है अथवा कम से कम कुछ सहायता पहुँचा रहा है।" उन्होंने वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल परोलिन के बारे कहा कि वे एक उत्तम राजनयिक हैं। उसके बाद संत पापा ने मोस्को में जर्मन चंसलर अंजेला मार्केल के 20 अगस्त के  भाषण का हवाला देते हुए कहा कि "लोगों की परंपराओं की अनदेखी करते हुए, बाहर से हस्तक्षेप करने और दूसरे देशों में लोकतंत्र के निर्माण की गैर-जिम्मेदारपूर्ण नीति को समाप्त करना आवश्यक है।" संक्षिप्त और निर्णायक। मुझे लगता है कि यह बहुत कुछ कहता है; और हर कोई अपनी इच्छानुसार इसकी व्याख्या कर सकता है। लेकिन वहाँ मुझे इस महिला को यह कहते हुए सुनकर एक समझदारी का अनुभव हुआ। उन्होंने बीस साल के कब्जे के बाद अफगानिस्तान से अमेरिका की वापसी को "वैध" कहा, भले ही, उन्होंने कहा कि, "जहां तक ​​मैं देख सकता हूँ, सभी घटनाओं को ध्यान में नहीं रखा गया है ... मुझे नहीं पता कि समाधान हो पायेगा अथवा नहीं, लेकिन निश्चित रूप से नए अधिकारियों की ओर से बहुत अधिक धोखा हुआ है। मैं इसे छल कहूँ या बहुत अधिक भोलापन, मुझे समझ नहीं आता।”

चीन के साथ वार्ता ˸ यही आगे का रास्ता है

अफगानिस्तान के बाद संत पापा ने चीन पर अपना विचार पुष्ट करते हुए कहा, "चीन आसान नहीं है किन्तु मैं यकीन करता हूँ कि हमें संवाद नहीं छोड़ना चाहिए। गलतियाँ हो सकती हैं किन्तु आगे जाने का रास्ता यही है। चीन में अब तक जो हासिल हुआ है वह कम से कम बातचीत का रहा है... कुछ ठोस बातें जैसे नए धर्माध्यक्षों की नियुक्ति, धीरे-धीरे...।" पोप के लिए, प्रेरणा कार्डिनल एगोस्टिनो कासारोली हैं, जिन्होंने जॉन 23वें के परमाध्यक्षीय काल में "मध्य यूरोप और कम्युनिस्ट देशों के साथ सेतु का निर्माण"  किया था।" "आज किसी न किसी रूप में हमें सबसे संघर्षपूर्ण परिस्थितियों में संवाद के उन रास्तों पर कदम से कदम मिलाकर चलना चाहिए।" इस्लाम के साथ अनुभव कई मायनों में बहुत सकारात्मक रहा है।

परमधर्मपीठ की चुनौतियाँ

संत पापा ने अपने परमाध्यक्षीय काल पर गौर करते हुए कहा कि 8 सालों के इस अवधि के कोने का पत्थर है वार्ता। इसकी शुरूआत बिलकुल अप्रत्याशित रूप से 13 मार्च 2013 को हुई है। (मैं यहाँ एक ब्रीफ़केस के साथ आया।) परमाध्यक्षीय रोमी कार्यालय के सुधार, वाटिकन अर्थव्यवस्था में पारदर्शिता और कलीसिया में यौन दुराचार को दूर करना ये तीन मुख्य मामले हैं जिनपर संत पापा फ्राँसिस गहराई से काम कर रहे हैं।

सुधार प्रक्रिया में संत पापा ने प्रकट किया कि इस ग्रीष्म में वे नये प्रेरितिक पत्र "प्राएदिकाते एवंजेलियुम" पर हस्ताक्षर करनेवाले थे किन्तु उनकी बीमारी के कारण प्रकाशन में देरी हुई।  

संत पापा ने बतलाया कि वाटिकन अर्थव्यवस्था में भ्रष्टाचार से संघर्ष जारी है। संदर्भ राज्य सचिवालय से धन के साथ किए गए अपराधों के लिए वाटिकन में 27 जुलाई को शुरू हुए मैक्सी ट्रायल का भी है, जिनमें दस अभियुक्तों में राज्य के सचिवालय के पूर्व प्रतिनिधि, कार्डिनल अंजेलो बेचू भी हैं। फ्रांसिस ने दोहराया कि वे "पारदर्शिता या सच्चाई से डरते नहीं हैं"। जहां तक बेचू का सवाल है, उन्होंने उनके कार्डिनल पद के अधिकारों को रद्द कर दिया है, वे बताते हैं: “मैं पूरे दिल से चाहता हूँ कि वे निर्दोष हों। वे मेरे सहयोगी थे और उन्होंने मेरी बहुत मदद की है। वे एक ऐसा व्यक्ति हैं जिसके लिए मेरे मन में कुछ सम्मान है ... मैं चाहता हूँ कि वे अच्छी तरह से बाहर आएँ। अब यह अदालतों को तय करना है।"

संचार विभाग को सिफारिशें

कोप के साथ साक्षात्कार में संत पापा ने 24 मई को वाटिकन संचार विभाग के दौरे की भी याद की। उन्होंने कहा, "मैंने दो चीजें कहीं। पहला, सवाल ˸ कितने लोग लोस्सेरवातोरे रोमानो पढ़ते हैं? मैंने नहीं कहा कि क्या बहुत लोग पढ़ते हैं या कम लोग पढ़ते हैं। एक सवाल, जिसको मैं सोचता हूँ पूछा जाना चाहिए, ठीक है? और दूसरा प्रश्न, (मैंने पूछा) जब, संघ के सभी नए कार्य, नए संगठन चार्ट, क्रियात्मकता को देखने के बाद, मैंने संगठन चार्ट के रोग के बारे में बात की, जो वास्तविक मूल्य से अधिक कार्यात्मक वास्तविकता देता है।" संत पापा ने कहा, "ऐसा लगता है कि मैंने जो कहा उसे कुछ लोग इन दो चीजों को नहीं समझ पाये या कुछ लोग इसे नहीं पसंद किये या मैं नहीं जानता और उन्होंने इसे एक तिरस्कार के रूप में व्याख्यायित किया।

संत पापा ने विभाग को "बहुत आशाजनक" बतलाया और कहा कि वर्तमान में एक आम आदमी के नेतृत्व में संचालित बड़ा कूरिया बजट "नए सुधारों के साथ आगे बढ़ रहा है"।

परिवार, फूटबॉल और घर की याद

साक्षात्कार के अंत में, संत पापा ने अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर प्रकाश डाला, उदाहरण के लिए कैटेलोनिया की स्वतंत्रता और प्रवासन नीतियां एवं अधिक व्यक्तिगत मुद्दे जैसे कि परिवार के साथ संबंध, संत लोरेंत्सो के लिए जयकार, बोयनोस आएरिस की याद जब वे एक पल्ली से दूसरी पल्ली में चलते थे, या अर्जेंटीना की शरद ऋतु में अस्तेर पियाज़ोला का संगीत सुनते हुए अर्जेंटीना की शरद ऋतु। संत पापा ने कहा कि "मैं सड़क पर चलना चाहता हूँ, लेकिन मुझे खुद को रोकना होगा, क्योंकि मैं दस मीटर नहीं चल सकता"।

01 September 2021, 17:46